आज का हमारा यह आर्टिकल HDFC के बारे में है इसमें हम आपको HDFC किस देश की बैंक है व HDFC के मालिक कौन है इसके बारे में जानकारी देने वाले है आप सभी लोग जानते है की ये कितनी बड़ी बैंक है आज फाइनांस की बात करे तो ये अन्य की तुलना में बहुत ही बड़ी कंपनी है.

hdfc bank kis desh ki hai

अपने कई बार एचडीएफसी के बारे में सुना होगा व आज के समय में ये भारत की एक बहुत ही बड़ी कंपनी है जो की वाहन के फाइनांस के साथ साथ बैंकिंग कार्य भी करते है भारत में अधिकांश वाहन इन्ही  की बैंक द्वारा फाइनेंस किये हुए है व शायद इसी कारण से यह बैंक भारत की इतनी बड़ी बैंक बन कर उभरी है आपको हाल में लगभग सभी छोटे बड़े शहरों में यह बैंक आसानी से देखने को मिल जायेगी क्युकी इस बैंक का नेटवर्क बहुत ही बड़ा है.

HDFC Bank किस देश की है

इसके बारे में अन्य जानकारी बताने से पहले हम आपको इसका पूरा नाम क्या है इसके बारे में बता रहे है.

HDFC Full Form – Housing Development Finance Corporation होता है

HDFC भारत की एक प्रमुख बैंक है जिसकी स्थापना अगस्त 1994 में हुई थी व इसके बाद सन् 1995 में यह बैंक अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक के रूप में अपना कार्य शुरू किया था व HDFC बैंक की हाल में सबसे अधिक शाखाये मुंबई और दिल्ली में स्थित है व यह एक पहली ऐसी बैंक है जो की अपने ग्राहकों को हिंदी भाषा में नेट बैंकिंग उपलब्ध करवाती है.

HDFC हाल में बैंकिंग और वित्तीय सेवाएं दे रही है व  यह एक निजी बैंक है व आंकड़ों की बात करे तो 2013 के अनुसार भारत के 2,104  शहरों में इस बैंक की कुल 3,336  शाखाये है व भारत के अलग अलग क्षेत्रों में इस बैंक के 11,473  एटीएम कार्यरत है इससे आप अंदाजा लगा सकते है की ये कितनी बड़ी बैंक है.

HDFC के मालिक कौन है

एचडीएफसी एक निजी बैंक है जिसका मुख्यालय मुम्बई, भारत में स्थित है व इस बैंक के संस्थापक बिबु वर्घीज़ है जिन्होंने अगस्त 1995 में इस बैंक को लांच किया था व हाल में इस बैंक के चेयरमैन सी० एम० वासुदेव है व इसके प्रबंध निदेशक आदित्य पुरी है व यह बैंक निवेश बैंकिंग, व्यवसायिक बैंकिंग, रिटेल बैंकिंग, निजी बैंकिंग, परिसंपत्ति प्रबंधन ऋण क्रेडिट कार्ड आदि से संबधित कार्य करती है व 2010 के आंकड़ों के अनुसार इस बैंक में कुल 51,888 कर्मचारी कार्य करते है.

सन् 2013-14 के आंकड़ों के अनुसार इस बैंक का कुल राजस्व ₹49,055.18 करोड़ रूपए था व इसकी प्रचालन आय ₹14,360.09 करोड़ रूपए थी इसके साथ ही इस बैंक का शुध्द लाभ ₹8,478.40 करोड़ रूपए तक का था व 31 मार्च 2014 तक इस बैंक की कुल संपत्ति 4,91,599.52 करोड़ रूपए थी.

HDFC बैंक की उपलब्धिया

इस बैंक का नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी शुमार है 6 दिसम्बर 2013 को इस बैंक के द्वारा 709 अलग अलग स्थानों पर लगभग 1,115 रक्तदान के लिए कैंप लगाए थे जिसमे 61,902 लोगो ने रक्तदान किया था व इस कारण से इस बैंक का नाम गिनीज बुक में भी लिखा गया है जो की इस बैंक के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है.

HDFC में अन्य बैंक का विलय

इस बैंक के साथ कुछ बैंक का विलय भी हुआ है जिसके कारण यह बैंक इतने कम समय में इतनी बड़ी बैंक बनने में कामयाब हुई है 23 मई 2008  में भारतीय रिजर्व बैंक ने HDFC बैंक और सेंचुरियन बैंक ऑफ पंजाब का विलय करने के लिए मंजूरी दी थी इसके कारण सेंचुरियन बैंक ऑफ पंजाब के निवेशकों को काफी नुकसान हुआ क्युकी सीबीओपी के 29 शेयर के बदले उन्हें HDFC का एक शेयर दिया था.

इसके बाद 26 फ़रवरी 2000 को भारतीय रिजर्व बैंक ने HDFC और टाईम्स बैंक के विलय की स्वीकृति प्रदान की टाईम्स बैंक को टाईम्स समूह द्वारा संचालित किया जा रहा था व इस विलय के कारण टाइम्स बैंक के शेयरधारकों को टाइम्स बैंक के 5.75  शेयर के बदले HDFC का एक शेयर दिया गया था.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको HDFC bank किस देश की है व HDFC  bank के मालिक कौन है इसके बारे में जानकारी देने का प्रयत्न किया है हमे उम्मीद है की आपको एचडीएफसी के बारे में बताई गयी हमारी जानकारी जरूर पसंद आयी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर  करें व अगर आप इससे जुड़ा किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहो तो आप हमे कमेंट कर के भी पूछ सकते है.

पिछला लेखAIRTEL Call Details कैसे देखे? ( 5 मिनिट में कॉल डिटेल्स देखें )
अगला लेखPHD Full Form in Hindi : PHD क्या होता हैं पूरी जानकारी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें