नमस्कार मित्रो आज हम आपको TRP Full Form in Hindi के बारे में बता रहे है व अक्सर हम सब लोग टीआरपी के बारे में समाचार और टीवी चैनल पर कई बार देखते व सुनते है पर बहुत से लोगो को इसके बारे जानकारी नहीं होती की यह क्या होता है व इसके फायदे क्या होते है तो इसके बारे में आज हम आपको पूरी जानकारी देने वाले है.

TRP Full Form in Hindi

टीआरपी एक ऐसा शब्द है जिसके बारे में बहुत से लोगो को पता नहीं होता पर सभी को इस शब्द के बारे में पता होना बहुत ही जरुरी है व टीआरपी से जुडी जानकारी आपके लिए कई तरह से उपयोगी हो सकती है अगर आपको TRP Full Form in Hindi के बारे में जानकारी नहीं है तो आप हमारा पूरा आर्टिकल ध्यान से पढ़े ताकि हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको समझ में आ सके.

TRP Full Form in Hindi

टीआरपी क्या होता है इसके फायदे क्या है इन सब के बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पुरे नाम के बारे में बता देते है.

TRP Full Form – Television Rating Point

हिंदी में इसे टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट कहते है व यह किसी भी टीवी चैनल या टीवी शो की पॉपुलरटी या लोकप्रियता के बारे में दर्शाता है व इसके माध्यम से पता किया जा सकता है की  कौनसा टीवी शो सबसे ज्यादा देखा जा रहा है.

TRP क्या है

TRP के उपयोग से यह पता किया जा सकता है की किस टीवी शो को लोग सबसे ज्यादा देखते है व लोग उस शो को कितनी देर तक देखते है इसके बारे में पता किया जाता है इससे  किस भी टीवी शो या प्रोग्राम की लोकप्रियता के बारे में पता चल जाता है और यह उच्च टीआरपी के साथ में एक कार्यक्रम भी प्रचारित है जो की काफी अधिक लोगो के द्वारा देखा जाता है.

कई बार अपने टीवी शो देखते वक्त कई तरह के ads अथवा विज्ञापन देखे होंगे तो उन सब की अलग अलग प्राइज होती है और इनकी प्राइज टीआरपी के हिसाब से ही निर्धारित होती है यानी की जिसकी टीआरपी ज्यादा है उनकी ads ज्यादा महँगी होती है और जिनकी टीआरपी कम है उनकी ads भी सस्ती होती है और यह टीवी चैनल के कमाई का एक मुख्य श्रोत होता है.

किसी भी टीवी चैनल और सीरियल या प्रोग्राम आदि की टीआरपी देखने के लिए कई जगह पर people’s meter लगाए  जाते है व इसके माध्यम से पता चलता है की लोग किस सीरियल को कितने देर तक देखते है और इसके साथ ही लोगो को कितनी बार कौनसे विज्ञापन दिखाए गए है इसके बारे में भी जानकारी एकत्रित की जाती है.

people’s meter के अंतर्गत हर एक सैकेंड का डाटा रिकॉर्ड होता है और इसके बाद उसे मॉनिटरिंग टीम Indian Television Audience Measurement को भेजा जाता है जो की सारा रिकॉर्ड रखते है और यह टीम people’s meter के द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार ही यह पता करते है की किस सीरियल और प्रोग्राम को कितनी टीआरपी प्राप्त हो रही है.

TRP के फायदे क्या है

TRP का मुख्य फायदा यही है की इससे यह आसानी से पता चल जाता है की लोग किस सीरियल को कितनी देर तक देखते है और सबसे ज्यादा किस सीरियल को देखते है व इसके साथ ही लोगो को कौन कौनसी ads कितनी देर तक दिखाई जाती है इसके बारे में पता चल जाता है व इसका फायदा यह होता है की इससे companyआदि को यह पता चल जाता है की लोग किस सीरियल को ज्यादा देखा रहे है व इसके हिंसाब से वो अपने ads को  टीवी पर दिखा सकते है.

जिन कंपनी का बजट अधिक हो वो कंपनी ज्यादा TRP वाले सीरियल में ads दिखते है वही जिन कंपनी का बजट कम होता है वो उसके हिसाब से कम TRP वाले सीरियल में ads दिखाते है व ज्यादा TRP वाले चैनल पर ads देने से उनके ads लाखो लोगो तक आसानी से पहुंच जाते है.

TRP से कमाई कैसे होती है

हर किसी टीवी चैनल की 90% की कमाई TRP के द्वारा होती है व टीवी चैनल अपनी TRP के अनुसार ही Advertisement के पैसे लेते है जिन टीवी चैनल के शो या सीरियल को लोग ज्यादा देखते है उसमे Advertisement करने के वो टीवी चैनल बहुत ही अधिक रकम लेते है वही जिन टीवी चैनल के शो या सीरियल को लोग कम देखते है उनकी Advertisement की रकम कम होती है जिसके कारण छोटी छोटी कंपनी भी आसानी से अपनी ads टीवी पर दिखा पाती है.

कई लोगो को Advertisement के बारे में पता नहीं होगा तो हम आपको बता दे की आप टीवी सीरियल देखते है तो उसमे आपको कई बार ads दिखाए जाते है उसी को Advertisement कहा जाता है और इसको  दिखाने के लिए टीवी चैनल वाले कंपनी वालो से बहुत ही अधिक पैसे लेते है व इनकी सीमा भी निचित होती है की कितने पैसे में कितनी बार ads दिखाए जायेगे उसके अनुसार ही आपको सीरियल आदि में अलग अलग तरह के ads दिखाए जाते है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको TRP Full Form in Hindi के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें और इससे जुडा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहते है तो आप हमे कमेंट आदि के माध्यम से बता सकते है.

पिछला लेखJIO से Airtel में पोर्ट कैसे करें बेहद ही आसान से तरीके से
अगला लेखIP Full Form in Hindi : IP Address क्या होता हैं और कैसे चेक करें

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें