आज हम आपको EMI के बारे में बताने वाले हैं की EMI क्या होती हैं व EMI Full Form  क्या होता हैं व ईएमआई कैसे भरी जाती हैं इसके अलावा भी बहुत सी आवश्यक जानकारी आपको हम इस आर्टिकल में बताने वाले हैं जिससे की आपको ईएमआई  के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में प्राप्त हो सके.

emi full form

आज के समय में बहुत से लोग ईएमआई  भरते हैं और उनको इसकी भी जानकारी होती हैं की ईएमआई  का पूरा नाम क्या होता हैं या इसका EMI Full Form क्या होता हैं तो आज हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी हिंदी में बताने वाले हैं जिससे की आपके मन में ईएमआई से जुड़े जितने भी सवाल हैं उनके जवाब आपको इसी आर्टिकल में मिल सके.

अगर आपको ईएमआई के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करनी हैं तो आप हमारा ये पूरा आर्टिकल पढ़े अगर आप पूरा आर्टिकल नहीं  पढ़ेंगे तो आपको हमारी पूरी जानकारी प्राप्त नहीं हो पायेगी हम आज आपको ईएमआई का  पूरा नाम क्या हैं व ईएमआई क्या होती हैं और ईएमआई कैसे भरी जाती हैं अगर आप ईएमआई लेना चाहते हैं तो इससे आपको क्या  क्या फायदे होते हैं और क्या क्या नुकसान होते हैं इसके बारे में आज के आर्टिकल में हम जानेगे.

EMI Full Form in Hindi

सबसे पहले तो हम इसका  पूरा नाम क्या होता हैं इसके बारे में जान लेते हैं ताकि आपको पता चल सके की इसका पूरा नाम क्या है.

EMI Ka full form – Equated Monthly Installment होता है.

जिसका हिन्दी मे अर्थ हैं “मासिक किस्त” अब आपको इसकी full form से ही पता चल चुका होगा की ये क्या होता हैं तो अब हम इसके बारे मे कुछ अन्य महत्वपूर्ण जानकारी आपको बता रहे हैं.

EMI क्या है

अगर आप किसी financial company या किसी बैक से लोन लेते हैं या  आप कोई सामान खरीदना चाहते हैं जिसके लिए आपके पास पैसे नहीं हैं व आप वो सामान finance से लेते है‌ तो आपको हर started मे down payment देना होता हैं या आपको मासिक किस्त भरती होती हैं जो की आप अपनी इच्छानुसार 3, 6, 9, 12 माह आदि की रख सकते हैं व आपको उस सामान के पैसे एक साथ ना देकर किस्त में देने होते हैं जिसे EMI कहा जाता हैं.

EMI Ka Full Form

अब हम आपको ईएमआई की कुछ अन्य full form के बारे में बता रहे हैं की इसके अन्य कौन कौनसे पुरे नाम होते हैं होते है.

  • EMI – Electromagnetic Inference.
  • EMI – Equated Monthly Installment.
  • EMI – Electric and Musical Instrument.
  • EMI – Electromagnetic Interference.
  • EMI – Equal Monthly Installment.
  • EMI – Equated Monthly Instalment.
  • EMI – Electronic Money Institution.

यह सभी ईएमआई   के पुरे नाम हैं व इस शब्द का कई अलग अलग स्थानों पर अलग अलग रूप से इस्तमाल किया जाता है.

EMI के फायदे व नुकसान

जैसे की हर किसी के दो पहलू होते हैं उसी तरह से EMI के भी दो पहलू हैं अगर आप इसका सही इस्तेमाल करते हैं तो आपको फायदा होगा व सावधानी ना बरतने पर नुकसान भी हो सकता हैं.

कई लोगो को इसके  बारे में पता नहीं होता तो हम आपको इसके कुछ मुख्य फायदे और नुकसान के बारे में बता रहे हैं ताकि आप फैसला कर सके की आपको ईएमआई लेनी चाहिए या नहीं लेनी चाहिए.

EMI के फायदे

पहले हम आपको इसके फायदे के बारे में  बता देते हैं की अगर आप ईएमआई  लेते हैं तो इससे आपको क्या क्या फायदे हो सकते है.

  1. Emi से आप कोई भी जरुरत का सामान आसानी से खरीद सकते हैं.
  2. अगर आपके पास सामान खरीदने के लिए पैसे नही हैं तो भी आप Emi से वो सामान खरीद सकते हैं.
  3. कई बार बिना ब्याज के भी Emi के offer आते हैं इसमें आपको सामान लेने पर emi के साथ ब्याज नहीं देना पडता.
  4. समय पर किस्त भरने से आपका credit score बढ जाता है.
  5. इसमे धोखाधड़ी का खतरा कम होता हैं ( अगर आप विश्वसनीय कम्पनी से emi करे ).

ये सभी ईएमआई  लेने के फायदे होते हैं जिसके कारण अधिकांश लोग ईएमआई का चयन करते हैं व इसके अलावा भी ईएमआई के अन्य कई सारे फायदे होते है.

EMI के नुकसान

ईएमआई  लेने के फायदे के साथ साथ इसके कुछ नुक्सान भी होते हैं जिसके बारे में आपको पता होना जरुरी हैं अगर आपको इसके  बारे में पता होगा तो आपको बादमे किसी प्रकार की समस्या का.सामना ना करना पड़े.

  1. Emi के कारण लोग अक्सर जरुरत से ज्यादा मंहगा सामान खरीद लेते हैं जिससे किस्त चुकाने मे परेशानी होती हैं.
  2. समय पर किस्त ना भरने पर आपको कई प्रकार से service tax देने पड जाते हैं.
  3. अगर आपकी emi company trusted नही हैं तो आपको काफी नुकसान हो सकता हैं.
  4. Emi के समय उसके policy पढे बिना उससे जुडने पर बादमे काफी नुकसान व परेशानी उठानी पड सकती है.

अगर आप ईएमआई  लेते हैं या लेना चाहते हैं तो आपको इस प्रकार  की समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

EMI कैसे करते है

अगर आप किसी सामान आदि पर  Emi करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको पता करना होगा की कौनसी दुकान वो सामान आपको EMI पर दे रहा हैं अगर कोई ईएमआई   के ऊपर सामान  देता हैं तो वहा से आप ईएमआई   करा सकते हैं बादमे अपने बैक की पासबुक, चेक, आधार कार्ड आदि ले कर आप उस दुकान मे जाये व अगर वह दुकानदार ईएमआई  करता हैं तो वो कर लेगा अगर वो ईएमआई  नहीं करता तो वो किसी भी फाइनेंस या बैंक के द्वारा आपका ईएमआई  करा देता है.

EMI कैसे भरे

EMI कहा पर जा कर भरे व कैसे भरे ये सवाल कई लोगो के मन मे होता हैं पर आपको emi भरने के‌ लिए कही जाने की जरुरत नही हैं क्युँकि जब आप कोई सामान EMI पर लेते हैं तो वो आपके बैक की पासबुक मागते हैं बादमें वो निश्चित तारीख को किस्त के पैसे अपने आप आपकी बैक से काट लेते हैं.

अगर आपके खाते में पर्याप्त पैसे नहीं होते व किसी कारण से ईएमआई नहीं काटी जाती तो आपको उसकी पेनेल्टी भरनी होती हैं व आपने जो सामान ईएमआई  पर लिया हैं वो सामान भी आपसे वापिस लिया जा सकता हैं इसलिए जिस तारीख को आपकी ईएमआई हैं उस तारीख को अपने खाते में पर्याप्त बैलैंस जरूर रखे  ताकि आपकी ईएमआई समय पर काटी जा सके और आपको किसी प्रकार की परेशानी ना हो अगर आप Emi full form  से सम्बंधित कोई सवाल  पूछना चाहो तो आप हमे कमेंट कर के बता सके है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको EMI Full Form in Hindi व EMI क्या होता है व इसके फायदे व नुस्क्सान क्या क्या है इसके बारे में बताने का प्रयत्न किया है हमे उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा बताई गयी जानकारी जरूर पसंद आयी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें व इससे सम्बंधित किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहते है तो आप हमे कमेंट कर के बता सकते है.

पिछला लेखBMS Full Form in Hindi : BMS किसे कहते है व इसका अर्थ क्या है
अगला लेखVDO Full Form in Hindi : VDO Officer कैसे बनते है पूरी जानकारी

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें