MLC Full Form in Hindi: विधान परिषद सदस्य क्या है?

आज हम आपको MLC Full Form in Hindi से जुड़ी जानकारी देने वाले हैं। अक्सर कई बार आपने MLC के बारे में पढ़ा और सुना होगा, लेकिन ज्यादातर लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती कि आखिर MLC किसे कहते हैं या इसका पूरा नाम क्या होता है। तो ऐसे में यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकता है।

MLC Full Form in Hindi

MLC भूमिका राज्य या संघीय सरकार के कानून और नीतियों को बनाने में मदद करता है। वे आमतौर पर विभिन्न समितियों के सदस्य होते हैं और विधायी प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अगर आप MLC के बारे में विस्तृत रूप से जानना चाहते है MLC Full Form in Hindi लेख को ध्यान से पढ़े।

MLC Full Form in Hindi

MLC राज्य के विधानमंडल का एक अंग होता है। विधान परिषद राज्य की विधायिका का द्वितीय सदन होता है। MLC के बारे में अन्य जानकारी बताने से पहले हम आपको इसका पूरा नाम बता रहे है, जो की निम्न प्रकार से है:

MLC Full Form – Member of Legislative Council

हिंदी में अर्थ – विधान परिषद सदस्य

MLC का गठन कैसे होता है?

MLC का गठन भारतीय संविधान के अनुच्छेद 169 के प्रावधान के अनुसार होता है। MLC का गठन राज्य के विधानसभा सदस्यों द्वारा पारित प्रस्ताव के आधार पर होता है। इस प्रस्ताव को संघीय संसद के दोनों सदनों से बहुमत प्राप्त करना होता है। इसके बाद राष्ट्रपति के द्वारा इस प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किए जाते हैं।

विधान परिषद वाले राज्य

वर्तमान में भारत के छह राज्यों में विधान परिषद है। जिनके नाम निम्न प्रकार से है:

  • उत्तर प्रदेश
  • आंध्र प्रदेश
  • महाराष्ट्र
  • बिहार
  • कर्नाटक
  • तेलंगाना

MLC बनने के लिए आवश्यक योग्यता

अगर आप MLC बनना चाहते है तो इसके लिए निम्नलिखित योग्यताएं आवश्यक हैं:

  • भारतीय नागरिक होना चाहिए
  • न्यूनतम आयु 30 वर्ष होनी चाहिए
  • राज्य की मतदाता सूची में नाम होना चाहिए
  • मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए
  • किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित नही होना चाहिए
  • किसी सरकारी पद पर न हो
  • संबंधित क्षेत्र का स्थाई निवासी होना चाहिए

MLC का चयन कैसे होता है?

MLC का चयन अप्रत्यक्ष रूप से होता है। MLC के सदस्यों का चुनाव विधायकों, शिक्षकों, और स्थानीय निकायों के सदस्यों द्वारा किया जाता है।

MLC के कार्य

MLC को कई प्रकार के अलग अलग कार्य करने होते है। हम आपको इनके कुछ महत्वपूर्ण कार्य बता रहे है, जो की निम्न प्रकार से है:

  • विधान परिषद के कार्यों का संचालन करना
  • मंत्री परिषद द्वारा बनाए गए कानूनों पर चर्चा करना
  • विधान परिषद में विधेयक पेश करना
  • विधान परिषद में विधेयक पारित करना या अस्वीकार करना

MLC का वेतन

MLC को एक निश्चित वेतन दिया जाता है, जो वर्तमान में 40,000 रुपये प्रति माह है। इसके अलावा, उन्हें अन्य भत्ते भी दिए जाते हैं, जैसे कि क्षेत्रीय भत्ता, महंगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, मुफ्त आवास, और मुफ्त वाहन आदि।

MLC के अन्य फुल फॉर्म

MLC के अन्य कई अलग अलग फुल फॉर्म भी होते है, जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए। हम आपको इसके कुछ खास फुल फॉर्म बता रहे है जो की निम्न प्रकार से है:

  • Master of Arts in Counseling (काउंसलिंग में कला में मास्टर)
  • Master of Arts in Education (शिक्षा में कला में मास्टर)
  • Master of Arts in English (अंग्रेजी में कला में मास्टर)
  • Master of Arts in History (इतिहास में कला में मास्टर)
  • Master of Arts in Sociology (समाजशास्त्र में कला में मास्टर)
  • Master of Business Administration (व्यवसाय प्रशासन में मास्टर)
  • Master of Computer Applications (कंप्यूटर अनुप्रयोगों में मास्टर)
  • Master of Legal Studies (कानून में मास्टर)
  • Master of Library Science (पुस्तकालय विज्ञान में मास्टर)
  • Master of Public Administration (सार्वजनिक प्रशासन में मास्टर)
  • Master of Science in Engineering (इंजीनियरिंग में विज्ञान में मास्टर)
  • Master of Science in Mathematics (गणित में विज्ञान में मास्टर)
  • Master of Science in Physics (भौतिकी में विज्ञान में मास्टर)
  • Medical Laboratory Technician (चिकित्सा प्रयोगशाला तकनीशियन)
  • Missionary Leadership Council (मिशनरी नेतृत्व परिषद)
  • Multi-Level Marketing Company (मल्टी-लेवल मार्केटिंग कंपनी)
  • Music Lovers Club (संगीत प्रेमी क्लब)

MLC राज्य की विधायिका का एक महत्वपूर्ण अंग है। MLC के सदस्य राज्य के विकास और कल्याण के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

पिछला लेखBCE Full Form in Hindi: ईसा मसीह के जन्म से पहले की अवधि
अगला लेखबैंक मैनेजर कैसे बनें? आवश्यक योग्यता, चयन प्रक्रिया और सैलरी
Sukhdev Singh
सुखदेव सिंह एक अनुभवी संक्षिप्त रूप विशेषज्ञ और करियर काउंसलर हैं, जिनके पास 9 से अधिक वर्षों का अनुभव है। वे संक्षिप्त रूपों, शब्दावली, और तकनीकी शब्दों के क्षेत्र में विशेषज्ञ हैं। वे संक्षिप्त रूपों को समझने और समझाने में माहिर हैं।

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें