लेबर कोर्ट में शिकायत कैसे करें: ऑनलाइन और ऑफलाइन प्रक्रिया

आज हम आपको लेबर कोर्ट में शिकायत कैसे करें, इसके बारे में बताने वाले हैं। अगर किसी भी कर्मचारी को उसका मालिक, उसके उच्च अधिकारी या किसी अन्य व्यक्ति द्वारा परेशान किया जाता है, तो वह कर्मचारी लेबर कोर्ट में शिकायत दर्ज करा सकता है। हालांकि, ज्यादातर लोगों को इसकी सही जानकारी न होने के कारण वे इसमें शिकायत दर्ज नहीं करा पाते हैं।

लेबर कोर्ट में शिकायत कैसे करें

सभी कर्मचारियों के लिए लेबर कोर्ट में शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया को काफी ज्यादा आसान रखा गया है। अगर आपको लेबर कोर्ट में शिकायत दर्ज करनी है, तो आप ऑनलाइन या ऑफलाइन तरीके से शिकायत दर्ज कर सकते हैं। लेबर कोर्ट में शिकायत दर्ज करने से जुडी विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए  लेबर कोर्ट में शिकायत कैसे करें यह लेख ध्यान से पढ़े।

लेबर कोर्ट में शिकायत कैसे करें?

भारत में श्रमिकों के अधिकारों की रक्षा के लिए लेबर कोर्ट की स्थापना की गई है। लेबर कोर्ट में कोई भी कर्मचारी अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है, चाहे वह निजी क्षेत्र में कार्यरत हो या सरकारी क्षेत्र में। अगर आप लेबर कोर्ट में अपनी शिकायत दर्ज करना चाहते है तो आपको कुछ आसान सी प्रक्रिया को फॉलो करना होगा जिसके बारे में हम आपको बताने जा रहे है।

लेबर कोर्ट में शिकायत कब करें?

सबसे पहले तो आपको यह पता होना चाहिए की आखिर आप किस प्रकार की समस्या होने पर लेबर कोर्ट में अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है। हम आपको कुछ मुख्य कारण बता रहे है अगर आपको इस प्रकार की समस्या है तो आप लेबर कोर्ट में अपनी शिकायत दर्ज कर सकते है।

  • नौकरी से निकाल दिया जाना
  • वेतन का भुगतान न होना या कम वेतन देना
  • श्रम कानूनों का उल्लंघन
  • दुर्व्यवहार या उत्पीड़न

लेबर कोर्ट में शिकायत दर्ज करने का तरीका

लेबर कोर्ट में आप दो अलग अलग तरीके से अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है। अगर आप चाहे तो ऑनलाइन या ऑफलाइन तरीके से इसमें अपनी शिकायत दर्ज कर सकते है इसके लिए आपको निम्न तरीका अपनाना होगा:

लेबर कोर्ट में ऑनलाइन शिकायत कैसे करें

अगर आप घर बैठे अपनी शिकायत दर्ज करना चाहते है तो ऐसे में आप ऑनलाइन तरीका अपना सकते है। ऑनलाइन शिकायत करने के लिए आपको निम्न प्रक्रिया अपनानी होगी:

  • श्रम मंत्रालय की वेबसाइट पर जाए
  • “शिकायत दर्ज करें”  के विकल्प पर क्लिक करें
  • अपनी समस्या विस्तृत रूप से दर्ज करें
  • अपना नाम, पता, संपर्क नंबर दर्ज करें
  • शिकायत से जुड़े दस्तावेजो की प्रति अपलोड करें
  • अंत में सबमिट के ऊपर क्लिक करें

जैसे ही आप सबमिट के ऊपर क्लिक करेगे तो इसके बाद आपकी शिकायत सफलतापूर्वक सबमिट हो जाएगी। इसके बाद जल्दी ही आपकी शिकायत के ऊपर कार्यवाही शुरू कर दी जाएगी।

लेबर कोर्ट में ऑफलाइन शिकायत करना

अगर आप चाहे तो लेबर कोर्ट में ऑफलाइन तरीके से भी शिकायत दर्ज करवा सकते है। इसके लिए सबसे पहले आपको क्षेत्रीय लेबर कमिश्नर कार्यालय में जाना होगा। वहां पर आप अपनी शिकायत लिखित रूप से दर्ज करवा सकते है एवं आप अपनी शिकायत के साथ आवश्यक दस्तावेज भी अपलोड कर दे ताकि आपकी शिकायत के ऊपर जल्दी कार्यवाही शुरू की जा सके।

लेबर कोर्ट में शिकायत के लिए आवश्यक दस्तावेज:

लेबर कोर्ट में शिकायत दर्ज करने के लिए आपको कुछ आवश्यक दस्तावेजो की जरुरत पडती है। इसके लिए आपके पास निम्न प्रकार के दस्तावेज होने चाहिए:

  • पहचान पत्र (आधार कार्ड, पैन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, आदि)
  • पता प्रमाण (राशन कार्ड, बिजली बिल, आदि)
  • नौकरी का प्रमाण (नियुक्ति पत्र, सेवा पुस्तिका, आदि)
  • शिकायत का विवरण

लेबर कोर्ट में शिकायत की सुनवाई:

लेबर कोर्ट में शिकायत की सुनवाई एक अध्यक्ष और दो सदस्यों की एक पीठ करती है। सुनवाई के दौरान शिकायतकर्ता को अपनी शिकायत का समर्थन करने के लिए सबूत पेश करने का अवसर दिया जाता है। अगर आपकी शिकायत वैध पायी जाती है तो जल्दी ही आपकी समस्या का समाधान निकाला जाता है।

लेबर कोर्ट में शिकायत का फैसला:

लेबर कोर्ट की पीठ शिकायत के आधार पर अपना फैसला देती है। यदि शिकायत सही पाई जाती है, तो पीठ आदेश दे सकती है कि कंपनी को शिकायतकर्ता को नुकसान की भरपाई करे या अन्य उचित कार्रवाई करे। लेबर कोर्ट के द्वारा दिया गया फैसला सर्वमान्य होता है।

लेबर कोर्ट में शिकायत की प्रक्रिया:

जब आप लेबर कोर्ट में शिकायत दर्ज करते है तो इसके बाद आपको एक शिकायत संख्या दी जाती है। इसके साथ ही शिकायतकर्ता को सुनवाई की तारीख और समय के लिए सूचित किया जाता है। जब आप लेबर कोर्ट में शिकायत करते है तो इसके बाद आपको शिकायत का समर्थन करने वाले सबूत पेश करना का अवसर भी दिया जाता है, इसके साथ ही आप जिस कंपनी के खिलाफ शिकायत कर रहे है उस कंपनी को भी अपने सबूत पेश करने का अवसर दिया जाता है।

इसके बाद दोनों पक्षों के सबूत को देखते हुए लेबर कोर्ट की पीठ अपना फैसला सुनाती है। यह फैसला लेबर कोर्ट के द्वारा लिखित रूप से जारी किया जाता है और आपकी समस्या का सही समाधान निकाला जाता है।

लेबर कोर्ट में शिकायत का निपटान:

लेबर कोर्ट का फैसला अंतिम होता है। यही कोई पक्ष लेबर कोर्ट के फैसले से संतुष्ट नहीं है तो इस स्थिति में वो हाई कोर्ट में अपनी अपील दर्ज करवा सकता है। इसके बाद हाई कोर्ट के द्वारा उस शिकायत के ऊपर दुबारा से फैसला सुनाया जाता है।

लेबर कोर्ट में शिकायत के लिए सहायता:

अगर आपको लेबर कोर्ट में शिकायत दर्ज करने की जानकारी पता नही है तो ऐसे में आप किसी अच्छे वकील या श्रमिक संगठन से संपर्क करके उचित सहायता और साही मर्गादार्शन प्राप्त कर सकते है। इससे आपको शिकायत दर्ज करने में आसानी होगी।

इस लेख में हमने आपको लेबर कोर्ट में शिकायत कैसे करें इसके बारे में जानकारी प्रदान की है हमे उम्मीद है आपको यह जानकारी उपयोगी लगी होगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी प्रकार का सवाल पूछने के लिए आप कमेंट कर सकते है।

पिछला लेखCGL Full Form In Hindi: जानिए इस परीक्षा के बारे में सब कुछ
अगला लेखWhatsApp Status में विडियो कैसे डाले? सबसे आसान तरीका
MS राजपुरोहित
MS राजपुरोहित एक अनुभवी वकील हैं, जिनके पास 6 से अधिक वर्षों का अनुभव है। वे नागरिक और आपराधिक कानून के क्षेत्र में विशेषज्ञ हैं। वे अपने ग्राहकों को उनके कानूनी अधिकारों की रक्षा करने और न्याय प्राप्त करने में मदद करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें