नमस्कार मित्रो आज हम आपको HR Kaise Bane इसके बारे में बता रहे है अगर आपको HR बनना है तो इसके लिए आपको क्या करना होगा और आप किस तरह से HR बन सकते है इससे जुड़ी पूरी जानकारी हम आपको इस आर्टिकल में बताने वाले है ताकि आप आसानी से HR बन सके और अपना सपना पूरा कर सके.

HR Kaise Bane

HR बनने के लिए सबसे पहले तो आपको HR से जुडी कुछ आवश्यक जानकारी पता होनी बहुत ही जरुरी है अगर आपको इसके बारे में जानकारी होगी तो ही आप इस क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकते है इसके लिए आपको HR क्या है, इनके कार्य क्या है. इसके लिए योग्यता क्या है और HR Kaise Bane इन सब के बारे में पता होना आवश्यक है.

HR Kaise Bane

सबसे पहले तो आपको इसके बारे में पता होना जरुरी है की इसका पूरा नाम Human Resource होता है व हर छोटी बड़ी संस्थान, सगठन या कंपनी आदि में कोई न कोई HR जरुरी होता है क्युकी यह किसी भी कंपनी आदि के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण व्यक्ति होता है व किसी भी कंपनी को चलाने के लिए HR Department का बहुत बड़ा योगदान होता है.

आप HR बनने के लिए इसका कोर्स बाहरवी के बाद भी शुरू कर सकते है व कई अलग अलग कोर्स है जिन्हें करने के बड़ा आप HR बन सकते है पर इसके लिए एमबीए कोर्स को अधिक बेहतर माना गया है.

HR में जॉब प्रोफाइल

अगर आप HR बनना चाहते है तो आपको यह पता होना जरुरी है की इसमें आपको कौन कौनसी पोस्ट पर काम मिल सकता है तो हम आपको कुछ पोस्ट के बारे में बता रहे है जिसमे आप HR बनने के बाद नौकरी प्राप्त कर सकते है.

  • एचआर रिक्रूटर
  • टेक्निकल रिक्रूटर
  • एचआर जनरलिस्ट
  • एचआर स्पेशलिस्ट
  • कंपनसेशन मैनेजर
  • कंपनसेशन मैनेजर
  • एम्पलॉयी रिलेशन्स मैनेजर
  • ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट मैनेजर

निम्न अलग अलग तरह की पोस्ट पर आपको जॉब मिल सकती है व इसमें अक्सर आपको एक बेहतरीन और अच्छी पोस्ट वाली जॉब ही मिलती है जिसमे वेतन भी अच्छा रहता है.

HR के कार्य

आप किसी भी कंपनी आदि में HR के रूप में जॉब प्राप्त करते है तो इसके बाद आपको कई अलग अगल तरह के कार्य करने होते है जैसे की कैंडिडेट का इंटरव्यू लेना, कर्मचारियों की नियुक्ति करना, कर्मचारियों की सैलेरी देना, कंपनी में डिसिप्लिन बनाए रखना और कंपनसेशन और लीव पॉलिसी से जुड़े कार्य इन्हें करने होते है.

किसी भी कंपनी के लिए उसका HR डिपार्टमेंट एक रीड की हड्डी की तरह होता है जिसके ऊपर पूरी कंपनी टिकी रहती है व यह एम्प्लोय को पूरी तरह से कण्ट्रोल में रखते है और इसपर ध्यान देते है की एम्प्लोय कंपनी के लिए बेहतर कार्य करे और कंपनी को ज्यादा से ज्यादा फायदा पहुच सके.

HR बनने के लिए डिप्लोमा

आप HR  बनने के लिए बाहरवी के बाद इसके कोर्स को कर सकते है यह 6 माह से लेकर 2 वर्ष तक का होता है व इस कोर्स को आप गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक कॉलेज से कर सकते है पर इसके लिए पहले आपको पॉलीटेक्निक जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम देना होता है आप इसमें सफल हो जाते है तो इसके बाद आपको इस कोर्स के लिए एडमिशन मिल जाता है और आप इस कोर्स को कर पायेगे.

HR बनने के लिए बैचलर कोर्स

आप चाहे तो HR बनने के लिए बाहरवी के बाद BBA इन HR या BA इन HR जैसे कोर्स भी कर सकते है इन कोर्स की अवधि 3 वर्ष की होती है व इन कोर्स को करने के लिए आपको डीयू जेएटी, एनपीएटी, सिम्बायोसिस एंट्रेंस टेस्ट (एसईटी), आईपीएमएटी, जीजीएसआईपीयू सीईटी बीबीए, एआईएमए यूजीएटी आदि का एंट्रंस एग्जाम देना होता है व इसमें आपको जो रैंक प्राप्त होती है उसके अनुसार आपको किसी भी अच्छे कॉलेज में एडमिशन दिया जाता है.

आप HR कोर्स को करने के लिए निम्न प्रकार के एंट्रंस एग्जाम दे सकते है जैसे

  • आईआईएफटी
  • एआईएमए-एमएटी
  • एक्सएटी
  • एमआईसीएटी
  • कैट
  • जीएमएसी द्वारा एनएमएटी
  • मैट
  • सीएटी (कॉमन एडमिशन टेस्ट)
  • सीएमएटी (कॉमन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट)
  • सेट

HR बनने के फायदे

जब आप HR बनते है तो आपको कई तरह की अलग अलग योग्यता प्राप्त होती है जिसके कारण आपको किसी भी कंपनी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण व्यक्ति माना जाता है व आपके HR बनने के बाद निम्न कार्य में निपूर्ण हो जाते है.

👉 मानव संसाधन –  जब आप HR का कोर्स कर लेते है तो उसके बाद आप इस क्षेत्र में निपूर्ण हो जाते है और इस क्षेत्र में अपना बेहतरीन कैरियर बना सकते है एवं पीजी के बाद अगर आप स्पेशलाइजेशन करते है तो आपकी वेल्यू और अधिक बढ़ जाती है और आपको एक अच्छी पोस्ट पर आसानी से जॉब मिल सकती है.

👉 रिक्रूटमेंट एंड स्टाफिंग – आप HR के कोर्स को करने के बाद रिक्रूटमेंट एंड स्टाफिंग से जुड़े काम करने योग्य हो जाते है और आप स्पेशलाइजेशन कर लेते है तो उसके बाद आप अपनी कंपनी के लिए एम्प्लोय हायर करने योग्य हो जाते है और अपनी कंपनी के लिए अच्छे और बेहतरीन एम्प्लोय हायर कर सकते है.

👉 डेवलपमेन्ट एंड ट्रेनिंग –  किसी भी काम को करने के लिए लोगो को पहले उसकी ट्रेनिंग देनी बहुत ही जरुरी है व कंपनी से जुड़े काम में भी आपको अपने नए एम्प्लोय को ट्रेनिंग देनी होती है व आप इस कोर्स को करने के बाद किसी भी एम्प्लोय को उससे जुड़े काम की ट्रेनिंग देने के योग्य माने जाते है.

👉 कंपनसेशन एंड रिवॉर्ड मैनेजमेंट – कोई भी कर्मचारी अच्छी सैलरी के लिए काम करते है व एम्प्लोय को कंपनी में रोके रखने के लिए सैलरी और कंपनसेशन बहुत ही महत्वपूर्ण होता है एवं HR डिपार्टमेंट के द्वारा ही एम्प्लोय को सही वक्त पर उपयुक्त सैलरी दी जाती है व कंपनी के वित्तीय अप्प्रोच के अनुसार यह कर्मचारियों की सैलरी निर्धारित करते है.

👉 लेबर और एम्प्लाई रिलेशंस – हर संस्थान या कंपनी में कर्मचारियों के लिए कार्य का दायरा निश्चित होता है पर कई कंपनी अपने कर्मचारियो का शोषण करती है ऐसे में आप HR कोर्स को करने के बाद कर्मचारियों के सभी अधिकारों के बारे में अच्छे से समझ लेते है जिससे आप कर्मचारियों का शोषण होने से उन्हें बचा सकते है.

HR बनने के बाद सैलरी

जब आप HR बन जाते है तो तो इसकी सैलरी आपके अनुभव और आपने किस कॉलेज से HR कोर्स किया है उसके ऊपर निर्भर करता है अगर आप भारत के टॉप कॉलेज से HR कोर्स को करते है तो आपको इस पोस्ट में 1 लाख रूपए से लेकर 3 लाख रूपए तक का वेतन मिल सकता है व आपके कार्य और अनुभव के आधार पर आपका वेतन बढ़ता रहता है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको HR Kaise Bane इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको HR बनने के बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने मित्रो के साथ शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट कर के बता सकते है.

पिछला लेखBAE Full Form in Hindi : BAE का पूरा नाम क्या है
अगला लेखPOA Full Form in Hindi : POA क्या होता है पूरी जानकारी

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें