नमस्कार मित्रो आज हम आपको Collector Kaise Bane इसके बारे में बताने वाले है अक्सर कई लोगो का सपना होता है की वो एक अधिकारी के रूप में अपना कैरियर बनाये तो कई लोग कलेक्टर बनने का सपना देखते है जो की सबसे बड़ी सरकारी पोस्ट की नौकरी मानी जाती है लेकिन ज्यादातर लोगो को इसके बारे में पता नही होता की आखिर हम एक कलेक्टर कैसे बन सकते है ऐसे में यह जानकारी आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित होने वाली है.

Collector Kaise Bane

अक्सर हर व्यक्ति अपने भविष्य को लेकर अलग अलग तरह के सपने देखता है और उन्हें पूरा करने का प्रयत्न करता है पर इसके लिए आपको पहले यह बात पता होनी जरुरी है की आप जिस चीज के सपने देख रहे है आखिर आप उस मुकाम को हासिल कैसे कर सकते है और इसके लिए आपको क्या क्या करना होगा एवं जिन लोगो का सपना कलेक्टर बनने का है वो Collector Kaise Bane यह आर्टिकल ध्यान से पढ़े ताकि आपको हमारी बताई गयी पूरी जानकारी समझ में आ सके.

Collector Kaise Bane

जिला कलेक्टर कैसे बनते है इसके बारे में बताने से पहले हम आपको जिला कलेक्टर क्या होता है इसके बारे में बता देते है तो यह एक आईएएस अधिकारी होता है व जब किसी आईएएस का प्रमोशन होता है तो इसके बाद उसे कलेक्टर के पद पर नियुक्ति दी जाती है इन्हें जिलाध्यक्ष, कलेक्टर, जिला न्यायाधीश आदि अलग अलग नामो से जाना जाता है.

अगर आप कलेक्टर बनना चाहते है तो इसके लिए पहले आपको आईएएस अधिकारी बनना होता है इसके बाद आप कुछ वर्ष तक आईएएस के पद पर कार्य करने के बाद कलेक्टर के पद पर निर्वाचित हो सकते है और अपना कलेक्टर बनने का सपना पूरा कर सकते है.

कलेक्टर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता

आपको कलेक्टर के लिए आवेदन करना है तो इसके लिए आपका किसी भी मान्यताप्राप्त विश्विधालय से न्यूनतम स्नातक उतीर्ण होना जरुरी है अगर आपने स्नातक के अंतिम वर्ष की परीक्षा दी है और अभी तक उसका परिणाम नहीं आया है तो भी आप इसमें आवेदन करने योग्य माने जायेगे एवं इस भर्ती में आपके अंको को मान्यता नही दी जाती आपके स्नातक में पासिंग मार्क्स है तो भी आप इसमें आवेदन कर सकते है.

कलेक्टर बनने के लिए उम्र सीमा

आपको कलेक्टर बनना है तो इसके लिए आपको आवेदन करना जरुरी है व इसमें आवेदन करने के लिए हर वर्ग की अलग अलग उम्र सीमा रखी गयी है जिसे पूरा करने के बाद ही आप इसमें आवेदन कर सकते है इसके लिए उम्र सीमा निम्न प्रकार से रखी जाती है.

  • General वर्ग – न्युनतम आयु 21 वर्ष व अधिकतम आयु 32 वर्ष
  • OBC वर्ग – न्युनतम आयु 21 वर्ष व अधिकतम आयु 35 वर्ष
  • ST/SC वर्ग –  असीमित वर्षो तक

आप कलेक्टर के लिए आवेदन करते है तो इसमें उम्र के साथ attempt भी रखे जाते है जिसका अर्थ है की कौनसे वर्ग का अभ्यार्थी कलेक्टर की परीक्षा कितनी बार दे सकता है तो इसके attempt निम्न प्रकार से रखे जाते है.

  • General वर्ग – 6 बार
  • OBC वर्ग – 9 बार
  • ST/SC वर्ग – Unlimited

इसके अनुसार ही आप कलेक्टर की परीक्षा दे सकते है जब किसी भी अभ्यर्थी के attempt पुरे हो जाते है तो इसके बाद वो कभी भी कलेक्टर की परीक्षा में शामिल नही हो सकता.

कलेक्टर कैसे बनते है

आपको कलेक्टर बनने के लिए सबसे पहले तो इसमें आवेदन करना होता है इसके आवेदन UPSC यानी की यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा निकाले जाते है जिसमे आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते है, UPSC द्वारा प्रतिवर्ष IAS पद के विज्ञाप्ति जारी की जाती है जब भी इसकी भर्ती निकलती ही तो आपको अपने आवेश्यक दस्तावेजो के साथ इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आईएएस में आवेदन कर देना है.

जब आप इसमें आवेदन कर देते है तो इसके बाद आपको इसकी चयन प्रक्रिया से गुजरना होता है उसके बाद ही आप कलेक्टर बन सकते है इसकी चयन प्रक्रिया किस प्रकार की होगी इसके बारे में हम आपको विस्तृत रूप से बता रहे है.

प्रारम्भिक परीक्षा

जब आप इसमें आवेदन करते है तो इसके बाद सबसे पहले आपको प्रारंभिक परीक्षा देनी होती है जिसमे सभी उम्मीदवार हिस्सा लेते हैं इसे Preliminary Exam भी कहते हैं इसमे आपको सभी Objective टाइप के सवाल पूछे जाते हैं एवं इसमे 200-200 अंको की 2 परीक्षा होती है जिन्हें आपको क्लियर करना जरुरी है.

क्र सं प्रश्न पत्र अंक
1 सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र I 200
2 सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II 200

मुख्य परीक्षा

जब आप प्रारंभिक परीक्षा में सफल हो जाते है तो इसके बाद आपको मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है यह सभी अभ्यर्थियों के लिए बहुत ही कठिन चुनौती होती है इसमें सफल होने के लिए आपको काफी अच्छे से तयारी करनी होती है इसमें आपको कुल 9 पेपर दिए जाते है व हर पेपर में आपको उतीर्ण होना जूरी है इस परीक्षा में आपको ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव दोनों तरह के सवाल पूछे जाते है यह परीक्षा आपकी निम्न प्रकार से होगी.

क्र स प्रश्न पत्र अंक
1. सामान्य अध्ययन I 250
2. सामान्य अध्ययन II 250
3. सामान्य अध्ययन III 250
4. सामान्य अध्ययन IV 250
5. वैकल्पिक विषय I 250
6. वैकल्पिक विषय II 250
7. निबंध लेखन 250
8. अंग्रेज़ी 300
9. भारतीय भाषा 300

इस परीक्षा में आपको जो अंक प्राप्त होते है वो मेरिट में भी जोड़े जाते है इसलिए इस परीक्षा में आपको अच्छे अंक प्राप्त करने की कोशिश करनी चाहिए अगर आपके अंक अच्छे होगे तो आपको आईएएस में अच्छी रैंक मिलेगी जिससे कलेक्टर बनना आपके लिए काफी आसान हो जायेगा.

साक्षात्कार

जब आपकी मुख्य परीक्षा क्लियर हो जाती है तो इसके बाद आपको साक्षात्कार देना होता है इसमें आपका 45 मिनिट का साक्षात्कार होता है व इसमें आपको एक पेनल के सामने इंटरव्यू देना होता है इसमें आपको जो भी अंक प्राप्त होगे वो अप्क्की मेरिट में भी जोड़े जायेगे इसलिए आपको इंटरव्यू में बेहतरीन अंक प्राप्त करने का प्रयास करना चाहिए ताकि आपको इस परीक्षा में बेहतरीन रैंक प्राप्त हो सके.

कलेक्टर का वेतन कितना होता है

कलेक्टर का पद काफी बड़ा पद होता है इस कारण से इस पद पर वेतन भी बहुत ही अच्छा दिया जाता है जब आप कलेक्टर बनते है तो इसके बाद आपका वेतन न्यूनतम 56,100 रुपये और अधिकतम 250,000 रुपये तक हो सकता है इसके साथ अन्य कई तरह की सुविधाए जैस लाइट, पानी, बंगला, नौकरी, ड्राईवर, सिक्यूरिटी, हेल्थकेयर, इन्शुरन्स, टीए, डीए आदि जैसी कई तरह की वीआइपी सुविधाए भी प्रदान की जाती है.

जिला कलेक्टर के कार्य

आप सभी को पता है की जिला कलेक्टर किसी भी जिले का सबसे बड़ा अधिकारी होता है ऐसे में इनके कार्य भी कई तरह के होते है उन्हें बहुत से अलग अलग कार्य करने होते हैं जो निम्न प्रकार से है.

  • कलेक्टर भूमि का मूल्यांकन करने का कार्य करता है है.
  • भूमि अधिग्रहण करने का काम कलेक्टर को करना होता है.
  • भूमि राजस्व का संग्रहण, भूमि रिकार्डों का रख-रखाव, भूमि सुधार आदि से जुड़े कार्य कलेक्टर करते है.
  • उत्पाद शुल्क, बकाया आयकर, सिंचाई बकाया को वसूलने का कार्य इनके द्वारा किया जाता है.
  • बाढ़, सूखा और महामारी जैसी प्राकृतिक आपदाओं से बचाव कार्य.
  • बाह्य आक्रमण और दंगों के समय सुरक्षा प्रदान करता है.
  • आपात स्थिति में लोगो को आवश्यकं सामग्री मुहैया करवाना.
  • कृषि ऋण का वितरण करना.
  • जिला बैंकर समन्वय समिति का अध्यक्षता करने का कार्य.
  • जिला योजना केंद्र की अध्यक्षता करना आदि.

इस तरह से एक जिला कलेक्टर को कई तरह के अलग अलग कार्य करने होते है यह बहुत ही जिम्मेदारी वाला पद होता है इसलिए इसकी चयन प्रक्रिया भी कठिन रखी जाती है ताकि योग्य व्यक्ति ही इस मुकाम को हासिल कर सके.

कलेक्टर बनने के लिए आवेदन कैसे करें

आप कलेक्टर के लिए बहुत ही आसानी से आवेदन कर सकते है इसमें आवेदन करने की प्रक्रिया को बहुत ही आसान रखा गया है इसमें आवेदन करने के लिए आपको कुछ आसान सी प्रक्रिया को फॉलो करना होता है जिसके बारे में हम आपको बता रहे है.

  • सबसे पहले आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट upsc.gov.in पर विजिट करना है.
  • अब आपके सामने इस वेबसाइट का होमपेज ओपन होगा उसमे आपको ‘Apply Online‘ का विकल्प मिलेगा उसके ऊपर क्लिक करें.
  • अब आपके सामने नया पेज ओपन होगा उसमे आपको ‘Online Application for Various Examinations‘ का विकल्प मिलेगा आप उसके ऊपर क्लिक करें.
  • अब आपके सामने कई अलग अलग विकल्प आयेगे उसमे से आपको ‘Civil Services Part-I Registration‘ वाला विकल्प चुन लेना है.
  • अब आपके सामने एक फॉर्म ओपन होगा उसमे आपको आवेदन पत्र के निर्देशों को ध्यान से पढ़ लेना है उसके बाद आपको Yes पर क्लिक करना है.
  • अब आपको एप्लीकेशन फीस भरने का विकल्प मिलेगा उसमे आप नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से फीस का भुगतान कर ले.
  • इसके बाद आपको फॉर्म में मांगी गयी सभी जानकारी सही सही भर लेनी है और मांगे गये सभी डॉक्यूमेंट अपलोड कर देने है.
  • अंत में आपको Submit पर क्लिक कर दें है.

इस तरह से आप आईएएस के लिए आवेदन कर सकते है व जब आप इसमें आवेदन कर लेते है तो इसके बाद आपको जो भी प्रतिलिपि दी जाती है उसकी आपको प्रिंट निकालकर अपने पास सुरक्षित रख लेनी है क्युकी यह बादमे आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है.

कलेक्टर का एडमिट कार्ड कैसे निकाले

आप कलक्टर के लिए आवेदन करते है तो इसके बाद परीक्षा का आयोजन करवाया जाता है इसकी परीक्षा में शामिल होने के लिए आपको एडमिट कार्ड डाउनलोड करना जरुरी है क्युकी एडमिट कार्ड के द्वारा ही आप इसकी परीक्षा दे सकते है इसका एडमिट कार्ड आप निम्न प्रकार से डाउनलोड कर सकते है.

  • सबसे पहले आपको क्रोम ब्राउज़र ओपन करना है और upsc.gov.in की वेबसाइट पर विजिट करना है.
  • इसके बाद आपको इसमें प्रवेश पत्र लॉग इन का विकल्प मिलेगा उसके ऊपर क्लिक करना है.
  • अब आपके सामने दिशा निर्देश दिखाई देगा उसे ध्यान से पढ़कर आपको चेकबॉक्स के ऊपर क्लिक कर देना है.
  • अब आपको सिविल सेवन परीक्षा पंजीकरण संख्या और रोल नंबर का विकल्प मिलेगा उसमें से आप कोई एक विकल्प चुन ले.
  • इसके बाद आपको इसमें पंजीकरण संख्या या रोल नंबर एवं जन्म तिथि दर्ज कर लेनी है.
  • अब आपके mobile या कंप्यूटर की स्क्रीन पर आपका एडमिट कार्ड दिखाई देगा.
  • इसमें आप अपने हॉल टिकट और इसमें छापे गये विवरण को अच्छे से जांच ले.
  • अब आप इसकी प्रिंट निकलकर अपने पास सुरक्षित रख ले.

इस तरह से आप अपने एडमिट कार्ड को डाउनलोड कर सकते है व जब भी आप परीक्षा देने जाते है तो उस वक्त आपको अपना एडमिट कार्ड साथ में लेकर जाना होता है तभी आप परीक्षा में शामिल हो सकते हैं.

कलेक्टर की तयारी कैसे करें

आपको कलेक्टर बनने के लिए इसकी बेहतरीन तरीके से तयारी करनी भी जरुरी है जब तक आप इसकी सही से तयारी नही करेगे तब तक आप इसकी परीक्षा को क्लियर नहीं कर पायेगे इसकी तयारी करने के लिए हम आपको कुछ टिप्स बता रहे है जिन्हें आप अपना सकते है और कलेक्टर बनने की बेहतरीन ढंग से तयारी कर सकते है.

टाइम टेबल बनाये – आपको कलेक्टर बनने के लिए टाइम टेबल बनाना बेहद ही आवश्यक है व उसमे आपको कितने समय तक पढ़ना है व कब तक पढ़ना है इन सब के बारे में समय सारणी बना लेनी है व उसके आधार पर आपको पढाई करनी है इससे आप ज्यादा समय तक पढाई कर पाएंगे और आप परीक्षा के लिए बेहतर तरीके से तयारी भी कर पाएगे.

UPSC को समझे – आप यूपीएससी के द्वारा ही कलेक्टर बन सकते है व इसके आवेदन परीक्षा और एक कलेक्टर का चयन इसके द्वारा ही किया जाता है व आपको कलेक्टर बनने के लिए व इसकी बेहतर तयारी के लिए यूपीएससी के पाठ्यक्रम को समझना बहुत जरुरी है व आप इसके पुराने पेपर देखे व यूपीएससी की परीक्षा में प्रश्न पत्र किस तरह के होते है इसके बारे में पता करे व उन्हें हल करने की कोशिश करें.

NCERT किताब पढ़े – आपको कलेक्टर बनने के लिए NCERT की किताबे पढ़नी बहुत ही जरुरी है व NCERT की किताबो में आप आठवीं से लेकर बाहरवीं तक की किताबे पढ़ सकते है यह किताबे कलेक्टर की परीक्षा को उत्तीर्ण करवाने में बहुत ही बड़ा योगदान रखती है व अगर आपकी NCERT की किताबो में अच्छी पकड़ होगी तो आपकी सफलता की संभावना भी उतनी ही अधिक होगी.

नियमित पढ़ाई करें – कलेक्टर बनने के लिए नियमित रूप से पढाई करनी बेहद ही आवश्यक है व जब आप नियमित रूप से पढाई करते है तो इससे आप बेहतरीन तरीके से पढाई कर पाते है व आपको याद किया हुआ लम्बे समय तक याद रहेगा जिससे की आप परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन दिखा पाएंगे और आसानी से परीक्षा में सफलता प्राप्त कर पाएंगे.

सभी विषय की किताबे पढ़े – कई लोग एक गलती करते है की पुरे सेलेबस की एक ही किताब लेते है और इससे पढाई  करते है जबकि इससे वो सही तरह से पढाई नहीं कर पाते क्युकी इतना बड़ा सेलेब्स आपको एक किताब में नहीं मिल सकता इसलिए आपको हर विषय की अलग अलग किताब रखनी है व उसके आधार पर आपको पढ़ाई करनी है इससे आप हर विषय में डिटेल्स से जानकारी प्राप्त कर पाएंगे और हर विषय में आपकी पकड़ मजबूत होगी जिससे आपके परीक्षा में सफल होने की संभावना बढ़ने लगेगी.

सही वातावरण में पढ़े – आपको कलेक्टर बनने के लिए सही वातावरण में पढ़ना बेहद ही आवशयक है क्युकी आप जितने अच्छे वातावरण में पढाई करते है आप उतनी ही अच्छे तरीके से तयारी कर सकते है व पढाई के लिए सुबह और शाम का वातावरण बहुत अच्छा होता है व इस समय में आप स्वच्छ जगह पर जाकर या छत पर पढाई कर सकते है इससे आपको कोई भी सवाल बहुत ही आसानी से और जल्दी याद होगा.

मोडल पेपर सोल्व करें – आपको कलेक्टर की तयारी करने के लिए कलेक्टर के मोडल पेपर देखने चाहिए और उन्हें सोल्व करना चाहिए क्युकी इससे आपको कलेक्टर की परीक्षा देने का अच्छा अनुभव प्राप्त हो जाता है और आपको पता चल जायेगा की आपकी तैयारी किस प्रकार की है इससे आपको कलेक्टर की परीक्षा देने में काफी ज्यादा फायदा देखने को मिलेगा.

कमजोर सब्जेक्ट पर फोकस रखे – यह सच है की इस परीक्षा में आपको कई सब्जेक्ट से सवाल पूछे जाते है ऐसे में कई लोग अलग अलग तरह के विषय में कमजोर भी होते है तो आपको इस बात का ध्यान रखना है की आप जिस भी विषय में कमजोर है उस विषय पर आप विशेष रूप से ध्यान दे क्युकी एक विषय भी आपको इसमें असफल कर सकती है इसलिए हर सब्जेक्ट पर आपकी अच्छी पकड़ होनी जरुरी है.

पुराने प्रश्न पत्र देखे – आपको कलेक्टर की तयारी करने के लिए पुराने प्रश्न पत्र भी जरुर देखने चाहिए इससे आपको काफी ज्यादा फायदा होगा व आपको पता चल जायेगा की कलेक्टर की परीक्षा में कितने सवाल पूछे जाते है और किस प्रकार के सवाल पूछे जाते है ऐसे में आप कलेक्टर की बेहतर तरीके से तयारी कर पायेगे एवं आप किसी भी बुक डिपो से कलेक्टर के प्रश्न पत्र खरीद सकते है या इन्टरनेट से भी इन्हें डाउनलोड कर सकते है.

कोचिंग ज्वाइन करें – आप सभी को पता ही होगा की UPSC की परीक्षा कितनी कठिन होती है ऐसे में आपको इस परीक्षा में सफल होना है तो आपको क्लास ज्वाइन करनी चाहिए वहां आपको अनुभवी टीचर के द्वारा पढ़ाया जाता है जिससे की आप बेहतर तरीके से UPSC की तयारी कर सके और अपने कलेक्टर बनने के सपने को पूरा कर सके.

ऑनलाइन पढ़ाई करें – आपको कलेक्टर की बेहतरीन तैयारी के लिए ऑनलाइन क्लास भी ज्वाइन करनी चाहिए इसके लिए आप चाहे तो कोई भी ऑनलाइन कोर्स खरीद सकते है व आपके पास कोर्स खरीदने के पैसे नहीं है तो आप YouTube आदि के द्वारा भी इसकी फ्री में तयारी कर सकते है YouTube पर आपको कलेक्टर की तयारी के लिए हर सब्जेक्ट पर एक से बढ़कर एक विडियो देखने के लिए मिल जायेगा.

यह कुछ आसान से तरीके है जिन्हें आप अपना सकते है और कलेक्टर की परीक्षा के लिए बेहतर तरीके से तयारी कर सकते है इसके अलावा आप कोई और भी बेहतर तरीका जानते है तो आप उसे भी जरुर अपनाये क्युकी इसमें आपका एक ही लक्ष्य होना चाहिए की आपको किसी भी हाल में UPSC क्लियर करना है.

Collector FAQ

कलेक्टर बनने के लिए कितने पेपर होते हैं?

आप कलेक्टर के लिए आवेदन करते है तो सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा होगी उसमे आपके 2 पेपर होगा उसमे सफल होने के बाद आपकी मुख्य परीक्षा होगी उसमे आपके कुल 9 पेपर होते है.

कलेक्टर बनने के लिए कितनी हाइट होनी चाहिए?

आप कलेक्टर बनना चाहते है तो इसके लिए हाईट इतनी महत्वपूर्ण नही होती आपकी हाईट ज्यादा या कम है तो भी आप एक कलेक्टर बन सकते है इसमें सबसे महत्वपूर्ण आपका कार्य और आपका अनुभव होता है उसके आधार पर ही आप कलेक्टर बनते है.

कलेक्टर बनने के लिए कौन सा विषय लेना पड़ता है?

आपको कलेक्टर बनना है तो इसके लिए आप किसी भी विषय का चुनाव कर सकते है व किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक कर सकते है हर विषय के अभ्यर्थी इस परीक्षा में शामिल होने के लिए योग्य माने जाते है.

कलेक्टर का कोर्स कितने साल का होता है?

कलेक्टर बनने के लिए हर कोचिंग क्लास अलग अलग तरह से पढ़ाई है आप कोई भी कोचिंग ज्वाइन करते है तो कलेक्टर का कोर्स कितने वर्ष का है उसकी जानकारी पहले जरुर प्राप्त कर ले सामान्यत इसका कोर्स एक या दो वर्ष तक का होता है इसमें आपको इसकी पूरी तयारी करवाई जाती है.

मैं 12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बन सकता हूं?

जी हाँ आप बाहरवी के बाद भी कलेक्टर बन सकते है इसके लिए आपको बाहरवी होने के बाद स्नातक करनी होती है जब आपकी स्नातक पूरी हो जाती है तो इसके बाद आप कलेक्टर के लिए आवेदन कर सकते है.

क्या लड़कियां कलेक्टर बन सकती हैं?

जी हाँ लडकिया भी कलेक्टर बन सकती है भारत में सैकड़ो महिलाये भी अब तक कलेक्टर बन चुकी है और इस पद पर रहते हुए कई बड़े कार्य कर चुकी है इसलिए अगर आप महिला है तो भी आप कलेक्टर बनने योग्य है और इसमें आप आवेदन कर सकती है.

कलेक्टर की 1 महीने की सैलरी कितनी होती है?

कलेक्टर को प्रतिमाह 56,100 रुपये से लेकर 250,000  रूपए तक का वेतन दिया जाता है इसके साथ कई सारी अलग अलग सुविधाए भी प्रदान की जाती है जिसके बारे में हमने आपको इस आर्टिकल में विस्तृत रूप से बताया है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको Collector Kaise Bane इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे और इससे जुडा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके भी बता सकते है.

11 टिप्पणी

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें