नमस्कार मित्रो आज हम आपको DRDO Full Form In Hindi के बारे में बताने वाले है अक्सर आपने इसके बारे में सोशल मीडिया और समाचार पत्रों आदि में सुना होगा ऐसे में हमारे मन में कई तरह के सवाल आने लगते है की आखिर DRDO होता क्या है, इसका अर्थ क्या है व इसका पूरा नाम आदि क्या होता है तो इसकी पूरी जानकारी हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है.

DRDO Full Form In Hindi

हर भारतीय व्यक्ति के लिए DRDO की जानकारी बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकती है आप सभी जानते  है की किसी भी देश की ताकत का आंकलन उसकी सैन्य शक्ति और उस देश की टेक्नोलॉजी के ऊपर निर्भर करता है ऐसे में आपको DRDO के बारे में पता होना जरुरी है एवं इसके बारे में जानने के लिए आप DRDO Full Form In Hindi आर्टिकल को ध्यान से पढ़े.

DRDO Full Form In Hindi

DRDO क्या होता है और किसे  कहा जाता है इसके बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पुरे नाम के बारे में बता रहे है.

DRDO Full Form – Defence Research and Development Organisation

हिंदी में इन्हे रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन कहा जाता है यह रक्षा मंत्रालय से सम्बंधित संस्था है जो भारत की बेहद अहम् संस्था के रूप में जानी जाती है.

DRDO क्या है

DRDO का गठन 1958 में किया गया था इसका मुख्यलय नई दिल्ली में स्थित है इसका गठन करने का मुख्य उद्देश्य सैन्य शक्ति को मजबूत करना  है यह संस्था रक्षा मंत्रालय के अधीन कार्य करती है इसका गठन 10 छोटी प्रयोगशालाओं के संगठन से हुआ था पर हाल में इसके पास 51 प्रयोगशालाए है.

यह भारत के डिफेन्स पॉवर को मजबूत करने के लिए जिम्मेदार होता है देश को सैन्य रूप से मजबूत बनाने में इसका अहम् रोल होता है एवं यह संस्था रक्षा शक्ति से जुड़े रिसर्च करती है जिससे देश के रक्षा तंत्र को और अधिक शक्तिशाली बनाया जा सके.

DRDO द्वारा थलसेना, वायु सेना और जल सेना के लिए आवश्यकतानुसार विश्व स्तरीय हथियारों का उत्पादन किया जाता है ताकि भारतीय सेना को देश की सुरक्षा के लिए स्वदेशी उपकरण प्राप्त हो सके  इसके अलावा DRDO द्वारा साइबर, कृषि, अंतरिक्ष, परिक्षण आदि के क्षेत्र में भी कार्य किया जा रहा है.

DRDO में जॉब पाने के लिए योग्यता

जो व्यक्ति DRDO में काम करना चाहते है और इस संस्था में अपनी सेवाएं देना चाहते है उन्हें इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना होता है व इसके लिए कुछ शैक्षिक योग्यता रखी जाती है जिन्हे आपको पूरा करना जरुरी है.

DRDO के लिए आपको किसी भी मान्यताप्राप्त विश्वविधालय से Engineering And Technology में बेचलर की डिग्री  होनी अनिवार्य है एवं इसके साथ Science, Maths, Psychology में कम से कम 60% अंको के साथ मास्टर डिग्री होनी आवश्यक है.

DRDO के लिए उम्र सीमा

DRDO के लिए न्यूनतम उम्र 18 वर्ष और अधिकतम उम्र 28 वर्ष तक रखी गयी है इसके साथ ही आरक्षित वर्गों को इसमें नियमानुसार छूट देने का प्रावधान भी होता है जिसकी विस्तृत जानकारी आप इसके आधिकारिक नोटिफिकेशन से प्राप्त कर सकते है.

DRDO कैसे करें

आपको DRDO करने के लिए आपको GATE, SET और CEPTAM के एग्जाम देने होते है इन एग्जाम के माध्यम से ही आप DRDO ज्वाइन कर सकते है.

GATE – इसके द्वारा DRDO में भर्ती होने के लिए आपको GATE की परीक्षा में उत्तीर्ण होना पड़ता है इसके बाद आपका इंटरव्यू लिया जाता है व इन दोनों में प्राप्त अंको के आधार पर आपको DRDO में प्रवेश मिलता है.

SET – इसके द्वारा DRDO में भर्ती होने के लिए आपको लिखित परीक्षा देनी पड़ती है इसमें आपको पहले टियर 1 परीक्षा देनी होगी उसमे सफल होने के बाद आपको टियर 2 परीक्षा में शामिल किया जायेगा और इस परीक्षा में प्राप्त अंको के आधार पर आपका चयन DRDO के लिए किया जायेगा.

CEPTAM – इसके माध्यम से DRDO ज्वाइन करने के लिए आपको  रिटर्न परीक्षा देनी होती है और इसके बाद आपका इंटरव्यू लिया जाता है इसमें प्राप्त अंको के आधार पर आपका चयन DRDO के लिए किया जाता है.

DRDO द्वारा विकसित की गयी मिसाइल

DRDO के द्वारा कई तरह की मिसाइलों को विकसित किया गया है हम आपको भारत की सबसे अहम् और लोकप्रिय मिसाइलों के बारे में बता रहे है जिसका निर्माण DRDO द्वारा किया गया.

  • अग्नि – यह मध्यम दुरी वाली बैलिस्टिक मिसाइल है जो सतह से सतह पर मार करती है.
  • पृथ्वी – यह कम दुरी वाली बैलिस्टिक मिसाइल है जो सतह से सतह पर मार करती है.
  • आकाश – यह मध्यम दुरी वाली मिसाइल है जो सतह से आकाश में मार करती है.
  • त्रिशूल – यह कम दुरी वाली मिसाइल है जो सतह से आकाश में मार करती है.
  • नाग – यह तीसरी पीढ़ी की टैंक भेदी मिसाइल है.

इन सभी मिसाइल को DRDO के द्वारा बनाया गया है व इसके अलावा भी कई तरह के रक्षा उपकरण इसके द्वारा बनाये गए है DRDO द्वारा बनाये गए उपकरण देश की रक्षा के लिए होते है एवं आपात स्थिति से निपटने के लिए होते है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको DRDO Full Form In Hindi के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें और इससे जुड़ा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है.

पिछला लेखEWS Full Form In Hindi? EWS क्या है व इसे Download कैसे करें
अगला लेखICU Full Form in Hindi : आईसीयू क्या है पूरी जानकारी
मै रघुवीर चारण PMO Yojana का संस्थापक हूँ हमें लेख लिखना व किताब पढ़ना बेहद पसंद है है हम शिक्षा, कंप्यूटर, मोबाइल, सरकारी नौकरी, नई योजनाओं व इस प्रकार की अन्य कई जानकारी इस Website पर लिखते है

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें