CTC Full Form in Hindi | सी. टी. सी. का पूरा नाम क्या है?

नमस्कार मित्रो आज हम आपको CTC Full Form in Hindi के बारे में जानकारी देने वाले है अक्सर कई लोगो के मन में सीटीसी को लेकर अलग अलग तरह के सवाल होते है एवं कुछ लोग इसे अच्छा समझते है तो कुछ लोग इसे बुरा भी समझते है ऐसे में आपको इसका अर्थ और महत्व पता होना बेहद ही आवश्यक है.

CTC Full Form in Hindi

हाल में ज्यादातर कंपनी के द्वारा अपने कर्मचारियों को सीटीसी का लाभ दिया जाता है लेकिन कुछ कर्मचारियों को इसके बारे में जानकारी नही होती अगर आप सीटीसी के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो CTC Full Form in Hindi आर्टिकल को ध्यान से पढ़े ताकि आपको पूरी जानकारी प्राप्त हो सके.

CTC Full Form in Hindi

अक्सर कई कंपनी ऐसी होती है जो अपने कर्मचारियों को नौकरी पर रखती है तो उन्हें सीटीसी के रूप में वेतन देती है इस प्रक्रिया में उनका वेतन सीधे उनके बैंक अकाउंट में भेजा जाता है हालांकि इस प्रक्रिया में कर्मचारियों को उनके वेतन का 30% से 40% ही पैसा दिया जाता है इससे जुडी अन्य जानकारी बताने से पहले हम आपको इसका पूरा नाम बता रहे है जो निम्न प्रकार से है.

CTC Full Form – Cost To Company

हिंदी में कंपनी को लागत कहा जाता है एवं कई लोग इसे कर्मचारी के वेतन का वार्षिक पॅकेज भी कहते है इसमें किसी भी कंपनी के द्वारा कर्मचारी पर कितना खर्च होता है उसे दर्शाता जाता है एवं इसमें प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष दोनों तरीके से होने वाले लाभ को शामिल किया जाता है.

सीटीसी क्या है

भारत की कुछ बड़ी कंपनियां ही इस प्रक्रिया को अपनाती है इस प्रक्रिया में कंपनी और कर्मचारी दोनों के अलग अलग फायदे होते है इस प्राक्रिया में कंपनी अपने कर्मचारियों को कितना वेतन देती है एवं उस वेतन के साथ साथ कंपनी अपने कर्मचारियो को जो अन्य सुविधाए प्रदान कर रही है उसकी लागत कितनी आ रही है इन सभी खर्चो को मिलाकर कंपनी कर्मचारियों का वेतन वार्षिक पॅकेज के रूप में दर्शाती है.

अगर कोई कंपनी अपने कर्मचारी को 10 लाख का वेतन देती है और उस कर्मचारी के मकान किराया, वाहन, भोजन आदि का वार्षिक खर्च 4 लाख हो रहा है तो कंपनी उस कर्मचारी को 10 लाख में से 4 लाख रूपए काटकर 6 लाख रूपए का ही वेतन प्रदान करती है.

सीटीसी में दिए जाने वाले फायदे

हर एक कंपनी सीटीसी में अपने कर्मचारियों को अलग अलग प्रकार के फायदे देती है ऐसे में आपको इनके फायदों की जानकारी होनी बेहद ही आवश्यक है हम आपको इसके कुछ मुख्य फायदे बता रहे है जो की निम्न प्रकार से है.

प्रत्यक्ष लाभ – इसमें कोई भी कंपनी अपने कर्मचारियों को सीधा लाभ प्रदान करती है जिसमे पेमेंट भुगतान प्रणाली शामिल होती है इसके तहत किसी भी कर्मचारी को प्रतिमाह निश्चित वेतन दिया जाता है.

अप्रत्यक्ष लाभ – इसमें कर्मचारी को सीधे तौर पर लाभ नहीं दिया जाता इसमें आपको कंपनी के द्वारा कुछ अलग अलग प्रकार की सुविधाए प्रदान की जाती है जिसमे वाहन खर्च, आवास खर्च, मोबाईल खर्च, मेडिकल खर्च आदि शामिल होते है.

बचत योगदान – इसमें कर्मचारियों के वेतन से कुछ खास कटौतियां की जाती है जिनका फायदा कर्मचारियों को भविष्य में दिया जाता है इसमें पीएफ, पेंशन मेडिकल इन्शुरन्स आदि शामिल होते है.

CTC और सैलेरी में क्या अंतर है

सीटीसी और वेतन में कई प्रकार के अंतर होते है सीटीसी एक वार्षिक पॅकेज होता है जिसमें कंपनी आपके ऊपर खर्च होने वाले सभी खर्चो को शामिल करके दर्शाती है वही वेतन में आपको एक निश्चित राशि दी जाती है आपका जितना मासिक वेतन निश्चित होता है आपको प्रतिमाह उतना ही वेतन दिया जाता है उसमे किसी भी प्रकार की कटौती नही की जाती.

ग्रोस सैलरी क्या होती है

इसमें कंपनी के द्वारा अन्य कई प्रकार की सुविधाए जैसे मकान, गाड़ी, मोबाइल, इंटरनेट, ट्रैवलिंग प्रदान की जाती है तो इन सभी का खर्च कंपनी के द्वारा उठाया जाता है यह सभी खर्चा आपके वार्षिक पॅकेज में से ही काटा जाता है इन सभी खर्चो में से पीएफ और ग्रेच्युटी को निकालने के बाद जो भी वेतन बचता है उसी को ग्रोस सैलेरी कहा जाता है.

नेट सैलरी क्या होती है

ग्रोस सैलरी से जो टैक्स, प्रोविडेंट फंड और अन्य सभी प्रकार की कटौतियां करने के बाद अंतिम रूप से आपको जो निश्चित राशि प्राप्त होती है जिसे हम सैलेरी के रूप में जानते है उसे नेट सैलरी कहा जाता है.

सीटीसी से कर्मचारियों को मिलने वाले फायदे

सीटीसी से कर्मचारियों को यही फायदा होता है की नौकरी के दौरान उन्हें किसी भी प्रकार का खर्चा जैसे मकान किराया, वाहन, मोबाइल बिल आदि के लिए खुद से कोई पैसा खर्च नहीं करना पड़ता यह सभी खर्च कंपनी के द्वारा दिया जाता है हालाँकि बादमे यह सभी खर्चा कर्मचारी के वेतन में से काट दिया जाता है.

अगर कोई कर्मचारी बीमार पड़ जाता है तो उस दौरान यह सुविधा कर्मचारी के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकती है क्युकी इसके द्वारा कर्मचारी को मेडिकल इलाज के लिए बहुत ही अच्छा पैसा दिया जाता है इसके साथ ही इसमें आपका पीएफ भी काटा जाता है जो नौकरी छोड़ते वक्त आपको दिया जाता है.

सीटीसी से कंपनी को फायदा

सीटीसी से कंपनी को भी काफी ज्यादा फायदा होता है इसके द्वारा कंपनी अपने कर्मचारियों पर जबरदस्ती कई तरह की सुविधाए थोप देती है जिसकी ज्यादातर कर्मचारियों को जरूरत नही होती और उन सभी सुविधाओं का कर्मचारियों को अपने वार्षिक पॅकेज में से पेमेंट करना होता है इसका सीधा मतलब यही है की कर्मचारियों को मिलने वाली सभी सुविधाए उनके वेतन से ही दी जाती है इसमें कंपनी अपना एक भी पैसा खर्च नही कर रही है.

साथ ही कई कंपनी ऐसी होती है कर्मचारियों से आवास आदि का कुल लागत से अधिक पैसो की कटौती करती है इसके कारण कर्मचारियों को अपने आवास आदि के लिए अधिक पैसे चुकाने होते है इसके अलावा CTC में कंपनी अपने कर्मचारियों को अधिक वेतन दिखाकर अट्रेक्ट कर सकती है.

इस आर्टिकल में हमने आपको CTC Full Form in Hindi के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारे बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके भी बता सकते ही.

पिछला लेखBf Ka Mood Thik Kaise Kare | बॉयफ्रेंड का मूड ठीक कैसे करें?
अगला लेखOnline DJ Name Maker से अपने नाम का डीजे सोंग कैसे बनाये
Sukhdev Singh
सुखदेव सिंह एक अनुभवी संक्षिप्त रूप विशेषज्ञ और करियर काउंसलर हैं, जिनके पास 9 से अधिक वर्षों का अनुभव है। वे संक्षिप्त रूपों, शब्दावली, और तकनीकी शब्दों के क्षेत्र में विशेषज्ञ हैं। वे संक्षिप्त रूपों को समझने और समझाने में माहिर हैं।

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें