आज के आर्टिकल में हम POC Full Form के बारे में जानने वाले हैं बहुत से लोगो को poc के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती तो अगर आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं हैं तो आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही उपयोगी हो सकता हैं क्युकी इसमें हम पीओसी के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी आपको बतायेगे.

poc ful form

अक्सर कई लोगो को ज्यादातर शब्दों के बारे में पता नहीं होता पर हमे कुछ जरुरी शब्दों के बारे में पता होना भू जरुरी हैं क्युकी बहुत से शब्द ऐसे भी होते हैं जिसका इस्तमाल हमे भवष्य में कई बार करना पड़ सकता हैं इसलिए आपको ऐसे शब्दों के बारे में जानकारी होगी तो भविष्य में जरुरत पड़ने पर आप कभी भी इनका इस्तमाल बहुत ही आसानी से कर सकते है.

POC Full Form in Hindi

पीओसी का पूरा नाम क्या होता हैं इसके बारे में जानकारी बताने से पहले हम इसके नाम के बारे में जान लेते हैं की इसका नाम क्या होता है.

POC Full Form – Proof of Concept होता है.

हिन्दी में इसे अवधारणाओं का सबूत या अवधारणा का प्रमाण भी कहा जाता हैं जैसे की किसी वस्तु या विचार पर पूर्णतया यकीन करने के लिए उससे सम्बंधित सबूत या प्रमाण होना बहुत जरुरी होता हैं उसके आधार पर ही कोई भी व्यक्ति किसी भी विचार अथवा वस्तु पर पूर्ण रुप से यकीन करता है.

उदाहरण – जैसे की मान लीजिए की में आपके पास खडा हू व आप मुझे कहैंगे की तुम्हारे विधालय में कितने % बने तो में आपको कह दुगा की मेरे 90% बने हैं या 95% बने हैं तो आप शायद उसपर यकीन नही करेगे क्युँकि मैने आपको अब तक उसका कोई प्रमाण नही दिया हैं व आपको यकीन दिलाने के लिए मुझे mark sheet की जरुरत होगी जो की इस बात का प्रमाण अथवा सबूत हैं की मेरे इतने % बने हैं या नही बने.

जैसे ही में आपको marksheet दिखाऊगा तो आपको पता चल जायेगा की में गलत बोला हूँ या सही बोला हू व अगर मेरे marksheet में 90% ही लिखे होगे तो आप मेरी बात पर यकीन जरुर करेगे की इसके इतने ही % बने हैं व ये सही कह रहा था तो इसी को सबूत या प्रमाण कहा जाता हैं व sort form में इसे आप POC भी कह सकते हैं.

POC क्या होता है

इसमें किसी भी कार्य आदि के बारे में निर्णय लिया जाता हैं की वह कार्य हकीकत में होने की संभावना हैं या नहीं व इस  शब्द की कार्यो के अनुसार अलग अलग अवधारणा हो सकती हैं इसका इस्तामल मुख्या सबूत के तौर पर किया जा सकता हैं जैसे की कई बाते या कार्य ऐसे होते हैं जिसके बारे में सिर्फ कहने से उसको सच नहीं माना जा सकता.

तो ऐसी स्थिति में उस बात या कार्य को प्रमाणित करने की जरुरत होती हैं की वो सच में हुआ हैं और इसके लिए आपके पास उसके बारे में प्रमाणपत्र होने चाहिए जिससे की कोई उस बात को सच माने तो यही होता हैं पीओसी.

POC के लाभ

बहुत से लोगो को इसके लाभ के बारे में पता नहीं होगा पर इसके कई सारे अलग अलग प्रकार के लाभ भी होते हैं जैसे की.

  1. भविष्य में किसी भी तकनीकी  या अन्य समस्याओ का पता लगाने में यह बहुत अधिक सहायता करता हैं और समाधान के लिए भी सुझाव देता हैं ताकि आने वाली समस्या को कम किया जा सके.
  2. खुद के पैसे आप अवधारणा या विचार पर खर्च कर के भी बचा सकते है.
  3. यह एक ऐसा प्रदर्शन हैं जो की किसी भी बात आदि को सत्यापित करने का प्रमाण होता है.
  4. इससे अवधारणा में समय व उत्पादन की भी बचत होती है.
  5. इसके द्वारा आप अपने विचारो की समस्या का आसानी से पता लगा सकते हैं और इनको हल कर के आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते है.
  6. यह C विभिन्न अलग अलग उद्देश्यों और भागीदार भूमिकाओं के साथ में अलग-अलग प्रक्रियाओं का वर्णन भी करता हैं.

इसके अलावा भी POC के कई सारे अलग अलग लाभ होते हैं इसके कुछ मुख्य लाभ के बारे में हमने आपको बताया हैं जो की आप ऊपर पढ़ सकते हैं की इससे क्या क्या लाभ हो सकते है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको POC Full Form in Hindi के बारे में जानकारी दी है अगर आपको POC से सम्बंधित किसी भी  प्रकार का सवाल पूछना चाहते है तो आप हमे कमेंट कर सकते है व अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको आप अपने मित्रो के साथ शेयर भी जरूर करें ताकि अन्य लोगो को भी इसके बारे में जानकारी प्राप्त हो सके.

पिछला लेखEEE Full Form in Hindi : EEE क्या है व ये कोर्स कैसे करें
अगला लेखJio Phone में Play Store Download कैसे करते हैं फ्री में

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें