आज के‌ आर्टिकल में हम आपको Secret of Happiness In Hindi Motivational story या आप कह सकते हैं खुश रहने के रहस्य के बारे मे बताने वाले हैं आज के समय‌ में हर व्यक्ति को किसी का‌ किसी प्रकार की समस्या होती रहती हैं पर कुछ लोग हजारों समस्याएं होने के बावजूद खुश रहते है‌ तो कुछ लोग छोटी छोटी समस्याओं में भी दुखी हो जाते हैं आज का हमारा ये आर्टिकल इसी से  सम्बंधित है।

 Secret of Happiness In Hindi

अगर आप‌ कई समस्याओं के बावजूद खुश रहते हैं तो ये एक बहुत बडी व बेहद अच्छी बात हैं व्यक्ति को हमेशा खुश रहना चाहिए पर कई लोग ऐसे भी हैं जो छोटी बड़ी समस्याओं में भी परेशान हो‌ जाते हैं आज का हमारा ये आर्टिकल इसीलिए लिखा गया है‌ की हम आपको एक कहानी के माध्यम से खुश रहने के तरीके बता सके की आप किस प्रकार से खुश रह सकते हैं व इस कहानी को पढ कर हमे पूरा यकीन हैं की आप हर परेशानी में खुश रहना सीख जायेगे

यह भी पढ़े – प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या है? PMFBY की पूरी जानकारी

Secret of Happiness 

एक‌ बार एक‌ गाँव में एक महान ऋषि रहते थे गाँव के सभी लोग ऋषि के पास अपनी परेशानी व कठिनाइयाँ लेकर आते थे व ऋषि उनका मार्गदर्शन भी करते थे एक बार एक व्यक्ति ने ऋषि से पुछा की मैं यह जानना चाहता हुईं कि हमेशा खुश रहने का रहस्य क्या हैं (What is the Secret of Happiness)” ऋषि ने तुरंत जवाब दिया की तुम‌ मेरे साथ जंगल में चलो वही पर हम तुमको इस सवाल का‌ जवाब देगे..

ऋषि व वो‌ व्यक्ति दोनों साथ साथ जंगल के लिए रवाना हो‌ गये व चलते चलते ऋषि को‌ एक पत्थर दिखा तो ऋषि ने उस व्यक्ति को‌ वो पत्थर उठाकर उनके साथ चलने के लिए कहा वो व्यक्ति उस पत्थर लो उठा कर ऋषि के साथ चलने लगा काफी चलने  के बाद उस व्यक्ति के हाथों में दर्द होने लगा फिर भी वो व्यक्ति बिना कुछ कहैं ऋषि के साथ चलता रहा.

काफी देर तक चलते रहने के बाद वो व्यक्ति थक गया तो उसने ऋषि से कहा की वो बेहद थक‌ चुका हैं अब उससे पत्थर उठाया नही जा रहा तो ऋषि ने पत्थर रखने के लिए कह दिया ऋषि के‌ कहते ही उस व्यक्ति ने वो पत्थर रख दिया उस पत्थर को रखते ही उस व्यक्ति को बेहद  राहत महसूस हुई.

यह भी पढ़ेकोई भी Fake Government ID कैसे बनाये 

तभी गुरु ने कहा की असली खुशी का राज रही हैं.

उस व्यक्ति को ये बात समझ में नही आयी तो वो बोला की गुरु जी मे‌ आपकी बात समझ नही पाया कृपया मुजे इसके बारे में  विस्तार से समझाये.

तभी ऋषि बोले‌.

जब हम कोई पत्थर उठाते हैं तब वो हमे इतना भारी नही लगता पर अगर हम वो पत्थर एक घंटे तक उठाये रखे तो वो हमे बोझ लगने लगता हैं व थोडे समय तक और हम उस पत्थर को उठाये तो उसको संभालना मुश्किल हो‌ जाता हैं उसी प्रकार से दुख का बोझ आप जितने ज्यादा समय तक अपने पास रखेगे उतने ज्यादा समय तक आप उस बोझ से ज्यादा दुखी होते रहैंगे व आप‌ पर‌ निर्भर करता हैं की आप दुख के बोझ को एक‌ मिनिट के लिए उठा के रखते हैं या एक घंटे तक या उससे ज्यादा समय तक उठाते रहते हैं आप जितना जल्दी उस दुख के‌ बोझ को छोड दोगे उतने जल्दी आप खुशी के समीप‌ आ जाओगे.

यह भी पढ़ेप्रेरणादायक विचार जो आपकी जिंदगी बदल देगे

खुश रहने के तरीके 

अगर आप खुद को खुश रखना चाहते हो तो इसके कई प्रकार के अलग अलग तरीके भी है जिसके माध्यम से आप खुद को खुश रख सकते है खुद को खुश रखने के लिए सबसे पहले आपको उन सभी बातो को भुलाना होगा जो आपकी ख़ुशी के बिच बाधा बन रही है 

जैसे ही आप उन बातो को भूलने लगते है तो उसके बाद आप धीरे धीरे ख़ुशी की तरफ बढ़ने लग जाते है व्यक्ति के खुश रहने का यह सबसे अच्छा तरीका होता है 

यह भी पढ़े – Successful Thoughts : आलस दूर करने के 10+1 तरीके

चिंताजनक बाते कैसे भुलाये 

जैसा की हमने आपको बताया की आपको खुश रहने के लिए चिंताजनक बातो को भूलना बहुत जरुरी है और इसके लिए आपको कुछ आसान सी बातो को ध्यान में रखना बहुत जरुरी है 

आपको ऐसी बाते भुलाने के लिए अपने परिवार वालो का साथ लेना  जरुरी है आप परिवार के साथ समय बिताते है तो उस वक्त आप चिंताजनक बातो को धीरे धीरे भूलने लग जाते है इसके साथ ही आप अपने मित्रो के भी समय जरूर बिताये 

यह भी पढ़े – 50+ Suvichar in Hindi : आज के Sub Bichar हिंदी में

आप सभी जानते है की परेशानी बताने से मन का बोझ हल्का होता है ऐसे में आप अपनी परेशानी को परिवार और दोस्तों के साथ साझा जरूर करे 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें