नमक्सर मित्रो आज हम आपको DNA Full Form in Hindi के बारे में बताने वाले है अक्सर हम सभी लोग कई बार डीएनए के बारे में पढ़ते और सुनते रहते है लेकिन ज्यादातर लोगो को इसके बारे में पता नही होता की आखिर इसका पूरा नाम क्या होता है और डीएनए कब और किसलिए करवाया जाता है तो इसके बारे में हम इस आर्टिकल में विस्तृत रूप से बताने वाले है इसलिए यह जानकारी आपके लिए बेहद ही उपयोगी साबित हो सकती है.

DNA Full Form in Hindi

अक्सर कई लोग गूगल पर डीएनए के बारे में सर्च करते रहते है लेकिन उन्हें इसके बारे में पूरी जानकारी डिटेल्स से नही मिल पाती ऐसे में उन्हें डीएनए के बारे में समझने में काफी ज्यादा परेशानी होती है लेकिन हम आपको बहुत ही आसान तरीके से डीएनए से जुडी जानकारी बता रहे है इसके बारे में जानने के लिए आप DNA Full Form in Hindi आर्टिकल को ध्यान से पढ़े ताकि आपको हमारे बताई गयी जानकारी समझ में आ सके.

DNA Full Form in Hindi

डीएनए क्या होता है एवं किसे कहते है इसके बारे में बताने से पहले हम आपको डीएनए का हिंदी एवं अंग्रेजी में पूरा नाम क्या होता है इसके बारे में बता रहे है ताकि आपको इसका पूरा नाम पता चल सके.

DNA Full form  – deoxy ribonuclic acid

हिंदी में इसे डी-ऑक्सीराइबोन्यूक्लिक अम्ल भी कहा जाता है एवं यह हमेशा जीवित रहता है और एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में स्थान्तरित (ट्रांसफर) होता रहता है, डीएनए का एक ऐसा अणु होता है जो की 4 प्रकार के न्यूक्लियोटाइड से मिलकर बना होता है यह  न्यूक्लियोटाइड एडिनीन , ग्वानिन, थाइमिन, साइटोसिन कहलाते है एवं यह सभी न्यूक्लियोटाइडों एक दुसरे के साथ फॉस्फेट से जुड़े हुए होते है.

DNA क्या है

डीएनए की खोज जेम्स वाटसन और फ्रैंकिस क्रिक ने 1953 में  की थी एवं डीएनए सभी जीव आदि जैसे जानवरों, पौधों, प्रोटिस्ट और बैक्टीरिया आदि में भी पाया जाता हैं. हमारे शरीर में लाल रक्त कणिकाओं को छोड़कर लगभग हर एक कोशिका में डीएनए पाया जाता हैं डीएनए हमारे शरीर का विकास करने के साथ प्रजनन, वृद्धि आदि के निर्देश देते हैं.

माना जाता है की  हमारे शरीर के सभी डीएनए को  सुलझाया जाए तो यह सूर्य पर जाकर 300 गुना बार वापिस पृथ्वी पर आ सकते हैं यह हर जीव की प्रत्येक कोशिका में पाया जाता है जो की निर्धारित करता है कि कोशिका क्या प्रोटीन बनाएंगे, मनुष्य के शरीर में जो डीएनए पाया जाता है वो डीएनए माता पिता के डीएनए के मिश्रण से मिल कर बना होता है जिसके कारणवश माता पिता के लक्षण बच्चो में पाए जाते है जैसे चेहरा, रंग, बालो के प्रकार आदि.

यह माता पिता से उनकी संतान में ट्रान्सफर होता रहता है इस कारण से यह हमेशा ही जीवत रहता है एवं अमर होता है व हर एक जीवन में यह एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में स्थान्तरित होता है इसी का इस्तमाल करके किसी भी बच्चे के डीएनए से उसके माता पिता का पता चलागा जा सकता है.

डीएनए कितने प्रकार का होता हैं

डीएनए न्यूक्लियोटाइड  नाम की अणुओ से मिलकर बना होता हैं व हर न्यूक्लियोटाइड के  3 अलग अलग प्रकार (फास्फेट अणु, शुगर अणु, नाइट्रोजन बेस) होते हैं.नाइट्रोजन बेस 4 अलग अलग प्रकार के होते है जो डीएनए की सरंचना करते हैं.

  • एडेनिन
  • ग्वानिन
  • थायमिन
  • साइटोसिन

DNA के रोचक तथ्य

अक्सर बहुत से लोगो को डीएनए के बारे में काफी कुछ पता नही होगा ऐसे में हम आपको डीएनए के बारे में कुछ बेहद ही खास और रोचक बाते बता रहे है जिनके बारे में आपको पता होना बेहद ही ज्यादा आवश्यक है हम आपको डीएनए से जुडी कुछ बेहद ही खास जानकारी बता रहे है जो निम्न प्रकार से है.

  • डीएनए टेस्ट के लिए अधिकांश गाल की कोशिकाओं, मूत्र व खून के सैम्पल का इस्तमाल किया जाता हैं.
  • हर दिन हमारे शरीर से लगभग  1,000 से 10 लाख तक डीएनए नष्ट हो जाते हैं.
  • मानव शरीर का डीएनए केले, गोभी और चिम्पांजी के डीएनए के समाना पाया जाता हैं.
  • माना जाता है की मात्र एक चम्मच डीएनए में पुरे विश्व की सभी प्रजाति की जानकारी रखी जा सकती हैं.
  • मानव शरीर में 20000 हजार से भी ज्यादा जीन  पाए जाते हैं.
  • मनुष्य के शरीर की प्रत्येक कोशिका में डीएनए पाया  जाता हैं जब कोशिका विभाजित होती है तो डीएनए की एक कॉपी बन जाती है जिसके कारण दोनों अलग अलग कोशिकाओं में डीएनए पहुंच जाता हैं.
  • सूर्य की UV किरणों से हमारे शरीर का डीएनए नष्ट होने लग सकता हैं.

DNA कहा पर पाया जाता है

सभी को इसके बारे में विशेष रूप से ध्यान होना चाहिए की आखिर यह डीएनए कहा पर पाया जाता है तो हम आपको बता दे की यह हमारे शरीर की लाल रक्त कोशिकाओं को छोड़कर अन्य सभी कोशिकाओं में पाया जाता है व हम सभी मनुष्य का डीएनए माता पिता के डीएनए के मिश्रण से बनता है जिसके कारण माता पिता के कई लक्षण और आदते बच्चो में देखने को मिलती है जिसमे रंग रूप, बालो का रंग, बोलने का तरीका, सोच विचार, आखे, कद आदि कई विशेषताएं हो सकती है.

DNA Test कैसे किया जाता है

अक्सर कई लोग सोचते है की हमारे शरीर का डीएनए टेस्ट कैसे किया जाता है तो आज के समय में विज्ञान में 1200 तरह के अलग अलग डीएनए टेस्ट मौजूद है एवं डीएनए टेस्ट की मदद से किसी भी व्यक्ति के संबंधो के बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती हैं, मनुष्य के डीएनए उसके माता पिता के डीएनए से मिलकर बने हुए होता है  जो वशांनुगत भी हो सकते है एवं कई बार यह बड़े बड़े अपराधों की सुलझाने में भी मदद करते हैं.

आप जानते है की जो छोटे बच्चे होते है वो जब बीमार होते है तो उसके बारे में वो किसी को बता नहीं पाते ऐसे में आज के समय में बच्चो की बिमारी को पहचानने के लिए भी डीएनए की सहायता ली जाती है जिससे की बच्चो को सही इलाज दिया जा सके.

डीएनए टेस्ट व्यक्ति के बालो, गाल की कोशिकाओं, मूत्र के सेम्पल, त्वचा, खून आदि की मदद से प्राप्त किया जा सकता है व इनकी मदद से ही डीएनए की जाँच की जाती है यह जांच मुख्यत किसी भी प्रयोगशाला में की जा सकती है इस जांच की रिपोर्ट को आने में 10 से 15 दिन तक का समय लग सकता है वही इस रिपोर्ट की जाँच करवाने में कुल 5000 रूपए से लेकर 50,000 रूपए तक का खर्च आ सकता है इसका खर्च डीएनए रिपोर्ट के ऊपर निर्भर करता है की रिपोर्ट किस प्रकार की है.

डीएनए के कार्य

डीएनए के कार्य कई अलग अलग प्रकार के होते है हम आपको इसके कुछ मुख्य कार्य के बारे में बता रहे है जिसके बारे में आपको पता होना आवश्यक है व हम आपको इसके कुछ महत्वपूर्ण कार्य बता रहे है जो निम्न प्रकार से है.

  • उत्तराधिकार
  • कोशिकीय चयापचय
  • प्रतिलिपिकरण
  • DNA फिंगरप्रिंटिंग
  • कोशिका विभाजन के दौरान डीएनए का समान वितरण
  • डीएनए एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक आनुवांशिक जानकारी को स्थानांतरित करता है

निम्न प्रकार से डीएनए के कई अलग अलग तरह के कार्य होते है एवं कई तरह की जाँच एवं टेस्ट में भी इसका इस्तमाल किया जाता है यह हर एक जीव एवं पेड पौधों में भी आसानी से पाया जाता है.

डीएनए सैम्पल कहा से प्राप्त किये जाते है

हमारे शरीर में कई अलग अलग जगह से डीएनए के सैंपल प्राप्त किये जा सकते है हम आपको कुछ मुख्य जगह के बारे में बता रहे है जहा से अधिकांश बार सैंपल लिए जाते है.

मुँह से– कई बार डीएनए की जांच के लिए उसके सैंपल इंसान के मुँह से प्राप्त किये जाते है माउथवॉश के द्वारा मनुष्य के मुँह में सेल जमा किये सकते हैं इसकी जांच करने के लिए कई मान्यताप्राप्त प्रयोगशालाएं होते है व इसकी पूरी रिपोर्ट 15 दिन तक प्राप्त हो जाती हैं.

बालो द्वारा – हमारे शरीर के सभी कोशिका में डीएनए पाया जाता है जिसके कारण कई बार बालो के द्वारा भी डीएनए के सैंपल लिए जा सकते हैं.

मूत्र द्वारा– अधिकांश बार मूत्र के द्वारा डीएनए प्राप्त किया जाता है यह किसी भी व्यक्ति के सम्बन्धो के बारे में पहचानने में मदद करता है इसके साथ ही यह कई बारे बारे अपराधों को सुलझाने में भी बहुत मददगार होता हैं.

खून द्वारा –  डीएनए के टेस्ट के लिए खून के सैम्पल भी लिए जा सकते है और खून के माध्यम से आपके डीएनए की जानकारी प्राप्त की जा सकती हैं.

गालो के अंदरूनी हिस्सों से –  डीएनए टेस्ट के लिए हमारे गालो का अंदरूनी हिस्सा उतक  भी लिया जा सकता है इसको Buccal Swab भी कहा जाता है को हमारे गालो के अंदर से लिया जाने वाला सैम्पल हैं.

उस तरह से आवश्यकतानुसार शरीर के कई अलग अलग हिस्सों से डीएनए टेस्ट लिया जाता है एवं यह रिपोर्ट के ऊपर निर्भर करता  है की व्यक्ति के किस अंग से डीएनए टेस्ट लिया जायेगा.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको DNA Full Form in Hindi व DNA क्या होता है इससे सम्बंधित जानकारी बताने का प्रयत्न किया है हमे उम्मीद है की आपको हमारी बताई गयी जानकारी जरूर पसंद आयी  होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर जरूर करें व इससे जुड़ा किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहते है तो कमेंट आदि के माध्यम से भी बता सकते है.