नमस्कार मित्रो आज हम आपको CA Full Form in Hindi के बारे में बताने वाले है हम सब लोग अक्सर सीए के बारे में सुनते रहते है व कई लोगो को इसके बारे में काफी जानकारी भी होती है तो बहुत से लोगो को इसके पुरे नाम और इनके कार्य और सीए कैसे बनते है इसके बारे में पता नहीं होता ऐसे में यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही उपयोगी होने वाला है क्युकी इसमें हम आपको इससे जुडी पूरी जानकारी देने वाले है.

CA Full Form in Hindi

सीए से जुडी जानकारी सभी के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण होती है व भविष्य में कई बार आपको इससे जुडी जानकारी की आवश्यकता पड़ती है ऐसे में आपको CA Full Form in Hindi और सीए क्या होता है इसके बारे में पता होना चाहिए व इसके बारे में जानने के लिए आप हमारा आर्टिकल ध्यान से पढ़े.

CA Full Form in Hindi

सीए क्या होता है इसके कार्य क्या है व सीए कैसे बनते है इसके बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पुरे नाम के बारे में बता देते है.

CA Full Form – Chartered Accountant

हिंदी में सीए को चार्टर्ड एकाउंटेंट कहा जाता है व इन्हे हिंदी में “सनदी लेखाकार” या “अधिकारपत्रप्राप्त लेखाकार” के रूप में भी जाना जाता है यह कंपनी आदि में सरकारी टेक्स और लेनदेन का लेखा जोखा रखते है.

CA क्या है

सीए एक प्रकार के मुनीम होते है व यह किसी बड़ी कंपनी में या इससे जुड़े  क्षेत्र में सरकारी टेक्स, लेनदेन अदि से जुड़ा लेखा जोखा रखते है व यह कॉमर्स स्ट्रीम का एक बेहद ही लोकप्रिय कोर्स होता है अक्सर कॉमर्स के विधार्थी बाहरवीं के बाद इसी कोर्स का चुनाव करते है व इसके साथ ही यह एक बहुत ही कठिन कोर्स भी होता है बहुत ही कम लोग इसमें सफल हो पाते है.

इस कोर्स को करने के लिए आपको कठिन परिश्रम करने की आवश्यकता होती है व इस कोर्स को करने के बाद अभ्यर्थियों के सामने एक बेहतरीन भविष्य होता है व इस क्षेत्र में आप बहुत ही अच्छी पोस्ट पर काम करते है व सीए  की कमाई की बात करे तो यह बहुत ही अच्छी होती है जो भी विधार्थी एकाउंटिंग के क्षेत्र में रूचि रखते है व इसमें अपना भविष्य बनाना चाहते है वो इस कोर्स को कर सकते है.

लगभग सभी तरह की छोटी बड़ी कंपनी फाइनेंस से जुडी जानकारी प्राप्त करने के लिए सीए की सलाह लेते है व सीए को फाइनेंस से जुड़े कई कार्य करने के अधिकार होते है जिसके कारण इनकी बहुत ही अधिक डिमांड होती है.

CA बनने के लिए योग्यता

अगर आप CA  बनना चाहते है तो आप दसवीं के बाद भी इसके लिए आवेदन कर सकते है व आप बाहरवीं कॉमर्स के बाद भी इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते है इस कोर्स में प्रवेश लेने से पहले आपको आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होता है व इस कोर्स को करने के लिए आपके दसवीं या बाहरवीं के परसेंटेज मायने नहीं रखते.

CA कैसे बने

अगर आप CA  बनना चाहते है तो इसके लिए आपको इस कोर्स के लिए आवेदन करना होता है व दसवीं या बाहरवीं के बाद आप इस कोर्स के लिए आवेदन करते है तो आपको CPT का एंट्रेंस एग्जाम देना होता है वही अगर आप ग्रेडुएशन के बाद इस कोर्स के लिए आवेदन करते है तो आपको एंट्रेंस एग्जाम देने की आवश्यकता नहीं होती इसके लिए आपके ग्रेजुएशन में 55% से अधिक अंक होने चाहिए नहीं तो आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा.

जब आप CPT के एंट्रेस एग्जाम को उत्तीर्ण कर लेते है तो इसके बाद आपको IPCC के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा व इसके सभी एग्जाम को आपको पास करना जरुरी है इसमें आपके दो ग्रुप होते है.

जब आप IPCC के दोनों ग्रुप को उत्तीर्ण कर लेते है तो इसके बाद आपको 3 वर्ष के Practical Training के लिए रजिस्ट्रेशन करना होता है व इस ट्रेनिंग को आर्टिक्लशीप भी कहा जाता है व यह जो ट्रेनिंग होती है वह एक सीए के अंदर में उसकी निगरानी में करनी होती है.

आर्टिक्लशीप तीन वर्ष की होती है पर अगर विधार्थी चाहे तो तीन वर्ष पुरे होने के 6 माह पर्व ही सीए के फ़ाइनल एग्जाम को दे सकता है व यह एग्जाम एडवांस लेवल पर होता है जिसको उत्तीर्ण करना काफी कठिन होता है इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होती है.

जब आप सीए की फ़ाइनल ईयर की परीक्षा को उत्तीर्ण कर लेते है तो  उसके बाद आपको ICAI के द्वारा करवाया जाने वाला GMCS प्रोग्राम पूरा करना होगा उसके बाद आपको ICAI की मेंबरशिप मिल जाती है व इसके बाद आपके नाम के आगे सीए शब्द जुड़ जाता है.

इस तरह से आप सीए की पढाई कर सकते है व आप कड़ी मेहनत और अपने परिश्रम से सीए बन सकते है व एक बार आप सीए बन जाते है तो इसके बाद आपके सामने बेहतरीन भविष्य के कई विकल्प होते हो.

CA की सैलेरी

अगर आप सीए बन जाते है तो इसमें आप किसी निजी संसथान, कंपनी आदि में बैंकिंग, स्टॉक ब्रोकिंग और एकाउंटिंग एवं सेक्रिटी के पद के लिए आवेदन कर सकते है व कई प्रकार के सरकारी अधिकारी पद के लिए भी आवेदन कर सकते है शुरुआत में आपको 30000 से लेकर 80000 रूपए तक का वेतन दिया जा सकता है पर बाद में यह वेतन लाखो रूपए में हो जाता है इसमें वेतन आपके टेलेंट के ऊपर निर्भर करता है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको CA Full Form in Hindi के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी व अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें और इससे जुड़ा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहते है तो आप हमे कमेंट कर के बता सकते है.

पिछला लेखCRPF Full Form in Hindi : सीआरपीएफ क्या है व Join कैसे करें
अगला लेखAIAA Full Form in Hindi : AIAA क्या है व इसकी स्थापना कब हुई

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें