नमस्कार मित्रो आज हम आपको Kundli Kaise Dekhe इसके बारे में बताने वाले है अगर आप किसी भी व्यक्ति की कुंडली देखना चाहते है तो बेहद ही आसानी से कुंडली देख सकते है इसके लिए आपको कुछ आवश्यक बातो को ध्यान में रखना होता है तभी आप कुंडली देख सकते है और कुंडली को समझ सकते है हम आपको इस आर्टिकल में जन्म कुंडली देखने का पूरा तरीका बताने वाले है जिसे अपनाकर आप बेहद ही आसानी से अपनी जन्म कुंडली पढ़ना सीख सकते है.

Janam Kundli Kaise Dekhe

अक्सर ज्यादातर लोगो को इसके बारे में पता नही होता की हम अपनी या किसी भी दुसरे व्यक्ति की जन्म कुंडली कैसे देख सकते है तो ऐसे में लोग किसी ज्योतिष से संपर्क करते है और उनसे जन्म कुंडली पढवाते है जबकि आप चाहे तो खुद भी बेहद ही आसानी से किसी भी जन्म कुंडली को पढ़ सकते है इसके लिए पहले आपको जन्म कुंडली पढना सीखना होगा आप चाहे तो हमारे बताये गये तरीके को अपनाकर आसानी से जन्म कुंडली पढना  सीख सकते है इसके बारे में जानने के लिए आप Kundli Kaise Dekhe यह आर्टिकल ध्यान से पढ़े.

Kundli Kaise Dekhe

जन्म कुंडली को जन्म पत्रिका के नाम से भी जाना जाता है इसका अर्थ आकाश की स्थिति से होता है जब किसी भी बालक या बालिका का जन्म होता है तो उस वक्त ग्रहों की स्थिति क्या थी उसको ध्यान में रखते हुए जन्म पत्रिका बनायीं जाती है इसके माध्यम से यह पता लगाया जाता है की जातक के जीवन पर 9 ग्रहों और 12 राशियों का क्या प्रभाव पड़ेगा और आने वाला समय जातक के लिए किस प्रकार का होगा इसके साथ ही वो जातक अपने जीवन में कौन कौनसे लाभ प्राप्त कर सकता है इसके बारे में जन्म पत्रिका से पता लगाया जा सकता है.

जब भी जन्म पत्रिका बनायी जाती है तब किसी भी जातक के जन्म के समय ग्रहों एवं नक्षत्रों की स्थिति को ध्यान में रखा जाता है एवं जन्म कुंडली बनाने के लिए कुल 12 खानों का निर्माण किया जाता है जिसे ज्योतिष भाषा में भाव के नाम से भी जाना जाता है एवं किसी भी व्यक्ति की कुंडली तैयार करने के लिए कुल 12 राशियों का उपयोग किया जाता है जिसमे प्रत्येक राशि के लिए अलग अलग भाव लिखे जाते है और हर भाव की एक अलग राशि होती है इसी कारण जन्म पत्रिका के द्वारा जातक के भुत भविष्य और वर्त्तमान काल के बारे में पता लगाया जाता है.

 कुंडली में शामिल किये जाने वाले ग्रह

बहुत से लोगो को पता नही होगा की कुंडली में कुल कितने ग्रह शामिल किये जाते है या कुंडली में शामिल किये जाने वाले ग्रहों के नाम क्या क्या होते है तो ऐसे में हम आपको उन सभी ग्रहों के नाम बता रहे है जो  की कुंडली में शामिल किये जाते है जो की निम्न प्रकार से है.

  • सूर्य ग्रह
  • चन्द्र ग्रह
  • मंगल ग्रह
  • बुध ग्रह
  • शुक्र ग्रह
  • शनि ग्रह
  • राहू ग्रह
  • केतु ग्रह
  • बृहस्पति ग्रह

यह सभी ग्रह कुंडली बनाते वक्त उसमे शामिल किये जाते है और इस बात का भी ध्यान रखा जाता है की जब जातक का जन्म हुआ था उस वक्त इन ग्रहों की स्थिति क्या थी इससे जातक के जीवन के बारे में पता लगाया जाता है.

कुंडली के भाव

प्रत्येक जातक की कुंडली में 12 अलग अलग भाव होते है और उन सभी का महत्त्व भी अलग अलग होता है हम आपको कुंडली के सभी भावो के नाम बता रहे है और उनका अर्थ क्या होता है इसके बारे में भी बता रहे है ताकि आपको सभी भावो के बारे में पता चल सके.

  • प्रथम भाव – कुंडली में जो पहला भाव होता है वो “स्व” का भाव होता है.
  • दूसरा भाव – कुंडली में दूसरा भाव धन, परिवार, पहलुओं पर शासन करता है.
  • तीसरा भाव – कुंडली में जो तीसरा भाव है वह “भाई-बहन”, “साहस” और “वीरता” का भाव होता है.
  • चौथा भाव –  कुंडली में जो चौथा भाव है वह “माँ” और “खुशी” का भाव है.
  • पंचम भाव – कुंडली में जो पांचवा भाव है वह “ज्ञान” एवं “बच्चो” का भाव है.
  • छठा भाव – कुंडली में जो छठा भाव है वह “शत्रु”, “कर्ज” एवं “बीमारियों” का भाव है.
  • सप्तम भाव – कुंडली में जो सातवा भाव है वह “विवाह” एवं “साझेदारी” का भाव है.
  • आठवां भाव – कुंडली में जो आँठवा भाव है वह घर “दीर्घायु” और “आयु” का भाव है.
  • नवम भाव – कुंडली में जो नौवा भाव है वह “भाग्य”, “पिता” एवं “धर्म” का भाव है.
  • दसवां भाव – कुंडली में जो दसवा भाव है वह “कैरियर या पेशे” का भाव है.
  • एकादश भाव – कुंडली में जो ग्यारवा भाव है जातक की “आय और लाभ” का भाव है.
  • बाहरवा भाव – कुंडली में जो बाहरवा भाव है “व्यय और हानि” का भाव होता है.

कुंडली के सभी भाव निम्न प्रकार से होते है व सभी भावो का अर्थ अलग अलग होता है इन्ही भावो से किसी भी जातक की कुंडली बनायी जाती है अगर आप किसी भी जन्म कुंडली को देखोगे तो उसमे आपको यह भाव जरुर देखने के लिए मिलेगे.

कुंडली की राशि और उसके स्वामी

किसी भी कुंडली में राशि बेहद ही महत्वपूर्ण होती है व हर जातक की अलग अलग राशि होती है इस कारण से उनके राशि के देवता भी अलग अलग होते है यह राशि व्यक्ति के स्वभाव और जीवन के बारे में दर्शाती है हम आपको सभी राशियों एवं उनके स्वामी के बारे में बता रहे है जो की निम्न प्रकार से है.

  • मेष का स्वामी – मंगल
  • वृष का स्वामी – शुक्र
  • मिथुन का स्वामी – बुध
  • कर्क का स्वामी – चन्द्रमा
  • सिंह का स्वामी – सूर्य
  • कन्या का स्वामी – बुध
  • तुला राशी का स्वामी – शुक्र
  • वृश्चिक का स्वामी – मंगल
  • धनु का स्वामी – गुरु
  • मकर का स्वामी – शनि
  • कुम्भ का स्वामी – शनि
  • मीन का स्वामी – गुरु

नाम से राशि कैसे जाने

अगर आप किसी भी व्यक्ति की राशि जानना चाहते है तो उस व्यक्ति के नाम के पहले अक्षर से उसकी राशि के बारे में जान सकते है इसके लिए हम आपको सभी राशियों के बारे में बता रहे है की कौनसी नाम पर कौनसी राशि लगती है ताकि आपको हर राशि के बारे में पता चल सके.

  • मेष राशि  – नाम का पहला अक्षर चू,चे,चो,ला,ली,लू,ले,लो,अ
  • वृष राशि – नाम का पहला अक्षर ई,उ,ए,ओ,वा,वी,वू,वे,वो
  • मिथुन राशि – नाम का पहला अक्षर क,की,कु,घ,ड,छ,के,को,ह
  • कर्क राशि – नाम का पहला अक्षर हि,हु,हे,हो,डा,डी,डू,डे,डो
  • सिंह राशि – नाम का पहला अक्षर मा,मी,मू,में,मो,टा,टी,टू,टे
  • कन्या राशि – नाम का पहला अक्षर टो,पा,पी,पू,ष,ण,ठ,पे,पो
  • तुला राशि – नाम का पहला अक्षर रा,री,रु,रे,रो,ता,ती,तू,ते
  • धनु राशि – नाम का पहला अक्षर ये,यो,भा,भी,भू,धा,फ,ढ,भे
  • मकर राशि – नाम का पहला अक्षर भो,ज,जा,जी,जे,जो,खा,खी,खु,खे,खो,गा,गी,ज्ञ
  • कुम्भ राशि – नाम का पहला अक्षर गु,गे,गो,सा,सी,सु,से,सो,दा
  • मीन राशि – नाम का पहला अक्षर दी,दू,थ,झ,दे,दो,चा,चि

ऑनलाइन कुंडली कैसे देखे

अगर आप चाहे तो अपने मोबाइल या कंप्यूटर से अपनी ऑनलाइन भी जन्म कुंडली देख सकते है ऑनलाइन जन्म कुंडली देखना काफी ज्यादा आसान होता है इसके लिए इन्टरनेट पर कई तरह की वेबसाइट है जो की आपको ऑनलाइन जन्म कुंडली देखने की सुविधा उपलब्ध करवाती है आप चाहे तो उन वेबसाइट का इस्तमाल कर सकते है या हम आपको जो तरीका बता रहे है आप इस तरीके को अपनाकर अपनी जन्म कुंडली देख सकते है.

  • सबसे पहले आपको अपने मोबाइल में क्रोम ब्राउज़र ओपन करना है इसके बाद आपको अपने क्रोम ब्राउज़र में freekundli लिखकर सर्च करना है.
  • इसके बाद आपके मोबाइल में कई तरह की वेबसाइट दिखाई देगी उसमे से आपको सबसे पहली वेबसाइट पर क्लिक करना है.
  • अब आपके सामने एक पेज ओपन होगा जिसमे आपको एक फॉर्म दिखाई देगा उसमे आपको मांगी गयी जानकारी सही सही दर्ज कर लेनी है
  • फॉर्म में आपको आपका नाम, जन्म तिथि, जन्म का समय आदि इस तरह की जानकारी डालने के लिए कहा जायेगा वो जानकारी डाल दे.
  • इसके बाद आपकी जन्म कुंडली बनकर तैयार हो जाती है और आपकी जन्म कुंडली आपके फोन में ओपन हो जाएगी.
  • इसके बाद आप चाहे तो उसकी प्रिंट निकालकर अपने पास सुरक्षित रख सकते है इसके लिए आप उसकी प्रिंट निकाल ले.

इस प्रकार से आप बेहद ही आसानी से अपने फोन में जन्म कुंडली बना सकते है एवं इस प्रकार से जन्म कुंडली बनाना बिलकुल निशुल्क है इसमें आपको किसी भी प्रकार का पैसा खर्च नहीं करना पड़ता एवं आप जिन जिन लोगो की जन्म कुंडली बनाना चाहते है उनकी जन्म कुंडली इस वेबसाइट के द्वारा बना सकते है इसके लिए आपको किसी भी प्रकार के अनुभव की जरुरत नहीं पडती क्युकी इसमें एक क्लिक में जन्म कुंडली बनकर तैयार हो जाती है,

एप्लीकेशन से जन्म कुंडली कैसे देखे

अगर आप एंड्राइड यूजर है तो आप अपने फोन में एप्लीकेशन इनस्टॉल करके भी जन्म कुंडली को देख सकते है एप्लीकेशन के द्वारा जन्म कुंडली देखना काफी ज्यादा आसान होता है और इसमें आपको किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना भी नहीं करना पड़ता अगर आप एप्लीकेशन के द्वारा जन्म कुंडली देखना चाहते है तो इसके लिए आप हमारे बताये गये इस तरीके को फॉलो कर सकते है और आसानी से अपनी जन्म कुंडली अपने फोन में देख सकते है.

  • सबसे पहले आपको प्ले स्टोर ओपन करना है और उसमे आपको Kundli App-Hindi Kundli लिखकर सर्च करना है
  • इसके बाद आपके सामने सबसे पहला एप्लीकेशन दिखाई देगा आपको उसके ऊपर क्लिक करना है और उसे अपने फोन में इनस्टॉल कर लेना है
  • अब आपको यह एप्लीकेशन ओपन कर लेना है इसके बाद आपको कई तरह के विकल्प मिलेगे उसमें से आपको कुंडली वाले विकल्प पर क्लिक करना है.
  • इसके बाद आपके सामने एक पेज ओपन होगा उसमे आपको नाम, लिंग, जन्म की जानकारी, जन्म समय, जन्म का स्थान आदि डालने के लिए कहा जायेगा इसमें आपको मांगी गयी जानकारी सही सही दर्ज कर लेनी है.
  • जब आप सभी जानकारी सही सही भर लेते है तो इसके बाद आपको कुंडली देखे का विकल्प दिखाई देगा आपको उसके ऊपर क्लिक कर देना है.

इसके बाद आपके फोन में आपकी पूरी कुंडली ओपन हो जाती है इसमें आप बेहद ही आसानी से अपनी पूरी जन्म कुंडली देख सकते है और आप चाहे तो इसको अपने फोन में डाउनलोड भी कर सकते है बादमे आप इसकी प्रिंट निकालकर अपने पास सुरक्षित रख सकते है एप्लीकेशन के द्वारा जन्म कुंडली देखना काफी ज्यादा आसान होता है इसमें आपको किसी भी प्रकार का शुल्क देने की जरुरत भी नही पडती.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको Janam Kundli Kaise Dekhe इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके भी बता सकते है.

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें