नमस्कार मित्रो आज हम आपको CM Full Form In Hindi के बारे में जानकारी देने वाले है इसके साथ ही सीएम क्या होता है और इसके लिए योग्यता क्या क्या होनी चाहिए व इनके कार्य और शक्तिया क्या क्या होती है इन सब के बाते में हम आपको बताने वाले है ताकि आपको सीएम के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो सके.

CM Full Form In Hindi

आये दिन हम सब लोग सीएम के बारे में सुनते रहते है पर कई लोग ऐसे है जिन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं होती की आखिर यह क्या होता है तो आप सभी को सीएम से जुडी जानकारी होनी बेहद ही आवश्यक है इसके साथ ही जो विशार्थी प्रतियोगी परीक्षा की तयारी करते है उन्हें इसके बारे में विशेष रूप से पता होना चहिये क्युकी कई बार CM Full Form In Hindi से जुड़े सवाल भी कई परीक्षा आदि में पूछे जाते है.

CM Full Form In Hindi

सीएम क्या होता है और कैसे बनते है व इसके कार्य शक्तियों और वेतन आदि के बारे में बताने से पहले हम इसके पुरे नाम के बारे में जान लेते है.

CM Full Form – Chief Minister

सीएम को हिंदी में चीफ मिनिस्टर या मुख्यमंत्री भी कहा जाता है भारत में हर राज्य में एक मुख्यमंत्री निर्वाचित होता है जो की राज्य का सबसे बड़ा पद होता है व इस पद पर रहते हुए मुख्यमंत्री को अपने राज्य का सही तरीके से सञ्चालन करना होता है.

मुख्यमंत्री का चुनाव कैसे होता है

मुख्यमत्री का चयन चुनाव के आधार पर ही किया जाता है व इनका चुनाव राज्य की जनता के द्वारा ही तय किया जाता है की कौन उनके राज्य का मुख्यमंत्री बनेगा व चुनाव की पूर्ण जिम्मेदारी चुनाव आयोग की होती है एवं किसी राज्य में पिछली सरकार का कार्यकाल ख़त्म होने को होता है तो उससे पहले ही चुनाव आयोग द्वारा चुनाव करने की घोषणा की जाती है इस चुनाव में 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी व्यक्ति मतदान कर सकते है जिनका नाम मतदान सूचि में होता है.

जब भी चुनाव तिथि की घोषणा होती है तो उसके तुरंत बाद उस शहर या क्षेत्र में आचार सहित लगा दी जाती है जिसका अर्थ है की आवेदनकर्ता पार्टियों पर कुछ पाबंदिया आदि लगा दी जाती है जैसे की वो इस दौरान प्रचार नही कर सकते इसके बाद जब चुनाव होते है तो उसमे जिस पार्टी की जित होती है उसके नेता को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाता है बादमे उनको सविधान की रक्षा के लिए शपथ दिलवाई जाती है.

बहुमत क्या होता है

आपको बहुमत के बारे में जानकारी नही है तो आपको इसके बारे में जानकारी प्राप्त करनी बहुत ही जरुरी है इसमें कुछ सीटो का 50 प्रतिशत से अधिक का समर्थन बहुतमत कहलाता है जैसे की एक 100 लोग है उसमे से 51 लोग किसी एक व्यक्ति का समर्थन करते है तो वो उनका बहुमत हो गया क्युकी उनका मत अधिक या बहुत ज्यादा था.

जैसे किसी राज्य में 100 सीटो पर मतदान हुआ है तो मुख्यमंत्री बनने के लिए उन्हें कम से कम 51 सीटो पर अपनी सरकार बनानी होती है तभी उन्हें बहुमत मिल पाता है उसके बाद राज्यपाल के द्वारा उस पार्टी के नेता को मुख्यमंत्री बनने के लिए आमंत्रित किया जाता है वही कई बार बहुमत न मिल पाने पर सहयोगी दूसरी पार्टी के सह मिलकर बहुमत का आंकड़ा पूरा किया जा सकता है.

सीएम बनने के लिए योग्यता

अगर आप सीएम बनना चाहते है तो आपको इसकी योग्यता के बारे में पता होना जरुरी है इसमें कम पढ़े लिखे व्यक्ति भी सीएम पद पर बैठ सकते है क्युकी किसी नेता के लिए शैक्षणिक योग्यता कोई विशेष नही रखी जाती पर इसके साथ कुछ नियाम भी होते है जिनका पालन करना जरुरी है तभी आप एक सीएम के रूप में अपना कैरियर बन सकते है व मुख्यमंत्री के पद पर आसीन हो सकते है.

मुख्यमंत्री बनने के लिए सबसे पहले आपको अपनी पार्टी को अपने राज्य में चुनाव जिताना होगा व आपकी पार्टी के नेता का बहुमत बनाना होगा अगर आप अपनी पार्टी का बहुमत ला सकते है तो यह अच्छी बात है व अगर बहुतमत नही मिलता तो इस स्थिति में आप विपक्ष का समर्थन प्राप्त कर सकते है व जब आपका बहुतमत हो जाता है तो इसके बाद राज्यपाल के द्वारा आपको मुख्यमंत्री पद के लिए चुना जाता है और इसकी शपथ दिलवाई जाती है.

मुख्यमंत्री के कार्य

आपको मुख्यमंत्री के कार्य के बारे में जानकारी होनी बेहद ही आवश्यक है यह जानकारी आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकती है व इससे जुडी कुछ ब्नेहद ही खास जानकारी हम आपको बता रहे है.

  • किसी भी राज्य में मुख्यमंत्री का पद सबसे बड़ा पद होता है.
  • मंत्रिपरिषद बनाना सीएम का पहला काम होता है व इसके लिए यह सदस्यों का चुनाव सकते है.
  • सीएम के द्वारा मंत्रिपरिषद के सदस्यों की संख्या निश्चित की जाती है व उनके नाम की लिस्ट तैयार की जाती है.
  • सीएम राज्य के सभी पदों को मंत्रियो के बिच में बाटते है.
  • सीएम मंत्रिपरिषद की अध्यक्षता करता है व जब तक मुख्यमंत्री मौजूद है तब तक यह काम कोई अन्य व्यक्ति नही कर सकता.
  • सीएम अपने राज्य में मंत्रिपरिषद की बैठक बुला सकता है.
  • राज्य में नए कानून लागू करना या योजना लागू करना मुख्यमंत्री का कार्य होता है.
  • किसी भी राज्य का मुख्यमंत्री उस राज्य की पार्टी का अध्यक्ष भी होता है.
  • राज्य में लोगो को रोजगार दिलवाना और नए पदों पर विज्ञप्ति जारी करने का कार्य इनके द्वारा होता है.
  • आपातकालीन स्थिति में सीएम को उस स्थान पर राहत सामग्री और उपयुक्त सहायता प्रदान करनी होती है.

यह सभी इनके मुख्य काम होते है और इसके अधिकार होते है इससे आप समझ चुके होगे की एक मुख्यमत्री के पास राज्य को लेकर कितने अधिकार और शक्तिया प्राप्त होती है जिसका वो आवश्यकता पड़ने पर इस्तमाल कर सकते है.

सीएम का वेतन कितना होता है

मुख्यमंत्री का वेतन हर राज्य में वहां के नियमानुसार अलग अलग होता है व इन्हें वेतन के साथ अन्य कई प्रकार की सुविधाए भी सरकार के द्वारा प्रदान की जाती है व मुख्यमंत्री को कितना वेतन दिया जायेगा इसका अधिकार भारत की विधानसभा के पास होता है सामान्यता मुख्यमंत्री को 55 हजार रूपए से लेकर 2 लाख रूपए तक का वेतन दिया जा सकता है इसके अलावा सचिवालय के लिए 30 हजार रूपए और दैनिक खर्च के लिए प्रतिदिन 1500 रूपए अलग से दिए जाते है व अन्य कई तरह की सुविधा जैसे वाहन, आवास, सुरक्षा आदि सरकार के द्वारा निशुल्क उपलब्ध करवाई जाती है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको CM Full Form In Hindi के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट आदि के माध्यम से भी बता सकते है.

पिछला लेख10th के बाद पुलिस कैसे बने व पुलिस की नौकरी कैसे पाए
अगला लेखBC Full Form in Hindi : BC क्या होता है व इसका अर्थ क्या होता है

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें