इस आर्टिकल में हम आपको POA Full Form क्या होता है इसके बारे में बताने वाले है अपने कई अलग अलग जगह पर इसके बारे में कई बार सुना होगा पर कई लोगो को इसके बारे में जानकारी नहीं होती की ये क्या है और इसका इस्तमाल कहा पर किया जाता है इन सब के बारे में इस आर्टिकल में हम आपको विस्तार से बतायेगे.

POA Full Form

ये एक ऐसा शब्द है जिसके कई प्रकार के अलग अलग अर्थ होते है जिनका जरूरत के अनुसार इस्तमाल किया जाता है व आपको POA क्या होता है इसके बारे में जानकारी होनी बहुत जरुरी है ये जानकारी खासकर स्टूडेंट के लिए अधिक उपयोगी हो सकती है POA किसको कहते है और POA Full Form क्या होता है इन सब के बारे में हम आपको पूरी जानकारी हिंदी में बतायेगे.

POA Full Form in Hindi

POA क्या होता है इसके बारे में आपको बताने से पहले इसका  पूरा नाम क्या होता है इसके बारे में हम आपको बता देते है.

POA Full Form – Power of Attorney

ये एक ऐसा डॉक्यूमेंट होता है जिसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति किसी भी अन्य व्यक्ति को अपनी सम्पति के बारे में निर्णय लेने का अधिकार दे सकता है.

POA क्या है

POA एक ऐसा दस्तावेज होता है  जिसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति को कानूनी प्रतिनिधि घोषित कर सकता है और POA घोषित करने वाले व्यक्ति को principal तथा घोषित व्यक्ति को agent कहा जाता है.

इसकी ख़ास बात ये है की आप इसमें प्रॉपर्टी के अलावा बैंक खाते, शेयरों तथा म्यूचुअल फंड आदि में भी किसी अन्य को Power of Attorney दे सकते है ये बड़े बड़े बिजनेसमैन के लिए अधिक इस्तमाल की जाती है Power of Attorney दो प्रकार का होता है.

  • जनरल पावर ऑफ़ अटार्नी ( G.P.A )
  • स्पेशल पावर ऑफ़ अटार्नी ( S.P.A )

Power of Attorney का इस्तमाल सामान्यत ऐसी स्थिति में किया जाता है जब प्रोपोर्टी का मालिक बीमारी या विकलांगता से सम्बंधित परेशानी का  सामना कर रहा हो और वो व्यक्ति कानूनी कागजाद पर हस्ताक्षर करने में असमर्थ हो ऐसे में इसका अधिक इस्तमाल किया जाता है.

POA में क्या क्या अधिकार होते है

अगर को भी व्यक्ति अन्य व्यक्ति को अपने एजेंट के रूप में चुनता है तो प्रिंसिपल की संपत्ति, वित्त या चिकित्सा देखभाल के बारे में कानूनी निर्णय लेने के अधिकारी उस एजेंट को प्राप्त हो सकते है इसके आलावा कई अलग अलग कार्य के  लिए POA को चुना जा सकता है.

एक सामान्य POA के तहत मालिक के बैंक खातों को संभालने, चेक पर हस्ताक्षर करने, संपत्ति बेचने और संपत्ति जैसे स्टॉक, कर दाखिल करने, आदि जैसे मुद्दों की देखभाल के लिए एजेंट को अधिकृत किया जा सकता है जो इस प्रकार के सभी कार्य कानूनी दायरे में रहकर कर सकते है.

Power of Attorney कैसे तैयार करें 

अगर आप Power of Attorney इस्तमाल करना चाहते है तो इसके लिए  सभी देशो में अलग अलग कानून है इनके अनुसार आप इसको इस्तमाल कर सकते है इसके लिए आपको 100 से 1000 रूपए तक के non-judicial stamp की जरुरत होती है उसपर आप Power of Attorney बना सकते है.

Power of Attorney बनाने के लिए प्रिंसिपल के हस्ताक्षर व एजेंट के हस्ताक्षर और दो अन्य लोगो के हस्ताक्षर की जरुरत पड़ती है तभी आप इसका लाभ ले सकते है.

POA का गलत इस्तमाल होने पर क्या करे

आपको इसके बारे में पता होना जरुरी है की Power of Attorney की समय सीमा 1 वर्ष की होती है पर अगर एजेंट इसका दुरपयोग करना है तो आप इसके लिए न्यायालय में शिकायत दर्ज कर सकते है इससे समय से पहले POA को रद्द किया जा सकता है.

अगर कोई व्यक्ति अन्य देश में रहता है और वो अपनी प्रॉपर्टी को बेचना चाहता है तो ऐसे में देश आने से तीन माह के अंदर इसे district magistrate ( जिला कलेक्टर ) से मान्यता दिलाना आवश्यक होता है एवं बादमे power of Attorney तैयार कर उसे notarized करा सकता है.

Calculation – इस आर्टिकल में हम आपको POA Full Form क्या है और POA किसे कहते है इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारे द्वारा बताई गयी जानकारी पसंद आयी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करे और जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें व इससे सम्बंधित किसी प्रकार का सवाल पूछना चाहते है  तो आप हमे कमेंट कर सकते है.

पिछला लेखBAE Full Form in Hindi : BAE का पूरा नाम क्या है
अगला लेखIOB Net Banking क्या है और कैसे Activate करे

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें