नमस्कार मित्रो आज हम आपको DG Full Form के बारे में बताने वाले है अक्सर कई लोग इसकें बारे में सवाल पूछते रहते है की डीजी क्या होता है और इसका पूरा नाम आदि क्या होता है तो इस आर्टिकल में हम आपको इससे जुडी पूरी जानकारी विस्तृत रूप से बताने वाले है ताकि आपको डीजी क्या होता है इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो सके.

DG Full Form

अक्सर कई बार आपने इस शब्द के बारे में पढ़ा और सुना होगा लेकिन बहुत ही कम लोगो को पता होता है की डीजी क्या होता है या डीजी के कार्य कौन कौनसे होते है तो यह आर्टिकल इसीलिए लिखा गया है ताकि हम आपको डीजी से जुडी पूरी जानकारी विस्तृत रूप से बता सके इसके बारे में जानने के लिए आप DG Full Form क्या है यह आर्टिकल ध्यान से पढ़े ताकि आपको हमारी बताई गयी जानकारी समझ में आ सके.

DG Full Form in Hindi

DG क्या होता होता है एवं इनके कार्य आदि कौन कौनसे होते है इन सब के बारे में बताने से पहले हम आपको इसका पूरा नाम क्या होता है इसके बारे में बता रहे है जो की निम्न प्रकार से है.

DG Full Form – Director General

हिंदी में इसे डायरेक्टर जनरल या महानिदेशक भी कहा जाता है यह किसी भी कंपनी या किसी भी सरकारी संस्थान आदि का वरिष्ठ अधिकारी होता है एव यह बहुत ही बड़ा पद होता है इस पद के अंतर्गत कई तरह के कर्मचारी और अधिकारी कार्य करते है वो सभी एक महानिदेशक के निर्देशानुसार ही कार्य करते है.

DGP क्या होता है

डीजीपी का अर्थ होता है डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस यह पुलिस विभाग का बहुत ही बड़ा पद है इन अधिकारियो को पुलिस महानिदेशक के रूप में भी जाना जाता है इस पद पर केवल आईपीएस अधिकारियो की नियुक्ति की जाती है अगर कोई भी व्यक्ति महानिदेशक के रूप में पद प्राप्त करना चाहता है तो उसे पहले आईपीएस बनना होता है इसके बाद कुछ वर्ष तक आईपीएस के रूप में कार्य करना होता है बादमे प्रमोशन के द्वारा उस व्यक्ति को महानिदेशक के पद पर नियुक्ति दी जाती है.

किसी भी राज्य में डीजीपी का पद बेहद ही महत्वपूर्ण होता है क्युकी यह पुरे राज्य की पुलिस व्यवस्था के लिए जिम्मेदार होते है ऐसे में आप समझ सकते है की यह किस लेवल का पद है, पुलिस विभाग में महानिदेशक को एक केबिनेट मंत्री की तरह ही दर्जा प्राप्त होता है एवं यह अपने राज्य का सबसे बड़ा पुलिस अधिकारी होता है अन्य सभी पुलिस अधिकारी इनके अंतर्गत कार्य करते है एवं इनके निर्देशानुसार कार्य करते है.

डीजी का कार्य

डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस के कई तरह के अलग अलग कार्य होते है हम आपको इनके कुछ मुख्य कार्यो के बारे में बता रहे है जिनके बारे में आपको पता होना आवश्यक है यह कार्य निम्न प्रकार से है.

  • डीजीपी का सबसे मुख्य कार्य अपने राज्य में कानूनी व्यवस्था को बनाए रखना होता है.
  • महानिदेशक अपने राज्य में शांति व्यवस्था को बनाये रखने के लिए जिम्मेदार है एवं यह सुनिश्चित करते है की उनके राज्य में कानूनी व्यवस्था सुचारू रूप से लागू है अथवा नही है.
  • महानिदेशक अपने राज्य में अपराध की दर कम करने के लिए कार्य करते है एवं अपने राज्य के हर जिले से अपराधो की रिपोर्ट लेते है इसके साथ ही यह पुलिस विभाग के अधिकारियो को निर्देश देते है की उन्हें किस प्रकार से कार्य करना है ताकि उनके क्षेत्र में अपराध कम किये जा सके.
  • डीजी नियमित रूप से अपने क्षेत्र में आने वाले पुलिस विभागों एवं थानों का निरिक्षण करते रहते है एवं यह सुनिश्चित करते है की पुलिस सही से कार्य कर रही है या नही कर रही.
  • डीजी अपने अन्य अधिकारियो के साथ राज्य सरकार के द्वारा किये जाने वाले बेहतरीन कार्यो के लिए प्रोत्साहित करते है.
  • डीजी हर वर्ष अपने राज्य की सरकार को कानूनी व्यवस्था एवं अपराध दर की रिपोर्ट पेश करते है.

इस तरह से इनके कई अलग अलग तरह के कार्य होते है हमने आपको इनके कुछ महत्वपूर्ण कार्य बताये है इसके अलावा भी इन्हें कई तरह के अलग अलग कार्य करने होते है इनके सभी कार्यो के बारे में बताना काफी ज्यादा मुश्किल है यह बेहद ही जिम्मेदारी वाला पद होता है.

डीजी बनने के लिए शैक्षिक योग्यता

अगर आपको डीजी बनना है तो इसके लिए आपका किसी भी मान्यताप्राप्त विश्विधालय से स्नातक उतीर्ण होना अनिवार्य है इसके बाद ही आप डीजी बन सकते है अगर कोई व्यक्ति स्नातक के अंतिम वर्ष की परीक्षा दे चूका है लेकिन उसका रिजल्ट अभी तक नही आया है तो वो भी इसमें आवेदन करने के लिए योग्य माना जायेगा.

डीजी बनने के लिए उम्र सीमा

अगर आपको डीजी बनना है तो इसके लिए आपकी न्यूनतम उम्र 21 वर्ष एवं अधिकतम उम्र 30 वर्ष तक होनी चाहिए इसके साथ ही आरक्षित वर्गों को उम्र में छुट देने का भी प्रावधान होता है इसमें आरक्षित वर्गों को निम्न प्रकार से छुट दी जाएगी.

  • OBC वर्ग के उम्मीदवारों को उम्र में 3 वर्ष की छुट दी जाती है
  • ST/SC वर्ग के उम्मीदवारों को उम्र में 5 वर्ष की छुट दी जाती है.

डीजी कैसे बनते है

अगर आपको डीजी बनना है तो सबसे पहले आपको इसमें ऑनलाइन आवेदन करना होता है इसके लिए UPSC के द्वारा आईएएस आईपीएस पद के लिए भर्ती आयोजित की जाती है आपको इसकी विज्ञप्ति जारी होने पर आवेदन करना होता है इसके बाद आपको आईएएस से प्रमोशन के द्वारा डीजी का पद सौपा जाता है.

जब आप आईपीएस बनते है तो इसके बाद कुछ समय तक बेहतर सेवा देने पर आपका प्रमोशन SP के पद पर किया जाता है इसके बाद आपको प्रमोशन के द्वारा SSP पद सौपा जाता है एवं SSP से आप सीधे DIGP बन जाते है इसके बाद आपको प्रमोशन के द्वारा  IGP का पद दिया जाता है एवं बादमे आप प्रमोशन के द्वारा ADGP बन जाते है इसके बाद आपको परोशन के द्वारा डीजी का पदभार सौपा जाता है इस प्रकार से आप एक डीजी बन सकते है.

UPSC चयन प्रक्रिया

अगर आप UPSC में आवेदन करते है तो इसके बाद आपको इसकी चयन प्रक्रिया से गुजरना होता है इसकी चयन प्रक्रिया 3 अलग अलग चरणों में रखी गयी है जो की निम्न प्रकार से है.

प्रारंभिक परीक्षा – जब आप इसमें आवेदन करते है तो इसके बाद सबसे पहले आपको प्रारंभिक परीक्षा देनी होती है इसमें सभी आवेदनकर्ता हिस्सा लेते है एवं इस परीक्षा में आपको 100 – 100 अंको के 2 ऑब्जेक्टिव टाइप के प्रश्न पत्र दिए जाते है जिन्हें आपको क्लियर करना होता है इसके बाद ही आप अगले चरण में जा सकते है.

मुख्य परीक्षा – जब आप प्रारंभिक परीक्षा में सफल हो जाते है तो इसके बाद आपको मुख्य परीक्षा में बुलाया जाता है इसमें आपकी ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव दोनों तरह की परीक्षा होती है यह बहुत ही कठिन परीक्षा है इसे क्लियर करने के लिए आपको बहुत ही ज्यादा मेहनत करनी होती है तभी आप इस परीक्षा को क्लियर कर सकते है.

इंटरव्यू – जब आप लिखित परीक्षा में सफल हो जाते है तो इसके बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है इसमें एक पेनल के सामने आपका इंटरव्यू लिया जाता है जिसमे आपको प्रदर्शन के आधार पर अंक दिए जाते है यह अंक आपकी मेरिट में भी जोड़े जाते है.

अन्य में एक मेरिट जारी होती है और इसके द्वारा किसी भी कैंडिडेट का आईपीएस के लिए चयन किया जाता है बादमे चयनित उम्मीदवारों को ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है जब उनकी ट्रेनिंग पूरी हो जाती है तो इसके बाद उन्हें आईपीएस पद पर पोस्टिंग दी जाती है इस प्रकार से आप एक आईपीएस बन सकते है और प्रमोशन के द्वारा डीजी बन सकते है.

डीजी का वेतन

डीजी का पद बेहद ही जिम्मेदारी वाला होता है इस कारण से इनका वेतन भी बहुत ही अधिक होता है अगर आप डीजी बन जाते है तो इसके बाद आपको सामान्यत 56000 रूपए से लेकर ₹225000 रूपए तक का वेतन दिया जा सकता है इसके साथ ही आपको अन्य कई तरह की सुविधाए एवं भत्ते भी प्रदान किये जाते है जिसमे बिजली, टेलेफोन. मेडिकल, आवास, महंगाई भत्ता, नौकरी, वाहन आदि जैसी सुविधाए शामिल है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको DG Full Form के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको डीजी के बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके बता सकते है.

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें