नमस्कार मित्रो आज हम आपको KYC Full Form in Hindi के बारे में बताने वाले है अक्सर बहुत से लोगो को इसके बारे में पता नही होता की केवाईसी क्या होता है और केवाईसी कैसे किया जाता है तो ऐसे में यह जानकारी आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकती है क्युकी इसमें हम आपको केवाईसी करने की पूरी जानकारी डिटेल्स में बताने वाले है ताकि आपको इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो सके.

KYC Full Form in Hindi

अक्सर बहुत से लोगो के मन में केवाईसी को लेकर कई तरह के सवाल होते है व बहुत से लोगो को इसके पुरे नाम के बारे में जानकारी नहीं होती जबकि आपको इसके बारे में विस्तृत जानकारी पता होना बेहद ही आवश्यक है अगर आपको केवाईसी के बारे में जानकारी नहीं है तो KYC Full Form in Hindi आर्टिकल आपके लिए बेहद ही फायदेमंद साबित हो सकता है इसके बारे में जानने के लिए आप इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़े.

KYC Full Form in Hindi

केवाईसी क्या होता है और किसे कहा जाता है इसके बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पुरे नाम के बारे में बता रहे है की आखिर इसका हिंदी और अंग्रेजी में पूरा नाम क्या होता है.

KYC Full Form in Hindi – Know Your Customer.

हिंदी में इस शब्द का अर्थ होता है ‘ग्राहक को जानिये’ यह किसी भी व्यक्ति की सही पहचान करने का एक तरीका होता है व लगभग हर एक व्यक्ति इसे केवाईसी के रूप में ही जानते है क्युकी इस शब्द को बोलने में आसानी होती है और इस शब्द को आसानी से याद भी रखा जा सकता है.

KYC क्या है

कई लोगो को इसके बारे मे पता नही होता की KYC  होता क्या हैं तो ये एक दस्तावेज होते हैं जो की किसी व्यक्ति की पहचान का एक आधा‌र होते हैं इसमे बहुत सारे डॉक्यूमेंट हो सकते हैं जिसके बारे मे हम आपको इस आर्टिकल मे बताने वाले है.

अगर आप बैक मे खाता खुलवाने या अन्य किसी कारण से जाते हैं तो वहा आपसे KYC मांगा जाता हैं क्युँकि उसके आधार पर ही आपकी पहचान होती हैं उसमे एक कोड होता हैं जिसे स्कैन करने  के बाद आपकी पूरी जानकारी प्राप्त की जा सकती हैं मुख्य रुप से KYC का उपयोग आपके स्थायी पते के प्रमाण के लिए किया जाता हैं.

KYC के रूप में कई सारे डॉक्यूमेंट हो सकते हैं इसमें आधार कार्ड, पहचान पत्र, पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस अदि सभी KYC में माने जाते हैं इसमें वो सभी दस्तावेज हो सकते है जो राज्य सरकार या केंद्र सरकार के द्वारा जारी किये गये हो और जिस दस्तावेज से आपकी पहचान की जा सके.

KYC कैसे बनाये

हर एक कार्य के लिए KYC करने की प्रक्रिया अलग अलग होती है लेकिन हाल में ज्यादातर KYC ऑनलाइन ही किये जाते है जिससे की समय और पैसे दोनों की बचत होती है अगर आप अपना KYC करवाना चाहते है तो जब भी आप अपना KYC करवाने जाते है या इसका फॉर्म भरते है तो इसके साथ ही आपको अपने कुछ आवश्यक डॉक्यूमेंट भी दिखाने होते है अगर आपके पास निम्न दस्तावेज है तो इसके बाद आप आसानी से KYC कर सकते है.

  • पहचान प्रमाण – पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट कॉपी, वोटर आईडी, आधार कार्ड या बैंक पासबुक की कॉपी इन सभी का आप KYC के रूप में इस्तमाल कर सकते है..
  • पते का प्रमाण पत्र – अभी प्राप्त हुआ लैंडलाइन या मोबाइल बिल, बिजली बिल, पासपोर्ट कॉपी, अभी की डीमैट अकाउंट स्टेटमेंट, नवीनतम बैंक पासबुक, राशन कार्ड, वोटर आईडी, किराये का समझौता, ड्राइविंग लाइसेंस या आधार कार्ड आदि.

अगर किसी भी व्यक्ति के पास अपने डॉक्यूमेंट नहीं है और वो अपना KYC करना चाहता है तो इसके लिए सबसे पहले उसे अपने आवश्यक डॉक्यूमेंट बनाने होता है जिसे देखकर वो अपना KYC कर सके इसके बाद जैसे ही उसे अपने बनाये गये डॉक्यूमेंट प्राप्त हो जाते है तो बादमे वो आसानी से KYC करवा सकता है इसमें कुछ दिन का समय लग सकता है.

ऑनलाइन आप कोई डॉक्यूमेंट बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको उससे सम्बनधित ऑफिसियल वेबसाइट कर जाना होगा उसमे आपको online apply का ऑप्शन मिल जाएगा आपको उसके ऊपर क्लिक कर देना हैं उसके बाद आप मांगी गयी सभी जानकारी सही सही भर ले व आपसे जो भी डॉक्यूमेंट मांगे जाते हैं वो सभी आपको स्कैन कर के अपलोड कर देने है.

इसके बाद आपको  फॉर्म सबमिट करना होता है जैसे की आप फॉर्म को सबमिट करते है तो इसके बाद आपको उसमे डॉक्यूमेंट बनाने की जो फीस होती है वो जमा करने के लिए कहा जायेगा उसमे आप क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड आदि के माध्यम से फीस जमा करवा सकते है एवं जब आप फीस जमा कर देते है तो इसके बाद आपका फॉर्म सबमिट हो जायेगा इसके बाद आपको कुछ ही दिनों में पोस्ट के माध्यम से आपका वो डॉक्यूमेंट प्राप्त हो जायेगा जिसके लिए आपने आवेदन किया है

KYC के लिए डॉक्यूमेंट

अगर आप किसी भी प्रकार का केवाईसी करवाना चाहते है तो इसके लिए आपके पास कुछ आवश्यक डॉक्यूमेंट होने अनिवार्य है इसके बाद ही आप अपना केवाईसी करवा सकते है इसके लिए आपके पास राज्य सरकार या केंद्र सरकार द्वारा जारी किया गया दस्तावेज होना चाहिए जिसमे आपका नाम, जन्म तारीख, पता, फोटो आदि होने चाहिए जिससे की एक व्यक्ति की साही से पहचान की जा सके इसके लिए हम आपको कुछ डॉक्यूमेंट के नाम बता रहे है अगर आपके पास यह दस्तावेज है तो आप आसानी से अपनी केवाईसी करवा सकते है.

  • पासपोर्ट
  • मतदाता पहचान पत्र
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड

KYC Verification के लिए भारत सरकार ने आधार कार्ड कि विशेष महत्व दिया हैं उसका उपयोग आप किसी भी जगह बहुत आसानी से कर सकते हैं उसके अलावा आवश्यकता पडने पर आप मतदान पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड आदि से भी अपना वेरिफिकेशन सकते हैं.

पहले कोई भी डॉक्युमेंट बनाने के लिए काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था पर अब आप जो भी डॉक्यूमेंट बनाना चाहो वो आप बहुत आसानी से ऑनलाइन तरीके से बना सकते हैं इसमें आपके समय और पैसे की भी बचत होती हैं जिसके कारण ज्यदातर लोग KYC बनाने के ऑनलाइन तरीका ही इस्तमाल करते है.

केवाईसी कितने प्रकार का होता है

हर एक व्यक्ति को इसके बारे में पता होना बहुत ही जरुरी है की केवाईसी 2 अलग अलग प्रकार का होता है जो की निम्न प्रकार से है.

  • आधार आधारित केवाईसी
  • इन-पर्सन-वेरिफिकेशन केवाईसी

आधार पर आधारित केवाईसी ऑनलाइन करवाया जाता है इसमें ऑनलाइन वेरिफिकेशन किया जाता है एवं इस वेरिफिकेशन के बाद व्यक्ति हर वित्त वर्ष में 50,000 रु. रूपए का निवेश करने की अनुमति प्रदान करती है.

अगर कोई भी व्यक्ति प्रतिवर्ष विशिष्ट फंड में अधिक निवेश करना चाहता हो उसे अपना इन-पर्सन-वेरिफिकेशन करवाना होता है इसके लिए आप फंड हॉउस या केवाईसी रजिस्ट्रेशन एजेंसी से संपर्क कर सकते है.

अगर कोई भी व्यक्ति म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्ट करने में रूचि रखता है या जो म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्ट करना चाहता है उसे विडियो KYC करने की अनुमति दी जाती है इसमें आप विडियो KYC करने के बाद 50,000 रु. रूपए से अधिक का निवेश करने में सक्षम हो सकते है और अधिक निवेश कर सकते है.

आधार कार्ड केवाईसी कैसे करें

अगर आप आधार कार्ड का केवाईसी करना चाहते है तो यह प्रोसेस काफी ज्यादा आसान है आप अपने आधार कार्ड का केवाईसी केवल 2 मिनिट में करवा सकते है इसके लिए आप हमारे बताये गये तरीके को फॉलो करें.

  • सससे पहले आपको किसी भी KRA अथवा फंड हाउस के पोर्टल में जाना होता हैं.
  • इसके बाद आपको KYC का विकल्प मिलेगा उसम आपको जाना है.
  • इसके बाद आपको बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होता है.
  • अब आपको फंड हाउस का कार्यकारी फॉर्म सम्बंधित पते पर जाता है.
  • इसके बाद आपको अपने मूल दस्तावेज दिखाने होते है और बायोमेट्रिक प्रदान करना होता है.
  • इसके बाद आपका आवेदन जमा हो जाता है और आप बेहद ही आसानी से केवाईसी करवा सकते है.

यह प्रोसेस फॉलो करके आप बहुत ही आसानी से अपना केवाईसी करवा सकते है यह तरीका काफी ज्यादा आसान होने के साथ साथ सुरक्षित भी है आधार का केवाईसी आप ऑनलाइन तरीके से ही करवा सकते है.

KYC क्यों आवश्यक है

KYC कई अलग अलग कारणों से आवश्यक मानी जाती है जैसे की अगर आपको किसी भी बैंक में अकाउंट खोलना हो या आपको कोई भी फिक्स डिपाजिट करना हो तो ऐसे में आपको KYC करवाना जरुरी है एवं अगर आप किसी भी योजना आदि में आवेदन करना चाहते है या किसी सरकारी योजना का लाभ लेना चाहते है तो इसमें भी आपको KYC करवाने के लिए कहा जाता है इसके बाद ही आप इस प्रकार के कार्य कर सकते है इस तरह से यह कई तरह के अलग अलग कार्यो में आवश्यक माना जाता है.

Calculation – इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको KYC Full Form in Hindi क्या होता है और KYC किसको कहते है व कैसे बनाते है इसके बारे में बताने की कोशिश की है अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करे व अगर आप किसी प्रकार का सवाल पूछना चाहते है तो आप हमे कमेंट भी कर सकते है.

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें