नमस्कार मित्रो यह आर्टिकल mahila utpidan ki sikayat kaha kare इसके बारे में है व यह आर्टिकल मुख्य रूप से महिलाओं के लिए लिखा गया है ताकि अगर महिलाओं को किसी भी प्रकार की समस्या हो तो वो आसानी से उस समस्या की शिकायत कर सके हाल में कई महिलाओं को या लडकियों को इसके बारे में जानकारी नही होती की वो अपनी शिकायत कहाँ कर सकती है तो इस वजह से उन्हें शिकायत करने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है.

mahila utpidan ki sikayat kaha kare

हाल में इस डिजिटल दुनिया में आप कई तरह के कार्य घर बैठे कर सकते है व हाल में आप महिला उत्पीडन से जुडी किसी भी प्रकार की शिकायत करना चाहते है तो आपको किसी भी कार्यालय तक जाने की जरुरत नही है क्युकी आप घर बैठे भी इस तरह की कोई भी शिकायत दर्ज करवा सकते है इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप mahila utpidan ki sikayat kaha kare आर्टिकल को ध्यान से पढ़े.

Mahila Utpidan Ki Sikayat Kaha Kare

भारत में एक बहुत ही प्राचीन कहावत है की यत्र नार्यस्तु पूज्यंते, रमंते तत्र देवता। अर्थात जहां नारी की पूजा होती है परन्तु हाल में बेहद ही कम औरतो को उनकी इच्छानुसार मानसम्मान मिल पाता है वही कई महिलाओं को तो अलग अलग तरह से प्रताड़ित भी किया जाता है व अक्सर इसके बारे में हम सभी लोग समाचार पत्र आदि में देखते रहते है.

अगर किसी भी महिला को कोई प्रताड़ित करता है या उसके साथ दुर्व्यवहार करता है तो महिलाए इसकी शिकायत कर सकती है व इसके लिए सरकार के द्वारा महिला आयोग का गठन किया गया है जिसका मुख्य कार्य महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करना है व कोई भी किसी भी उम्र की महिलाए किसी भी तरह की शिकायत महिला आयोग में निशुल्क दर्ज करवा सकती है.

रास्ट्रीय महिला आयोग क्या है

सबसे पहले हम आपको इसके बारे में बता देते है की आखिर यह महिला आयोग क्या होता है तो इसकी स्थापना आज से लगभग 30 वर्ष पहले राष्ट्रीय महिला आयोग अधिनियम अर्थात national women commission act-1990 के अंतर्गत सन् 1992 में हुई थी व इसकी स्थापना का उद्देश्य महिला अधिकारों की रक्षा करना, उनका हनन होने से रोकना, महिलाओं की सुरक्षा करना और उनकी स्थिति में सुधार लाना आदि था.

सर्वप्रथम 31 जनवरी, 1992 को महिला आयोग का गठन किया गया था जिसके प्रथम अध्यक्ष जानकी पटनायक थी व इसके बाद दूसरी बार महिला आयोग का गठन जुलाई 1995 को किया गया था जिसके अध्यक्ष डॉ मोहिनी गिरी थी.

महिला आयोग के कई तरह के अलग अलग कार्य होते है उसमे से कुछ मुख्य कार्य के बारे में हम आपको बता रहे है जो की निम्न प्रकार से है.

  • महिलाओं के अधिकारों के हनन से जुडी शिकायतों की जाँच करना और उचित कार्यवाही करना.
  • महिलाओं के साथ भेदभाव और अत्याचार से जुडी स्थिति की जाँच करना और कार्यवाही करना.
  • महिलाओं के आर्थिक विकास के लिए योजनाये बनाना.
  • केंद्र एवं राज्य के अधीन महिलाओं के विकास प्रगति का मूल्यांकन करना.
  • महिलाओं के समस्त कठिनाइयो की सरकार को रिपोर्ट देना.
  • जेल, सुधार गृह, महिलाओं की संस्था अथवा अभिरक्षा के स्थान आदि में बंदी महिलाओं की देखरेख करना और निरिक्षण करवाना.

महिला आयोग में ऑनलाइन शिकायत कैसे करें

महिला आयोग में ऑनलाइन शिकायत करने के लिए सबसे पहले आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट https://ncwapps.nic.in पर जाए इसके बाद आपको होमपेज पर  click here to register a complaint का विकल्प दिखाई देगा आपको उसके ऊपर क्लिक कर देना है.

अब आपके सामने complaints registration form खुल जायेगा उसमे आपको मांगी गयी सभी जानकारी भरनी होती है जैसे की शिकायतकर्ता का नाम, पता, राज्य, पिन कोड, ईमेल, मोबाइल नंबर, आदि जानकारी सही सही भरनी है उसके बाद पीडिता का विवरण में कहा जायेगा की शिकायतकर्ता ही पीड़ित है तो उसमे आप हाँ या ना भर दे व अगर आप ना सेलेक्ट करते है तो पीडिता की जानकारी भी आपको इसमें दर्ज करनी होती है.

प्रतिवादी का विवरण – इसमें आपको प्रतिवादी का विवरण भरना होता है व उसकी सभी जानकारी जैसे नाम, पता, जिला, राज्य, पिन कोड, ईमेल, मोबाइल नंबर आदि भरना है.

शिकायत का विवरण – इसमें आपको अपनी शिकायत का पूरा विवरण देना है और आप जो शिकायत कर रहे है वो किसी भी कोर्ट के समक्ष लंबित है या नहीं व अगर हां तो परिवाद संख्या आदि दर्ज करनी होती है.

घटना की जानकारी – अब आपको घटना की पूरी जानकारी लिखने के लिए कहा जायेगा उसमे आपको अपनी समस्या के बारे में पूरी जानकारी लिखनी है व समय और घटना स्थल आदि के बारे में भी जानकारी देनी होती है व इसके बाद आप केप्चा कोड को सोल्व करके शिकायत को सबमिट कर दे.

रसीद सेव करें – जैसे ही आप अपनी शिकायत सबमिट करते है तो इसके बाद आपको रसीद (receipt) संख्या  आवंटित की जाती है उसे आप कही भी सेव करके अपने पास सुरक्षित रख ले व इसके द्वारा आप कभी भी आसानी से अपनी शिकायत का स्टेटस देख पायेगे.

हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत कैसे करें

अगर आप चाहे तो महिला आयोग के हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके भी अपनी शिकायत को दर्ज करवा सकते है इसके लिए आप complaintcell-ncw@nic.in ईमेल पर अपनी शिकायत दर्ज कर सकते है या 91-11 26944880, 91-11 26944883 नंबर पर कॉल करके अपनीं शिकायत को दर्ज करवा सकते है व इन नंबर पर कॉल करके आप किसी भी प्रकार की महिला आयोग से जुडी जानकारी भी प्राप्त कर सकते है.

Calculation – इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको mahila utpidan ki sikayat kaha kare इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है.
पिछला लेखKisan Net – Ganna Parchi Calender कैसे देखते है
अगला लेखMy Jio Login कैसे करें व Jio Account कैसे बनाये
मै रघुवीर चारण PMO Yojana का संस्थापक हूँ हमें लेख लिखना व किताब पढ़ना बेहद पसंद है है हम शिक्षा, कंप्यूटर, मोबाइल, सरकारी नौकरी, नई योजनाओं व इस प्रकार की अन्य कई जानकारी इस Website पर लिखते है

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें