नमस्कार मित्रो आज हम आपको Station Master Kaise Bane इसके बारे में बताने वाले है अक्सर हम सब लोग रेलवे में तो सफर करते ही है ऐसे में कई लोगो ने स्टेशन  मास्टर के बारे में सुना होगा व ज्यादातर लोगो के मन में आता है की हम भी स्टेशन मास्टर कैसे बन सकते है तो हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से इससे जुडी पूरी जानकारी बताने वाले है.

Station Master Kaise Bane

स्टेशन मास्टर की जॉब बहुत ही जिम्मेदारी वाली पोस्ट होती है इसलिए इस पोस्ट पर नौकरी प्राप्त करना भी काफी कठिन होता है अगर आपका सपना स्टेशन मास्टर बनने का है तो इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी और काफी परिश्रम करना होगा तभी आपका यह सपना पूरा हो सकता है इसके साथ ही आपको Station Master Kaise Bane इसकी गाइडलाइन भी पता होनी आवश्यक है.

Station Master Kaise Bane

हर रेलवे स्टेशन के सही तरीके से संचालन के लिए स्टेशन मास्टर नियुक्त होता है जिस प्रकार से एक जिले की जिम्मेदारी कलेक्टर के ऊपर होती है ठीक उसी प्रकार से रेलवे स्टेशन के लिए स्टेशन मास्टर जिम्मेदार होता है यह स्टेशन पर आने वाली गाड़ियों को आवागमन के सिग्नल देते है इसके साथ ही यह रेलवे स्टेशन पर होने वाले हर कार्य को सुपरवाइज करते है की सभी काम व्यवस्थित तरीके से  हो रहे हो.

इनके कई अलग अलग तरह के काम होते है जैसे गाड़ियों  के आवागमन की जानकारी रखना, प्लेटफार्म नंबर को डिसाइड करना, सामान ढुलाई पर निगरानी रखना, स्टेशन को स्वच्छ बनाये रखा, कर्मचारियों को दिशा निर्देश देना, स्टेशन के वाद विवाद निपटाना, यात्रियों की सुरक्षा आदि का ख्याल रखना यह सभी कार्य स्टेशन मास्टर को करने होते है.

स्टेशन मास्टर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता

अगर आपको स्टेशन मास्टर बनना है तो इसके लिए आपका ग्रेजुएशन उत्तीर्ण होना आवश्यक है इसके साथ ही आपको कंप्यूटर के बारे में भी बेसिक जानकारी होनी चाहिए व आपके पास कंप्यूटर से जुड़ा सर्टिफिकेट होना चाहिए और  रेलवे को 17 अलग अलग जॉन में बाटा गया है ऐसे में आप  जिस जॉन में आवेदन कर रहे है वहां की भाषा का आपको अच्छा ज्ञान होना जरुरी है.

स्टेशन मास्टर के लिए अन्य योग्यता

जो लोग स्टेशन मास्टर बनने का सपना देख रहे है उनके पास शैक्षणिक योग्यता के साथ अन्य आवश्यक योग्यता  भी होनी  जरुरी है जो निम्न प्रकार से है.

  • लीडरशिप की क्वालिटी – स्टेशन मास्टर को अपने स्टेशन का सही तरीके से सञ्चालन करना होता है और अपने कर्मचारियों को गाइडलाइन देनी होती है इसलिए आपके अंदर लीडरशिप की क्वालिटी होनी बहुत ही जरुरी है.
  • डिसीजन लेने की क्षमता –  रेलवे का  नेटवर्क बहुत ही बड़ा होने के साथ ही काफी उलझा हुआ भी होता है इसमें छोटी गलती भी बहुत ही भारी पड़ सकती है इसलिए आपके अंदर डिसीजन लेने की क्षमता होनी आवश्यक है.
  • मानसिक रूप से शांत – स्टेशन मास्टर का काम बहुत ही कठिन और उलझन से भरा होता है जिसके कारण शुरुआत में लोगो को इस पोस्ट पर काम करने में काफी दिक्कत आती है ऐसे में आपका दिमाग शांत रहना बहुत ही जरुरी है.
  • प्रेशर हेंडल करने की क्षमता – कई बार आपने देखा  होगा की गाडी लेट हो जाती है या स्टेशन की सफाई समय पर नहीं होती या अन्य कोई समस्या होती है तो इस स्थिति में आपको प्रेशर हेंडल कैसे करना है इसकी क्षमता आवश्यक है.

यह कुछ विशेष गुण होते है जिसके बारे में आपको ध्यान रखना चाहिए अगर आपके अंदर यह सभी गुण है तो आप बेहद ही आसानी से स्टेशन मास्टर का काम कर पाएंगे और इस पद पर नौकरी कर पाएंगे.

स्टेशन मास्टर बनने की उम्र सीमा

स्टेशन मास्टर बनने के लिए आपकी न्यूनतम उम्र 18 वर्ष होनी चाहिए और अधिकतम उम्र 32 वर्ष तक होनी चाहिए इसके साथ ही आरक्षित वर्गों को उम्र में छूट देने का भी प्रावधान होता है इसकी विस्तृत जानकारी के लिए आप इसका ऑफिसियल नोटिफिकेशन देख सकते है.

स्टेशन मास्टर की चयन प्रक्रिया

इसकी परीक्षा का आयोजन रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड के द्वारा करवाया जाता है जिसको NTPC भी कहा जाता है व इस परीक्षा में पुरुष और महिलाये दोनों शामिल हो सकते है इसकी चयन प्रक्रिया निम्न प्रकार से रखी गयी है.

प्रारंभिक परीक्षा – इसमें आवेदन करने के बाद सबसे पहले आपको प्रारंभिक परीक्षा देनी होती है यह ऑनलाइन एग्जाम  है व इसमें आपको 100 प्रश्न पूछे जाते है जिसके लिए आपको 90 मिनिट का समय दिया जाता है इस परीक्षा को CBT1 भी कहा जाता है एवं इस परीक्षा के अंक आपकी मेरिट में नहीं जोड़े जायेगे यह केवल क्वालीफाई एग्जाम होता है.

मुख्य परीक्षा – जब आप प्रारंभिक परीक्षा में सफल हो जाते है तो इसके बाद आपको मुख्य परीक्षा में बुलाया जाता है इसमें आपको ऑब्जेक्टिव टाइप के सवाल पूछे जाते है व इस  परीक्षा में आपको 120 सवाल पूछे जायेगे इस प्रश्न पत्र को हल करने के लिए 90 मिनिट का समय दिया जाता है एवं इसको CBT2 भी कहा जाता है.

एप्टीट्यूड टेस्ट – जो लोग मुख्य परीक्षा में सफल हो जाते है उन्हें एप्टीट्यूड टेस्ट के लिए बुलाया जाता है एवं इसको CBT3 भी कहा जाता है इसमें आपकी मानसिक स्थिति को परखा जाता है.

डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन – सभी टेस्ट में सफल होने के बाद उम्मीदवारों के दस्तावेज का सत्यापन किया जाता है इसमें स्कुल और कॉलेज की मार्कशीट, आधार कार्ड, पहचान पत्र, जाती प्रमाण पत्र, फोटो, मूल निवास प्रमाण पत्र आदि आवश्यक सरकारी दस्तावेजों की जाँच की जाती है.

मेडिकल टेस्ट – अंत में मेडिकल टेस्ट करवाया जाता है व इसमें फिटनेस की जाँच की जाती है जो मेडिकल एग्जाम में सफल हो जाते है  उनका चयन इस पोस्ट के लिए किया जाता है.

आप जब इसकी लिखित परीक्षा देते है तो उसमे प्राप्त अंको के आधार पर एक मेरिट बनायी जाती है उस मेरिट के आधार पर ही किसी भी कैंडिडेट का चयन इस पोस्ट के लिए किया जाता है.

स्टेशन मास्टर का वेतन

एक स्टेशन मास्टर को वेतन के रूप में 5200/- से 20,200.- रूपए का वेतन एवं  ग्रेड पे 4200 रु दिया जाता है इसके साथ ही इन्हे मेडिकल, वाहन भत्ता, आवास, पेंशन, पीएफ, टीए, डीए जैसी कई तरह की सुविधाएं सरकार के द्वारा दी जाती है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको Station Master Kaise Bane इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें और इससे जुड़ा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है.

पिछला लेखग्राम पंचायत की शिकायत कैसे करें बहुत ही आसान से तरीके से
अगला लेखBTS Full Form in Hindi : BTS क्या है व इसका अर्थ क्या है

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें