नमस्कार मित्रों आज हम आपको DM Full Form क्या होता हैं व DM किसको कहते हैं व कैसे बनते हैं इन सब के बारे में आज के आर्टिकल में  जानकारी देने वाले हैं आज हम  DM बनने के बारे मे बताने वाले हैं व DM Education Qualification, Age Limit, Selection Process etc के‌ बारे मे आपको Details से बताने वाले हैं जिससे आपको DM Kaise Bane उसकी पूरी प्रक्रिया आसानी से समझ मे आ सके.

आज हर युवा की पहली पसंद होती हैं वो सिविल अधिकारी बने पर अगर बात न्यायाधीश  बनने की हो तो जुनुन और भी बढ जाता हैं जैसे की आप जानते हैं की  magistrate की post बहुत बडी व powerful होती हैं एक magistrate के पास बहुत से अधिकार होते हैं व साथ ही ये एक सम्मानजनक नौकरी भी हैं आज हम आपको dm full form और dm कैसे बने इसके बारे मे पूरी जानकारी देने वाले हैं.

DM Full Form क्या होता है

बहुत से लोगो को DM के पुरे नाम के बारे में पता नहीं होती तो हम पहले आपको इसके नाम के बारे में पूरी जानकारी बता देते हैं

DM full form – district magistrate हैं व हिन्दी मे इन्हैंं जिला न्यायाधीश भी कहते हैं प्रत्येक जिले मे एक ना एक न्यायालय होता हैं वहा  जो न्यायाधीश होते  हैं। उन्हैंं जिला न्यायाधीश कहा जाता हैं.

District Magistrate  बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

DM  बनने के लिए कुछ जरुरी योग्यता रखी गयी है आपको उसे पूरा करना जरुरी है तभी आप इसमें आवेदन कर सकते है जिला न्यायाधीश बनने के लिए  उम्मीदवारों का किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक ( Graduation ) पास होना अनिवार्य हैं.

District Magistrate बनने के लिए उम्र सीमा

जिला न्यायाधीश पद के लिए सभी वर्गो के लिए अलग अलग उम्र सीमा रखी गयी है.

  1. General – 21 वर्ष से 30 वर्ष तक
  2. OBC  – 21 वर्ष से 33 वर्ष तक
  3. ST/ST – 21 वर्ष से 35 वर्ष तक

District Magistrate की चयन प्रक्रिया

जिला न्यायाधीश बनने के लिए  UPSC – Union Public Services Commission द्वारा आवेदन जारी किया जाता हैं व इसके लिए State Civil Service Examination परीक्षा करायी जाती है  व इसमे 3 तरह की चयन प्रक्रिया रखी गयी हैं जिसके आधार पर IAS का चयन किया जाता हैं बादमे पदोन्नति से  जिला न्यायाधीश पद पर चयन किया जाता हैं.

1. प्रारम्भिक परीक्षा – Preliminary Exam

आवेदन करने के बाद ये पहला चरण होता हैं जिसमे सभी आवेदन करने वाले अभ्यार्थी इस् परीक्षा मे भाग ले सकते हैं.

2. मुख्य परीक्षा – Main Exam

प्रारम्भिक परीक्षा पास करने के बाद ये दुसरा चरण होता हैं इस परीक्षा मे वो ही उम्मीदवार भाग ले सकते हैं जो प्रारम्भिक परीक्षा मे सफल घोषित हुए हो व जिला न्यायाधीश बनने के लिए ये अन्तिम लिखित परीक्षा है.

3. साक्षात्कार – Interview

लिखित परीक्षा मे उतीर्ण होने पर साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता जिसमे कुछ अधिकारी आपसे कुछ सवाल जवाब करेगे व उसमे आपके प्रदर्शन के आधार पर आपको marks दिये जाते हैं.

Distinct Magistrate की तैयारी कैसे करे

अगर आप DM  बनना चाहते है तो इसकी तयारी करने के   बारे में हम आपको कुछ आसान से टिप्स बता रहे है उनको फॉलो कर के आप इसकी बेहतरीन तरीके से तयारी कर सकते है

1. DM की तैयारी के लिए सबसे पहले आपको पिछले सत्र के प्रश्न अच्छे से पढने चाहिए इससे आपको DM की तैयारी के लिए अधिक से अधिक जानकारी आपको प्राप्त होगी.

2. अपने gk general knowledge को strong बनाये क्युँकि ज्यादातर सवाल gk से जुडे होते हैं। इसके लिए प्रतिदिन अखबार पढे.

3. कानूनी किताबो को अधिक से अधिक पढे क्युँकि न्यायालय कानून पर आधारित हैं इसलिए कानूनी जानकारी होनी अनिवार्य हैं.

हमें उम्मीद  हैं की आपको हमारे द्वारा बतायी गयी जानकारी Dm Full Form व Dm कैसे बने जरूर पसंद आयी होगी व अगर आप इससे सम्बंधित कोई सवाल आदि पूछना चाहते हैं तो आप हमे comment कर सकते हैं व जानकारी अच्छी लगे तो कृपया इसको social media पर share भी जरूर करे ताकि अन्य लोगो को भी इसके बारे में जानकारी प्राप्त हो सके.

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें