इस आर्टिकल में हम आपको Train अविष्कार किसने और कब किया था इसके बारे में जानकारी बताने वाले है कई लोगो को इसके बारे में जानकारी नहीं होती इस  आर्टिकल में हम आपको ट्रेन से जुडी पूरी जानकारी बतायेगे जिसके बारे में काफी लोगो अभी तक पता नहीं होगा.

train ka avishkar kisne kiya

ट्रेन के बारे में तो आप सभी लोग जानते होंगे व शायद आप सभी ने इसमें कई बार सफर भी किया होगा आज के समय में ट्रेन को ट्रांसपोर्ट का सबसे बड़ा साधन माना जाता है हर दिन करोडो अरबो रूपए की कीमत का सामान इसके द्वारा एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाया जाता है इसके आलावा यात्रा के लिए भी ये एक सुरक्षित साधन माना जाता है जिसके कारण अधिकांश लोग अन्य वाहन की तुलना में इसमें सफर करना अधिक पसंद करते है.

Train का अविष्कार किसने किया था

इसके बारे में अन्य जानकारी बताने से पहले हम आपको इसका अविष्कार किसके द्वारा किया गया था इसके बारे में बता रहे है ट्रेन का अविष्कार यूनाइटेड किंगडम में रहने वाले richard trevithick ने किया था जो की पेशे से एक इंजिनियर थे उनके द्वारा 21 फरवरी 1804 को भाप इंजन से पहली बार ट्रेन को खिंचा गया था यह ट्रेन के बारे में पहला अविष्कार था पर दुर्भाग्य से इस अविष्कार को अधिक सफलता नहीं मिल पायी पर इस अविष्कार से अन्य लोगो को इसके बारे में काफी प्रेरणा प्राप्त हुई.

इसके बाद इसका दूसरा प्रयास george stephenson जो की ब्रिटिश इंजिनियर थे उनके द्वारा 27 सितम्बर 1825 को किया गया था इन्होने अपनी पहली ट्रैन का नाम लोकोमोशन रखा था यह इनका सफल परिक्षण था उस समय ट्रेन की रप्तार 24 किलोमीटर प्रति घंटा थी व इसमें सबसे पहले 450 यात्रियों के द्वारा इंग्लैंड के डार्लिंगटन से स्काउटन के बिच यात्रा की थी इसके बाद से इनकी कंपनी काफी पॉपुलर हो गयी उसके बाद इन्होने अन्य कई देशो को इसके लिए प्रेरित किया.

ट्रेन बनाए के मुख्य उद्देश्य

शुरुआत में ट्रेन का अविष्कार मुख्यत कोयले व लोहे को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचने के उद्देश्य से जॉर्ज स्टीफेन्सन  के द्वारा किया गया था व कई कामियो के कारण इस परिक्षण को उम्मीद के अनुसार सफलता प्राप्त नहीं हो सकी.

इसको मुख्य तौर पर ट्रांसपोर्ट के लिए बनाया गया था पर इसके बाद से इसका इस्तमाल यात्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचने के लिए भी किया जाने लगा उसके बाद अन्य सभी देशो में भी इसके ऊपर कार्य शुरू कर दिया गया व सभी देशो में ट्रेन का संचालन शुरू हो गया.

ट्रेन से जुड़े रोचक तथ्य

अब हम आपको ट्रेन से जुड़े कुछ रोचक तथ्य के बारे में बता रहे है जिसके बारे में आपको जानकारी होनी बहुत जरुरी है हम आपको इसके बारे में कुछ जरुरी तथ्य बता रहे है.

  • विश्व की तेज रप्तार वाली ट्रेन सन्न 1964  को जापान के टॉक्यो व ओसका के बिच चली थी इसकी अधिकतम रप्तार 164 किलोमीटर थी.
  • विश्व का सबसे पहला रेलवे ब्रिज स्केर्न ब्रिज (Skerne Bridge ) इंग्लैंड के डार्लिंगगटन शहर में बना था.
  • दुनिया की सबसे पहली डीजल से चलने वाली ट्रेन 1912 में स्विट्जरलैंड में चली थी इसकी रप्तार 100 किलोमीटर प्रतिघंटा थी.
  • ट्रेन के ट्रेक बदलने वाले रेलरोड स्विच का अविष्कार 1832  में सिविल इंजीनियर सर चाल्र्स फाॅक्स के द्वारा किया गया था.
  • दुनिया का सबसे पहला भूमिगत रेलवे ‘London Underground’ है जिसकी लम्बाई 400 किमी है व इसकी शुरुआत 9 जनवरी, 1863 में हुई थी.
  • विश्व की सबसे तेज चलने वाले रेलवे शंघाई मैग्लेव है जिसकी रप्तार 440 किलोमीटर तक है ये रेलवे चीन के शंघाई शहर में चलती है.
  • दुनिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क अमेरिका है जिसकी लम्बाई 2,50,000  किमी से भी ज्यादा है व यहां 80 रेलवे लाइन का इस्तामल माल की ढुलाई  के लिए किया जाता है.
  • भारतीय रेलवे का नेटवर्क 67,368  किमी है जो की दुनिया का  चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है.
  • भारत की सबसे तेज चलने वाली रेलवे  ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ है जिसकी रप्तार 180 किमी प्रतिघंटा है वही दूसरी सबसे तेज रेलवे  ‘गतिमान एक्सप्रेस’ है इसकी रप्तार 160 किलोमीटर प्रतिघंटा है.
  • भारत की सबसे लम्बी दुरी तय करने वाले रेलवे विवेक एक्सप्रेस है जो 4286 किलोमीटर की दुरी तय करती है.
  • दुनिया की सबसे पहली अंतरास्ट्रीय रेलवे लाइन 1843 को बेल्जियम और जर्मनी के बिच बनायी गयी थी.

ये रेलवे से जुडी कुछ रोचक बाते है जिसकी बारे में आपको पता होना बहुत जरुरी अक्सर इसके बारे में कई लोगो को जानकारी नहीं होती इसके अलावा भी इससे जुड़े कई अन्य तथ्य है  जिसके बारे में हम आपको आने वाले अन्य आर्टिकल में जानकारी देंगे.

Calculation – इस आर्टिकल में हम आपको Train का अविष्कार कब व किसने किया था इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा बताई गयी जानकारी जरूर पसंद आयी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करे व इससे सम्बंधित किसी  प्रकार का सवाल पूछना चाहते है तो आप हमे कमेंट कर सकते है.

पिछला लेखAndroid App Kaise Banaye : एप्लीकेशन बनाने का आसान तरीका
अगला लेखVertigo का घरेलु इलाज एवं वर्टिगो के लक्षण क्या होते है
मै रघुवीर चारण PMO Yojana का संस्थापक हूँ हमें लेख लिखना व किताब पढ़ना बेहद पसंद है है हम शिक्षा, कंप्यूटर, मोबाइल, सरकारी नौकरी, नई योजनाओं व इस प्रकार की अन्य कई जानकारी इस Website पर लिखते है

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें