नमस्कार मित्रो आज हम आपको CTC Full Form in Hindi के बारे में बता रहे है आप अगर नौकरी करते है तो अपने कई बार CTC के बारे में पढ़ा या सुना होगा पर आखिर यह होता क्या है और इसके फायदे आदि क्या होते है इसके बारे में बहुत से लोगो को पता नहीं होता तो इसी के बारे में हम आपको जानकारी देने है.

CTC Full Form in Hindi

अक्सर कई बड़ी बड़ी कंपनी अपने कर्मचारियों को CTC की सुविधा उपलब्ध करवाती है जिन्हे यह सुविधा प्राप्त होती है उन्हें तो इसके बारे में पता होता है पर जिनको या सुविधा नहीं मिल रही या मिलने वाली है वो लोग इसको लेकर काफी उत्सुक रहते है की आखिर CTC क्या होता है व CTC Full Form in Hindi क्या होता है तो इसके बारे में जानने के लिए आप हमारा पूरा आर्टिकल ध्यान से पढ़े ताकि आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी समझ में आ सके.

CTC Full Form in Hindi

CTC क्या होता है व इसके फायदे क्या होते है इसके बारे में बताने से पहले इसके पुरे नाम के बारे में बता रहे है.

CTC Full Form – Cost To Company

हिंदी में इसे कंपनी को लागत कहा जाता है व इसके आलावा इसे किसी भी कर्मचारी के वेतन का वार्षिक पॅकेज भी कहा जाता है और यह किसी भी कंपनी के द्वारा उसके कर्मचारी पर खर्च  किये जाने वाले खर्च के बारे में दर्शाता है.

CTC क्या है

हर कंपनी अपने कर्मचारियों को CTC की सुविधा उपलब्ध नहीं करवाती पर बहुत से बड़ी बड़ी कंपनी होती है जो अपने कर्मचारियों को यह सुविधा देती है और इसम किसी भी कर्मचारी को वेतन के साथ कंपनी की तरफ से कुछ सुविधाएं प्रदान की जाती है जिसका खर्च कंपनी के द्वारा वहां किया जाता है और इसका कंपनी वार्षिक हिसाब भी रखती है की किस कर्मचारी पर कंपनी ने सालाना कितने पैसे खर्च किये है.

CTC के अंतर्गत  कंपनी द्वारा अपने कर्मचारियों को कई तरह की अलग अलग सुविधाएं प्रदान की जाती है व यह सुविधाएं निम् प्रकार से होती है जैसे

  • कार्यालय आने जाने का टेक्सी का खर्च
  • मेडिकल, लाइफ इन्सुरांस आदि का कंपनी द्वारा भुगतान
  • कंपनी द्वारा कर्मचारियों को ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध करवाना
  • मेडिकल इलाज के लिए कर्मचारी को सहायता देना
  • रहने के लिए आवास की व्यवस्था करना

आदि कई तरह से कंपनी अपने कर्मचारियों को CTC के अंतर्गत सुविधा प्रदान कर सकती है व सभी कंपनी अपने विवेकानुसार अपने कर्मचारियों को अलग अलग प्रकार की CTC सुविधाएं उपलब्ध करवाती है.

CTC और सैलेरी में क्या फर्क है

कई लोगो के मन में इस प्रकार के सवाल होते है की आखिर CTC और सैलेरी में क्या फर्क होता है तो हम आपको बता दे की इन दोनों में काफी अंतर होता है सैलेरी में कंपनी आपके काम का वेतन प्रदान करती है जबकि CTC में कंपनी आपको वेतन नहीं देती बल्कि इसकी जगह पर कंपनी आपको सुविधाएं प्रदान करती है और इन सुविधा का इस्तमाल करने पर जो भी खर्च आता है वो खर्चा कंपनी स्वय वहन करती है.

उदाहरण के तौर पर जैसे की किसी भी कंपनी के कर्मचारी का वेवतन 30000 रूपए है और कंपनी उस कर्मचारी पर 15000 रूपए CTC में खर्च करती है तो उस कर्मचारी का कॉस्ट 45000 रूपए होगा.

CTC के फायदे क्या है

CTC में आपको सीधे तौर पर रकम प्राप्त नहीं होती पर इसके कई तरह के फायदे होते है व यह अपमी सैलेरी के ही एक पार्ट की तरह होता है क्युकी इससे आपकी सैलेरी की काफी रकम खर्च होने से बच जाती है जैसे की आपको ऑफिस जाने का किराया, रूम या घर का किराया, आपके बीमा या पालिसी के पैसे या मेडिकल आदि के पैसे कर्मचारी को खुद की सैलेरी से खर्च नहीं करने पडते यह पैसे कंपनी खर्च करती है जिससे की कर्मचारी के सैलेरी के पैसे बच जाते है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको CTC Full Form in Hindi के बारे में जानकारी दी है व CTC क्या है और इसके फायदे क्या होते है व CTC और सैलरी में क्या फर्क होता है इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें और इससे जुड़ा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट के माध्यम से बता सकते है.

पिछला लेखUAPA Full Form in Hindi : UAPA Bill क्या है पूरी जानकारी
अगला लेखBSF Full Form in Hindi : BSF Join कैसे करे पूरी जानकारी

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें