नमस्कार मित्रो आज हम आपको FM Full Form in Hindi के बारे में बताने वाले है अक्सर कई लोगो के सवाल होते है की एफएम क्या होता है और एफएम किसे कहते है तो इसके बारे में हम आपको विस्तृत रूप से बताने वाले है ताकि आपको एफएम के बारे में पूरी जानकारी पता चल सके की एफएम क्या होता है और यह कैसे काम करता है.

FM Full Form in Hindi

कई लोगो को एफएम के बारे में तो पता होता है लेकिन इसके पुरे नाम के बारे में पता नही होता की इसका पूरा नाम क्या होता है या यह कैसे काम करता है तो ऐसे में हमारी यह जानकारी आपके लिए बेहद ही उपयोगी साबित हो सकती है अगर आपको एफएम के बारे में अधिक जानकारी नही है तो आप FM Full Form in Hindi आर्टिकल को ध्यान से पढ़े ताकि आपको इसके बारे में पूरी जानकारी पता चल सके.

FM Full Form in Hindi

FM क्या होता है और FM किसे कहते है इसके बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पुरे नाम के बारे में बता रहे है की इसका हिंदी एवं अंग्रेजी में पूरा नाम क्या होता है.

FM Full Form – Frequency Modulation

हिंदी में इसको आवृति का उतार चढ़ाव भी कहा जाता है एवं एफएम का इस्तमाल सुचना को ब्राडकास्टिंग एवं रेडिओ कम्युनिकेशन एप्लीकेशन के रूप में भी किया जाता है एवं इसे संग्राहक विधुत चुंबकीय तरंग आवृति भी कहा जाता है इसका इस्तमाल ज्यादातर प्रसारण के लिए किया जाता है.

एफएम क्या है

एफएम ब्राडकास्टिंग एफएम स्टेशन से की जाती है एवं इसके लिए अलग अलग तरह के चैनल बनाये जाते है इसके बाद इन चैनल्स की फ्रीक्वेंसी सेट की जाती है और जब कोई भी व्यक्ति उस फ्रीक्वेंसी पर रेडिओ के डायल को सेट करते है तो इसके बाद रेडिओ स्टेशन की आवाज आपको सुनाई देने लगती है.

अक्सर आपने देखा होगा की किसी भी रेडिओ में कई तरह के स्टेशन होते है जिसमे से कई स्टेशन में आपको सोंग सुनाये जाते है तो कई स्टेशन में आपको न्यूज आदि सुनाई जाती है तो यह सभी डाटा फ्रीक्वेंसी के ऊपर ही होता है जैसे की आप अपनी पसंदीदा फ्रीक्वेंसी पर रेडिओ ले जाते है तो इसके बाद रेडिओ स्टेशन द्वारा सेट की गयी आवाज आपको उस फ्रीक्वेंसी के ऊपर सुने देने लगती है.

एम् का अविष्कार 1930 के दशक में किया गया था एवं इसे बनाने का श्रेय एड्विन एच. आर्मस्ट्रांग को जाता है जिन्होंने FM का अविष्कार किया था इस एफएम की फ्रीक्वेंसी रेंज काफी ज्यादा हुआ करती थी यह अनुमानित 1200 से लेकर 2400 बिट प्रति सेकेण्ड या  88 से 108 MHz तक होती थी जो की काफी ज्यादा होती है.

एफएम के फायदे

एफएम के कई तरह के अलग अलग फायदे होते है लेकिन कई लोगो को इसके फायदे के बारे में पता नही होता ऐसे में हम आपको इसके कुछ बेहद ही खास फायदों के बारे में बता रहे है जिनके बारे में आपको पता होना आवश्यक है यह फायदे निम्न प्रकार से है.

  • उच्च बैंडविड्थ होने के कारण यह बेहद ही अच्छी ध्वनी गुणवत्ता उत्पन्न करता है.
  • इसमें आवृति विचरण को बढ़ाकर रिसीवर में होने वाले शोर को कम किया जा सकता है जिससे की इसकी आवाज पहले से काफी बेहतर सुनाई देती है.
  • एफएम ट्रांसमीटर एएम ट्रांसमीटर की तुलना में बहुत ही अधिक कुशल होते है इसका मुख्य कारण यह है की एएम ट्रांसमीटर ज्यादा ट्रांसमिटेड कैरियर में  बर्बाद हो जाते है.
  • स्टीरियो साउंड ट्रांसमिशन के लिए भी एफएम ट्रांसमिशन का आसानी से इस्तमाल किया जा सकता है.

इस प्रकार से एफएम के कई अलग अलग तरह के फायदे होते है इसके अलावा भी इसके कई तरह के फायदे है लेकिन हमने आपको इसके कुछ मुख्य फायदों के बारे में भी जानकारी बताई है जिनके बारे में हर एक व्यक्ति को पता होना जरुरी हैं.

एफएम रेडिओ क्या होता है

जैसा की आपको पता होगा की यह साउंड वेव के फॉर्म में होते है एवं रेडिओ के माध्यम से हम उसे वेव फॉर्म में क्लियर साउंड के रूप में convert कर पाते है ताकि इसे सुनने में आसानी हो सके और इसकी आवाज क्लियर सुनाई दे सके, एफएम भी ठीक इसी प्रकार से कम करता है यह एक रेडिओ ब्रॉडकास्टर टेक्नोलॉजी होती है जो की कई तरह की अलग अगल फ्रीक्वेंसी बैंड पर काम करती है.

अगर आपके पास रेडिओ है या अपने कभी भी रेडिओ का इस्तमाल किया है तो आपने यह जरुर देखा होगा की इसमें अलग अलग फ्रीक्वेंसी पर अलग अलग तरह की जानकारी देखने के लिए मिलती है ऐसे में हम रेडिओ के बैंड का इस्तमाल खबर बदलने के लिए या नयी जानकारी सुनने के लिए करते है जैसे की बैंड को घुमाने पर कभी आप रेड एफएम चैनल पर जा सकते है तो कभी आप रेडिओ मिर्ची के चैनल पर भी जा सकते है ऐसा इसलिए होता है क्युकी यह सभी यूनिक फ्रीक्वेंसी बैड होता है जहां पर यह अपने रेडिओ को प्रसारित करते है.

उदाहरण – जैसा की आपको पता होगा की Red FM 93.5 पर सुनाई देता है ऐसे में आप अपने रेडिओ के बैंड को 93.5 पर ले जाते है तो इसमें आपको रेड एफएम सुनने के लिए मिल जाता है एवं इसमें आपको किसी भी प्रकार की दूसरी इनफार्मेशन सुनने के लिए नही मिलेगी वही BIG FM का फ्रीक्वेंसी बैंड 92.7 है ऐसे में जब भी आप अपने रेडिओ के बैंड को 92.7 पर ले जाते है तो इसमें आपको BIG FM सुनने के लिए मिल जाता है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको FM Full Form in Hindi  के बारे में जानकारी दी है व एफएम क्या होता है इसके बारे में बताया है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है.

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें