लोको पायलट कैसे बनें: आवश्यक योग्यता, चयन प्रक्रिया और वेतन

आज हम आपको लोको पायलट कैसे बनें इसके बारे में बता रहे है। आकार कई लोगो का सपना होता है की वो रेलवे में लोको पायलट के पद पर नौकरी प्राप्त करें। लेकिन अधिकांश लोगो को इसकी सही जानकारी पता नही होती की हम किस प्रकार से एक लोको पायलट बन सकते है। अगर आप लोको पायलट बनना चाहते है तो यह जानकारी आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकती है।

लोको पायलट कैसे बनें

लोगो पायलट का पद बहुत ही जिम्मेदारी वाला पद माना जाता है। इसलिए लोको पायलट बनने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी और लोगो पायलट से जुडी सटीक जानकारी प्राप्त करनी होगी। अगर आप इससे जुडी विस्तृत जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो लोको पायलट कैसे बनें यह लेख ध्यान से पढ़े।

लोको पायलट कैसे बनें?

भारतीय रेलवे में लोको पायलट एक महत्वपूर्ण पद है। लोको पायलट ट्रेनों को चलाने और यात्रियों और माल को सुरक्षित रूप से उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए जिम्मेदार होते हैं। लोको पायलट बनने के लिए कई योग्यताएं और चयन प्रक्रियाएं पूरी करनी होती हैं।

लोको पायलट बनने के लिए आवश्यक योग्यताएं

लोको पायलट बनने के लिए कई प्रकार की आवश्यक योग्यताएं रखी गयी है, जिन्हें आपको पूरा करना आवश्यक है। हम आपको लोको पायलट बनने के लिए आवश्यक योग्यता बता रहे है जो की निम्न प्रकार से है:

  • उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 30 वर्ष होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार ने किसी मान्यताप्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण की हो।
  • उम्मीदवार ने किसी मान्यताप्राप्त संस्थान से मैकेनिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स या ऑटोमोबाइल में 2 वर्ष का आईटीआई कोर्स किया हो।
  • उम्मीदवार शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।

लोको पायलट के लिए आवेदन कैसे करें

लोको पायलट बनने के लिए सबसे पहले तो आपको इसमें आवेदन करना होता है। इसमें आप ऑनलाइन तरीके से आवेदन कर सकते है।  इसके आवेदन पत्र भारतीय रेलवे बोर्ड के द्वारा निकाले जाते है।  इसके आवेदन पत्र जारी होने पर आप इसमें ऑनलाइन तरीके से आवेदन कर सकते है।

लोको पायलट बनने की चयन प्रक्रिया

लोको पायलट की चयन प्रक्रिया 3 अलग अलग चरणों में रखी गयी है। अगर आप इन चयन प्रक्रिया को पूरा कर लेते है तो इसके बाद आप इस पद पर नौकरी प्राप्त कर सकते है। इसके लिए निम्न प्रकार की योग्यता रखी जाती है:

  • लिखित परीक्षा
  • साक्षात्कार
  • मेडिकल परीक्षा

लिखित परीक्षा

लिखित परीक्षा 120 अंकों की होती है और इसमें 90 मिनट का समय दिया जाता है। परीक्षा में ऑब्जेक्टिव प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं। इसमें गणित, सामान्य ज्ञान, सामान्य विज्ञान और तकनीकी क्षमता के प्रश्न पूछे जाते हैं।

साक्षात्कार

लिखित परीक्षा में सफल होने वाले उम्मीदवारों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। साक्षात्कार में उम्मीदवार के व्यक्तित्व, अनुशासन और ज्ञान की जांच की जाती है।

मेडिकल परीक्षा

साक्षात्कार में सफल होने वाले उम्मीदवारों को स्वास्थ्य की जांच करने के लिए बुलाया जाता है। मेडिकल परीक्षा में उम्मीदवार के स्वास्थ्य की जांच की जाती है। जो उम्मीदवार मानसिक और शारीरिक रूप से फिट होते हैं, उन्हें इसमें सफल घोषित किया जाता है।

लोको पायलट की सैलरी

लोको पायलट की सैलरी 52,000 रुपये से 20,000 रुपये प्रति माह तक होती है। इसके अलावा, उन्हें अन्य भत्ते भी दिए जाते हैं, जैसे कि आवास, महंगाई भत्ता, फ्री रेल यात्रा और मेडिकल सुविधाएं।

लोको पायलट बनने के लिए तैयारी कैसे करें?

लोको पायलट बनने के लिए इसकी बेहतर तरीके से तैयारी करनी जरूरी है। इसके लिए आप निम्नलिखित बातों का ध्यान रख सकते हैं:

  • 10वीं और ITI (मैकेनिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स या ऑटोमोबाइल) की पढ़ाई पूरी करें।
  • लिखित परीक्षा की तैयारी के लिए अच्छे कोचिंग संस्थान से जुड़ें।
  • इंटरव्यू की तैयारी के लिए मानसिक रूप से तैयार रहें।
  • ऑनलाइन पढाई करने का प्रयास करे।
  • मेडिकल परीक्षण के लिए शारीरिक रूप से स्वस्थ रहें।

लोको पायलट बनना एक चुनौतीपूर्ण लेकिन सम्मानजनक पेशा है। अगर आप लोको पायलट के रूप में अपना भविष्य बनाना चाहते है तो इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी और पूरी लगन से कार्य करना होगा।

पिछला लेखNDA Full Form in Hindi | राष्ट्रीय रक्षा अकादमी क्या है?
अगला लेखBariffa X: मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए होम्योपैथिक दवा
आराध्या सिंह
अराधिका एक उत्साही और प्रेरणादायक करियर काउंसलर हैं। वे हमेशा अपने ग्राहकों को उनके सपनों को पूरा करने में मदद करने के लिए तैयार रहती हैं।

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें