आज हम TC Full Form के बारे में बता रहे हैं अक्सर हम सभी लोग कई बार किसी न किसी कारण से इस शब्द का इस्तमाल करते रहते हैं हालांकि बहुत से लोगो को इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती तो आज इस आर्टिकल के द्वारा हम TC क्या हैं और इसका इस्तमाल कैसे होता हैं इसके बारे में बता रहे है.

tc full form

TC के नाम से कई सारे अलग अलग शब्द जुड़े हुए हैं व सबसे अर्थ भी कई प्रकार के अलग अलग होते हैं बहुत से लोगो को TC Full Form क्या होता हैं इसके बारे में जानकारी नहीं होती इस शब्द का सभी लोग जरुरत के अनुसार अलग अलग प्रयोग करते हैं हम आपको इसके कुछ आसान व जरुरी अर्थ के बारे में बता रहे हैं जो की अक्सर इस शब्द के लिए इस्तमाल होते है.

TC Full Form क्या है

TC शब्द के बारे में ज्यादा जानकारी पाने से पहले हम पहले इसके पुरे नाम के बारे में जान लेते है

TC Ka Full Form – Transfer Certificate होता है.

TC की सही full form तो यही हैं पर सभी लोग अपनी आवश्यकता अनुसार इसकी अलग अलग form बताते हैं जो की सही भी होती हैं पर ज्यादातर इस शब्द के लिए transfer certificate का ही इस्तेमाल होता है  पर हम इस शब्द का अन्य शब्दों के लिए जैसे – Ticket Checker, Ticket Collector, Transmission Collector आदि के लिए भी इस्तेमाल किया जाता हैं.

TC Ka Full Form in Railway

TC शब्द का इस्तेमाल  रेलवे से जुडी पोस्ट के बारे में भी किया जाता हैं जिसका पूरा नाम निम्न प्रकार का होता है

TC Full Form in Railway – Ticket Collector

आपने कई बार रेलवे में सफर किया होगा तो आपने देखा होगा की वहा पर आपको टिकट लेना  होता हैं और वह पर पहले से कई कर्मचारी टिकिट खिड़की में लगे होते हैं उनके लिए अक्सर Ticket Collector शब्द का इस्तमाल  किया जाता हैं जो टिकट देते है

कई बार रेलवे के सफर के दौरान भी ट्रैन आदि में टिकट की चैकिंग के लिए कर्मचारी आते रहते हैं उनके लिए भी इसी शब्द का इस्तमाल किया जाता हैं व उनको भी TC कहा जाता है.

TC क्या होता हैं

किसी school, university, collage, office आदि मे Transfer Certificate  को ही TC Full Form माना जाता हैं जब किसी व्यक्ति का एक जगह से दुसरी जगह तबादला होता हैं या कोई विधार्थी किसी विधालय की पढाई पूरी कर लेता हैं व दुसरे विधालय में पढना चाहता हैं तो इसके लिए उन्हैंं एक certificate दिया जाता हैं जिसे की transfer certificate कहा जाता हैं.

Transfer Certificate को तभी मान्यता दी जाती हैं जब उसमे उपयुक्त अधिकारी के‌ हस्ताक्षर हो जैसे की अगर वो किसी विधालय का certificate हो तो उसपर principal आदि के हस्ताक्षर होने चाहिये तभी उसे मान्यता दी जाती हैं व अगर आपका तबादला हुआ हो तो आपको नयी posting तभी मिलती हैं जब आपको पुरानी post से transfer certificate मिल चुका हो.

व आपको पता होना जरुरी हैं की transfer certificate को new school होना या office में posting लेने पर आपको उसकी original copy जमा‌ भी जमा करानी होती हैं transfer certificate तभी आपके पास रहता हैं जब आप विधालय की पढाई छोड देते हैं व आप नये विधालय मे प्रवेश लेगे तो आपको वापिस उसे जमा कराना होगा.

TC कब प्राप्त होता है

जैसे की हमने आपको पहले बताया हैं की जब आपका दुसरी जगह पर तबादला हो रहा हो या आप दुसरे विधालय में पढने जा रहे हैं तो आपको पुराने संस्थान जहां आप नौकरी या पढाई करते थे वहाँ से आप  TC के लिए आवेदन कर सकते हैं इसके लिए आपको एक application देनी होती हैं जिसमें आपको बताना होगा की आप TC क्यु प्राप्त करना चाहते हैं बादमें आपको वहाँ से transfer certificate प्राप्त होता है.

TC क्यों जरुरी है

यह कई अलग अलग करने से जरुरी मानी गयी हैं अगर आप विधालय की टीसी लेते हैं तो  इसका अर्थ हैं की आपका अब उस विधालय से कोई लेना देना नहीं हैं व आप अन्य विधालय में प्रवेश ले सकते ही इसके साथ ही टीसी में आपके व्यवहार का भी पता चलता हैं की पुराने विधालय में आपका व्यवहार कैसा था व अपने उस विधालय में कितने अंक प्राप्त किये थे अदि से जुडी कई सारी अलग अलग जानकारी उसमे लिखी होती हैं जिसके आधार पर कोई भी विधालय यह निर्धारित करता हैं की विधार्थी उस विधालय में पढ़ने योग्य हैं या नहीं.

क्या Duplicate TC प्राप्त की जा सकती है

कई लोगो की शिकायत रहती हैं की उनकी टीसी कई बार खो जाती हैं ऐसे में अगर आप चाहो तो नयी टीसी भी प्राप्त कर सकते हैं क्युकी यह एक बेहद महत्वपूर्ण दस्तावेज होता हैं जिसके कारण सरकार आपको डुप्लीकेट टीसी उपलब्ध कराती हैं ताकि टीसी खो जाने के कारण किसी भी व्यक्ति को समय और धन की हानि ना हो

अगर आपको डुप्लीकेट टीसी लेनी हो तो आपको सम्बंधित कार्यालय, विभाग या विधालय से संपर्क करना होता हैं वहा के बताये गए दिशानिर्देश के अनुसार आपको नयी डुप्लीकेट टीसी प्राप्त हो जाती है.

Calculation – हमने आपको TC Full Form क्या है इसके बारे में बता रहे है इसके साथ ही आप TC कैसे प्राप्त करते है इसके बारे में बता रहे है अगर आपको इससे संबधित किसी भी प्रकार का सवाल पूछना है तो आप हमे कमेंट कर के पूछ सकते हैं.

पिछला लेखउत्तरप्रदेश सम्पति व विवाह पंजीयन में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें
अगला लेखPNB Balance Enquiry : PNB बैंक बैलेंस और मिनी स्टेटमेंट कैसे देखे

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें