नमस्कार मित्रो आज हम आपको Kotedar Ki Sikayat Kaise Kare इसके बारे में बताने वाले है अगर आपके क्षेत्र में कोटेदार द्वारा किसी प्रकार की गलती की जाती है तो आप चाहे तो इसकी ऑनलाइन या कार्यालय द्वारा शिकायत दर्ज भी करवा सकते है यह बहुत ही आसान प्रक्रिया होती है जिसके बारे में इस आर्टिकल में हम आपको विस्तृत जानकारी बताने वाले है.

Kotedar Ki Sikayat Kaise Kare

अगर कोई भी कोटेदार आपके साथ अभद्र व्यवहार करता है या  समय पर अपना काम नही करता तो ऐसे में हर नागरिक को शिकायत करने का अधिकार दिया गया है इसके तहत कोई भी नागरिक इसकी शिकायत दर्ज करवा सकता है पर शिकायत करने के लिए आपको सही तरीका पता होना चाहिए जिसके बारे में हम आपको Kotedar Ki Sikayat Kaise Kare इस आर्टिकल में बताने वाले है.

Kotedar Ki Sikayat Kaise Kare

हर क्षेत्र में अलग अलग कोटेदार होते है व कई बार कोटेदार द्वारा मनमानी करते देखा गया है जिसमे कुछ लोग समय पर दूकान नही खोलते तो कुछ कम सामग्री देते है और दुसरो के साथ गलत व्यवहार करते है अगर आप इस तरह की परेशानी का सामना कर रहे है तो ऐसे में आप कोटेदार के खिलाफ अपनी शिकायत दर्ज कर सकते है इसके साथ ही आप निम्न प्रकार की परेशानी होने पर अपनी शिकायत दर्ज कर सकते है.

  • अगर समय पर राशन न मिले
  • राशन की दूकान पर सुचना बोर्ड न हो
  • कोटेदार आपके साथ गलत व्यवहार करें
  • कोटेदार मनमानी करें
  • कोटेदार कम राशन तोले
  • कोटेदार कालाबाजारी करें
  • अगर कोटेदार समय परा दूकान न खोले
  • अगर कोटेदार समय से पहले दूकान बंद कर दे
  • कोटेदार द्वारा कम सामग्री तोलने पर
  • कोटेदार नशा करके दूकान खोले

निम्न परिस्थिति में आप कोटेदार की शिकायर दर्ज करवा सकते है व जब आप शिकायत करते है तो उसके बाद आपकी शिकायत की जाँच की जानती है बादमे शिकायत सही साबित होने पर कार्यवाही शुरू कर दी जाती है.

कोटेदार की लिखित शिकायत कहा करें

अगर आपको कोटेदार की लिखित में शिकायत देनी है तो आप अपने क्षेत्र के जिला पूर्ति अधिकारी के कार्यालय जाकर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है व अगर आपके पास उससे जुड़े कोई सबूत या दस्तावेज है तो उसकी प्रतिलिपि भी आप शिकायत के साथ अटैच कर दे बादमे आप अपनी शिकायत कार्यालय में जमा करवा दे बादमे उस शिकायत के आधार पर कार्यवाही शुरू कर दी जाती है.

अगर आप प्रशासन को कोटेदार की शिकायत करना चाहते है तो आप आपने क्षेत्र के एसडीएम को शिकायत कर सकते है इसके लिए आपको एसडीएम कार्यालय जाना होगा उसके बाद आपको वहां पर अपनी लिखित शिकायत देनी होती है बादमे एसडीएम कार्यालय से आपकी शिकायत पर कार्यवाही शुरू कर दी जाती है.

अगर एसडीएम आपकी शिकायत पर कार्यवाही नहीं करता या आप इनकी कार्यवाही से संतुष्ट नहीं है तो इस स्थिति में आप अपने जिलाध्यक्क्ष यानी की जिला कलेक्टर के कार्यालय जाकर भी अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है वहां शिकायत करने पर निश्चित तौर पर आपकी शिकायत पर कार्यवाही शुरू कर दी जाती है और दोषी को सजा दी जाएगी.

ऑनलाइन कोटेदार की शिकायत कैसे करें

आप चाहे तो कोटेदार की ऑनलाइन शिकायत भी दर्ज करवा सकते ही इसके लिए हर राज्य में अलग अलग वेबसाइट लांच की गयी है जिसपर आप अपनी शिकायत दर्ज सकते है अगर आप उत्तर प्रदेश राज्य के निवासी है तो निम्न प्रकार से कोटेदार की शिकायत दर्ज कर सकते है.

  • सबसे पहले आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट FCS UP की अधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना है.
  • अब आपके सामने इसका होमपेज ओपन होगा उसमे आपको ऑनलाइन शिकायत करें का विकल्प दिखाई देगा आप उसके ऊपर क्लिक कर दें.

kotedar shikayat website

  • उसके बाद आपके सामने एक पोपुलर पेज दिखाई देगा उसमे आपको निचे शिकायत दर्ज करें का विकल्प दिखाई देगा आप उसके ऊपर क्लिक कर दें.

sikayat darj kare

  • अब आपके सामने एक फोम्र ओपन होगा उसमे आपको कुछ जानकारी भरने के लिए कहा जायेगा वो जानकारी भर ले बादमे आपको अपनी शिकायत इस फॉर्म में लिख लेनी है.

sikayat form

  • अंत में आपको केप्चा कोड दिखाई देगा वो डालकर दर्ज करे के ऊपर क्लिक कर देना है.

उसके बाद आपकी शिकायत दर्ज हो जाती है व शिकायत दर्ज करने के बाद आपको इसकी रशीद दिखाई देगी उसकी प्रिंट निकालकर अपने पास सुरक्षित रख ले एवं शिकायत दर्ज होने के 7 से 15  दिन के भीतर आपकी समस्या का समाधान कर दिया जाता है.

अपनी शिकायत की स्थिति कैसे देखे

अगर आपने कोटेदार के खिलाफ अपनी शिकायत दर्ज की है व आप अपनी शिकायत की स्थिति देखना चाहते है तो आप ऑनलाइन देख सकते है इसके लिए आपको निम्न प्रक्रिया को फॉलो करना होगा.

  • सबसे पहले आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना है.
  • अब आपको इसमें ऑनलाइन शिकायत करें के विकल्प पर क्लिक करना है.
  • उसके बाद आपके सामने एक पॉपअप ओपन होगा उसमे आपको शिकायत की वर्तमान स्थिति देखें के विकल्प पर क्लिक कर देना है.
  • अब आपके सामने एक नया पेज होगा होगा उसमे आपको शिकायत संख्या डालनी है और प्रदर्शित करे के ऊपर क्लिक करना है.
  • उसके बाद आपके सामने शिकायत की पूरी जानकारी दिखाई देगी.

इस तरह से आप बेहद ही आसानी से अपने फोन में शिकायत की स्थिति देख सकते है और पता कर सकते है की आपकी दर्ज की गयी शिकायत की स्थिति क्या है.

टोल फ्री नंबर से शिकायत कैसे दर्ज करें

अगर आप चाहे तो अपने मोबाइल से कॉल करके भी अपनी शिकायत दर्ज कर सकते है इसके लिए सरकार के द्वारा ग्राहक सेवा प्रतिनिधि के नंबर जारी किये गये है उस नंबर पर कॉल करके आप कोटेदार की शिकायत आसानी से कर पायेगे.

  • सबसे पहले आपको अपने फोन से 18001800150 नंबर पर कॉल करना  है व आप चाहे तो 1967 नंबर पर भी कॉल कर सकते है.
  • इसके बाद आपको कस्टमर केयर अधिकारी आपसे बात करेगे उन्हें अपना परिचय बताये.
  • बादमे आपको क्या परेशानी है उसके बारे में कस्टमर केयर अधिकारी को बताये.
  • उसके बाद ग्राहक सेवा प्रतिनिधि आपको जो कुछ भी पूछते है उसका सही सही जवाब दे.
  • बादमे कस्टमर केयर अधिकारी आपकी शिकायत दर्ज कर लेते है.

जब कस्टमर केयर अधिकारी आपकी शिकायत दर्ज करते है तो उसके बाद आपको शिकायत का नंबर भी दिया जाता है उसे आप संभल कर कही भी लिख ले क्युकी यह नंबर उस वक्त काम करते है जब आप अपनी शिकायत का स्टेटस देखना चाहते है.

राशन कार्ड कितने प्रकार के होते है

कई लोगो को इसके बारे में पता नही होता की आखिर राशन कार्ड कितने प्रकार के होते है तो हम आपको बता दे की राशन कार्ड 4 प्रकार के होते है जिसमे एपीएल राशन कार्ड उन्हें दिया जाता है को गरीबी रेखा से ऊपर जीवन यापन करते है, बीपीएल राशन कार्ड उन्हें दिया जाता है जो गरीबी रेखा से निचे जीवन यापन करते है इसके अलावा अन्त्योदय या अन्नपूर्णा राशनकार्ड धारको को राशन सामग्री बहुत ही कम कीमत में उपलब्ध करवाई जानकारी है.

एपीएल राशन कार्ड सफ़ेद रंग का होता है जबकि बीपीएल राशन कार्ड पीले रंग का  होता है एवं अन्त्योदय राशन कार्ड गुलाबी रंग का होता है, जिस परिवार की जितनी आय होगी उसे उसके हिसाब से राशन कार्ड उपलब्ध करवाया जाता है.

कोटेदार की शिकायत FAQ

कोटेदार की शिकायत कहां करें?

आप कोटेदार की शिकायत ऑनलाइन या ग्राहक सेवा प्रतिनिधि को कॉल करके या एसडीएम् ऑफिस, जिला पूर्ति अधिकारी अथवा जिला कलेक्टर कार्यालय जाकर लिखित रूप से इसकी शिकायत दर्ज करवा सकते है.

कोटेदार शिकायत हेल्पलाइन नंबर?

कोटेदार की शिकायत करने के लिए आप टोल फ्री नम्बर 18001800150 या 1967 डायल कर सकते है व ग्राहक सेवा प्रतिनिधि के पास अपनी शिकायत दर्ज सकते है एवं ध्यान रखे की रभी राज्य के लिए अलग अलग ग्राहक सेवा प्रतिनिधि के नंबर जारी किये गये है आप जिस राज्य से है उसी राज्य के टोल फ्री नंबर पर कॉल करे व यह जानकारी आप इन्टरनेट द्वारा प्राप्त कर सकते है.

कोटेदार की शिकायत कैसे करें?

कोटेदार की शिकायत करने की पूरी जानकारी हमने आपको ऊपर बताई है उस तरीके को अपनाकर आप आसानी से किसी भी कोटेदार की शिकायत कर सकते है इसके लिए आपको अपनी जानकारी, कोटेदार की डिटेल्स, क्या परेशानी है उसका विवरण, अगर कोई सबूत है तो उसकी प्रतिलिपि संकलित करके फॉर्म सबमिट करना होता है बादमे उसके ऊपर कार्यवाही शुरू की जाती है.

कोटेदार की सैलरी कितनी है?

कोटेदार को कोई भी वेतन नहीं दिया जाता है सिर्फ कमीशन के आधार पर काम करते है जितना सेल होता है उसके अनुसार इन्हें कमीशन दिया जाता है.

कोटेदार का कोटा कैसे हटाए?

अगर कोई कोटेदार सही तरीके से कोटे का सञ्चालन नहीं करता तो आप उसकी शिकायत कर सकते है व शिकायत सही साबित होने पर कोटेदार के ऊपर कार्यवाही शुरू हो जाती है और उसका कोटा हटा दिया जाता है.

राशन न मिलने की शिकायत कैसे करें?

अगर किसी कारणवश आपको खाद्य सामग्री नही मिल रही तो आप सबसे पहले आप खाद्य सुरक्षा में अपना नाम जोड़े व इसके बाद भी आपको राशन नहीं मिल रहा तो आपको तहसीलदार या कलेक्टर के पर इसकी लिखित एप्लीकेशन देनी है उसके बाद आपका नाम खाद्य सुरक्षा में जोड़ा जायेगा व आपको राशन मिलना शुरू हो जायेगा.

राशन डीलर की ऑनलाइन शिकायत कैसे करें?

कोटेदार की ऑनलाइन शिकायत करना बहुत ही आसान है इसकी पूरी जानकरी हमने आपको ऊपर बताई है जिससे की आप आसानी से कोटेदार की शिकायत कर सकते है एवं ध्यान रखे की आप जिस राज्य से है उस राज्य की सरकार द्वारा जारी वेबसाइट पर ही शिकायत दर्ज करें तभी आपकी शिकायत पर कार्यवाही शुरू होगी.

शिकायत करने के बाद कितने दिन में कार्यवाही होगी?

आप किसी भी प्रकार की समस्या होने पर लिखित शिकायत करते है तो उसके बाद आपकी शिकायत की जाँच की जाती है उसके बाद उसके ऊपर कार्यवाही शुरू की जाती है इस प्रक्रिया में 7 दिन से लेकर 15 दिन तक का समय लाग सकता है अगर कई दिन तक आपकी शिकायत पर कार्यवाही नहीं होती तो आप एसडीएम से संपर्क कर सकते है व आप ऑनलाइन शिकायत करते है तो उसका स्टेट्स जरुर देखे उससे आपको शिकायत का पूरा विवरण मिल जायेगा.

Calculation -इस आर्टिकल में हमने आपको Kotedar Ki Sikayat Kaise Kare इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी बभी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है.

पिछला लेखGoogle Account Delete Kaise Kare? सबसे आसान तरीके से
अगला लेखMobile Full Form in Hindi : Mobile से जुडी सभी रोचक जानकारी

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें