नमस्कार मित्रो आज हम आपको BSTC Full Form के बारे में बतानी वाले है अक्सर आपने इसके बारे में कई बार सुना होगा व इसको सुनकर हमारे मन में कई तरह के अलग अलग सवाल आने लगते है ऐसे में इस आर्टिकल में हम आपको इससे जुडी पूरी जानकारी विस्तृत रूप से बताने वाले है ताकि आपको इससे जुडी पूरी जानकारी पता चल सके.

BSTC Full Form

हर एक शब्द के कई अलग अलग अर्थ होते है वैसे ही BSTC को भी हर व्यक्ति अलग अलग तरह से इस्तमाल करते है लेकिन इस शब्द का सर्वाधिक इस्तमाल शिक्षा से जुड़े क्षेत्र में होता है व जो लोग BSTC कोर्स करना चाहते है या BSTC करना चाहते है उनके लिए यह जानकारी बेहद ही उपयोगी साबित होने वाली है.

BSTC Full Form

BSTC क्या है और इस कोर्स को कैसे करना है इन सब के बारे में बताने से पहले हम इसके पुरे नाम के बारे में जान लेते है.

BSTC Full Form – Basic School Teaching Certificate

हिंदी में इसका अर्थ बुनियादी विद्यालय शिक्षण प्रमाण पत्र  होता है व यह कोर्स राजस्थान में बेहद ही लोकप्रिय कोर्स है इस कोर्स को करने के बाद आप एक अध्यापक के रूप में अपना कैरियर बना सकते है.

BSTC क्या है

यह एक कोर्स है जिसे करने के बाद कोई भी व्यक्ति टीचर बन सकता है व राजस्थान में यह बेहद ही पोपुलर कोर्स है इस कोर्स को करने के लिए हर साल लाखो लोग आवेदन करते है जब आप इस कोर्स को कर लेते है तो इसके बाद आप प्राइमरी स्कुल में पढ़ाने के लिए योग्य माने जायेगे एवं आपको प्राइमरी अध्यापक के रूप में आसानी से जॉब मिल सकती है बादमे आप कक्षा 5 तक के विधार्थियों को पढ़ा पायेगे.

BSTC के लिए शैक्षिक योग्यता

आपको BSTC करना है तो इसके लिए आपको किसी भी मान्यताप्राप्त विधालय से बाहरवी उतीर्ण करना जरुरी है इसके बाद ही आप BSTC कर सकते है व आपके बाहरवी में न्यूनतम 50% अंक होने चाहिए एवं ST / SC / OBC के लिए बाहरवी में न्यूनतम 45% अंक होने अनिवार्य है इसके बाद ही आप BSTC के लिए आवेदन कर पायेगे.

BSTC करने के लिए उम्र सीमा

आपको बहरावी उतीर्ण करनी है तो इसके लिए आपकी न्यूनतम उम्र 18 वर्ष एवं अधिकतम उम्र 28 वर्ष तक होनी अनिवार्य है इसके बाद ही आप BSTC के लिए आवेदन कर सकते है व आरक्षित वर्ग जैसे ST / SC / OBC को उम्र में छुट देने का भी प्रावधान होता है.

BSTC कैसे करें

आपको BSTC करने के लिए कुछ प्रोसेस को फॉलो करना जरुरी है इसके लिए सबसे पहले आपको बाहरवी उतीर्ण कर लेनी है इसके बाद आपको BSTC एंट्रेंस एग्जाम के लिए आवेदन करना होता है इसके आवेदन हर साल निकाले जाते है जिसमे आप आवेदन कर सकते है.

जब आप उसमे आवेदन कर लेते है तो इसके बाद आपको इसके एंट्रेंस एग्जाम के लिए बुलाया जाता है इस परीक्षा में आपको हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, गणित, सामान्य ज्ञान, मानसिक योग्यता और teaching aptitude से जुड़े सवाल पूछे जाते है जो की 200 अंको के सवाल होते है एवं इस परीक्षा में आपको प्राप्त होने वाले अंको के आधार पर आपको अलग अलग कॉलेज में एडमिशन दिया जाता है.

जब आप इसकी परीक्षा दे देते है तो इसके बाद इसकी काउंसलिंग शुरू होती है एवं इसके बाद एक मेरिट जारी की जाती है इस मेरिट में उम्मीदवारों को प्राप्त अंको के आधार पर अलग अलग रैंक दी जाती है इसमें कैंडिडेट को जितनी अच्छी रैंक मिलेगी उसे उतने ही अच्छे कॉलेज में एडमिशन मिलेगा जहा से वो BSTC कोर्स को कर पायेगा.

अगर आप सरकारी कॉलेज से इस कोर्स को करते है तो वहां आपको बहुत ही कम फीस देनी होती है व सरकारी कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम के द्वारा एडमिशन दिया जाता है इसके लिए आपके एंट्रेंस एग्जाम में अच्छी रैंक होनी जरुरी है तभी आपको सरकारी कॉलेज में एडमिशन मिल सकता है.

BSTC के बाद नौकरी

आप जब BSTC कर लेते है तो इसके बाद आपको प्राइवेट कॉलेज में आसानी से जॉब मिल जाती है पर अगर आप सरकारी टीचर बनना चाहते है तो इसके लिए आपको BSTC करने के बाद राज्य सरकार के द्वारा आयोजित करवाई जाने वाली थर्ड ग्रेड टीचर भर्ती में आवेदन करना होता है जिसको REET के नाम से जाना जाता है इस पर्रिक्षा को क्लियर करने के बाद आपको सरकारी विधालय में अध्यापक के रूप में जॉब मिल जाती है बादमे आप सरकारी विधालय में पढ़ा सकते है.

BSTC करने के फायदे

आप BSTC कर लेते है तो आपको इसके कई अलग अलग तरह के फायदे होगे जिसके बारे में हम आपको बता रहे है.

  • आप प्राइमरी टीचर बनने योग्य माने जायेगे.
  • आपको अध्यापन के लिए सरकारी सर्टिफिकेट मिल जायेगा.
  • आपको प्राइवेट स्कूल्स में आसानी से जॉब मिल सकती है.
  • आप सरकारी विधालय में थर्ड ग्रेड टीचर बन सकते है.
  • आप बच्चो को ट्यूशन करवा सकते है.

इस तरह से आप कई अलग अलग तरह के काम कर सकते है और इसके द्वारा पैसे कमा सकते है इस कारण से ज्यादातर लोग इस कोर्स को करना पसंद करते है.

BSTC के लिए आवश्यक दस्तावेज

अगर आपको BSTC में आवेदन करना है तो इसके लिए आपके पास कुछ आवश्यक दस्तावेज होने अनिवार्य है जिसके बारे में हम आपको बता रहे है.

  • आवेदक के पास बाहरवी की मार्कशीट होनी चाहिए.
  • आवेदक के पास दसवी की मार्कशीट होनी चाहिए.
  • आवेदक के पास आईडी प्रूफ जैसे आधार कार्ड होना अनिवार्य है.
  • आवेदक के पास नवीनतम पासपोर्ट साइज़ के फोटो होने जरुरी है.
  • आवेदक की उम्र 28 वर्ष से ज्यादा नही होनी चाहिए.

अगर आपके पास निम्न प्रकार के दस्तावेज है तो इसके बाद आप BSTC के लिए आवेदन कर सकते है और इसकी परीक्षा में शामिल हो सकते है.

BSTC में आवेदन कैसे करें

आप BSTC में बेहद ही आसानी से आवेदन कर सकते है हम आपको इसकी कुछ आसान सी प्रोसेस के बारे में बता रहे है जिसे अपनाकर आप इसमें आवेदन कर पायेगे.

  • सबसे पहले आपको BSTC के फॉर्म शुरू होने पर BSTC की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है.
  • इसके बाद आपके सामने BTSC Online Application का विकल्प आएगा आपको इसके ऊपर क्लिक कर देना है.
  • अब आपके सामने Registration फॉर्म ओपन होगा उसमे आपको मांगी गयी आवश्यक जानकारी भर लेनी है.
  • आवेदन फॉर्म में आपको नाम, पता, ईमेल,password आदि जानकारी सही सही भर लेनी है बादमे आपको फॉर्म सबमिट कर देना है.
  • अब आपको आवेदन शुल्क जमा करने के लिए कहा जायेगा इसमें आपको ऑनलाइन आवेदन शुल्क जमा करवा देना है.
  • इसके बाद आपको आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने के लिए कहा जायेगा इसमें आपको अपने दस्तावेज स्कैन करके अपलोड कर देने है.
  • सब जानकारी भर लेने के बाद आपको सबमिट के ऊपर क्लिक कर देना है और इस फॉर्म को सबमिट कर देना है.

इस तरह से आप बेहद ही आसानी BSTC के लिए आवेदन कर सकते है व इसमें आवेदन करने के बाद आप इसकी परीक्षा में शामिल हो सकते है.

BSTC काउंसलिंग

हब आपकी BSTC परीक्षा का परिणाम घोषित होता है तो इसके बाद काउंसलिंग करवाई जाती है इसके लिए आपको 3000 हजार रूपए जमा करवाने होते है एवं अगर किसी कारणवश आप काउंसलिंग में से सेलेक्ट नही हो पाते तो ऐसे में आपको 2800 रूपए वापिस दे दिए जाते है.

BSTC एग्जाम सेलेबस

अगर आप इसकी परीक्षा देते है तो आपको इसके सेलेबस के बारे में पता होना बेहद ही आवश्यक है यह परीक्षा आपके 200 अंको की होती है व इस परीक्षा में आपको निम्न विषय से सवाल पूछे जायेगे.

  • Teaching Aptitude
  • Mental ability
  • Hindi and English
  • General awareness of Rajasthan
  • Sanskrit Subject

BSTC के फॉर्म और परीक्षा की जानकारी कैसे देखे

सबसे पहले तो आपको इसके फॉर्म की जानकारी प्राप्त करनी आवश्यक है की इसके फॉर्म कब आते है इसके लिए आप सोशल मीडिया, समाचार पत्र, इन्टरनेट आदि की मदद ले सकते है यहाँ पर आपको इससे जुडी पूरी जानकारी प्राप्त हो जाती है व जब आप इसमें आवेदन करते है तो इसके बाद BSTC द्वारा एडमिट कार्ड जारी किये जाते है जिसमे आपको परीक्षा की तिथि एवं परीक्षा का समय आदि बताया जाता है इससे आपको परीक्षा की पूरी जानकारी प्राप्त हो जाती है.

BSTC FAQ

BSTC की योग्यता क्या है? 

आपको BSTC में आवेदन करना है तो इसके लिए आपकी उम्र 28 वर्ष से अधिक नही होनी चाहिए एवं आपका न्यूनतम बाहरवी उतीर्ण होना अनिवार्य है तभी आप इसके लिए आवेदन कर सकते है और इसकी परीक्षा में शामिल हो सकते है.

BSTC परीक्षा कौन दे सकता है?

कोई भी व्यक्ति जो बाहरवी उतीर्ण है वो इसकी परीक्षा दे सकता है इसके लिए आपको पहले ऑनलाइन आवेदन करना होता है व ऑनलाइन आवेदन करने के बाद आप BSTC की परीक्षा दे पायेगे.

बीएसटीसी के लिए उम्र कितनी चाहिए?

BSTC में आवेदन करने के लिए आपकी न्यूनतम उम्र 18 वर्ष एवं अधिकतम उम्र 28 वर्ष तक होनी चाहिए एवं आरक्षित वर्गों को उम्र में छुट देने का भी प्रावधान होता है.

बीएसटीसी करने का क्या फायदा है?

आप BSTC कर लेते है तो इसके कई अलग अलग फायदे होते है जैसे की आपको टीचर बनना है तो BSTC करने के बाद आप टीचर भी बन सकते है एवं आपको सरकारी नौकरी चाहिए तो आप थर्ड ग्रेड टीचर के आवेदन आने पर उसमे आवेदन कर सकते है और थर्फ़ ग्रेड टीचर भी बन सकते है.

बीएसटीसी करने के बाद टीचर कैसे बनते हैं?

BSTC के बाद टीचर बनना काफी आसान है इसके लिए आपको राज्य द्वारा थर्ड ग्रेड टीचर की भर्ती आने पर उसमे आवेदन करना होता है इसे REET के नाम से भी जाना जाता है इसे क्लियर करने के बाद आपको किसी भी सरकारी विधायल से थर्ड ग्रेड टीचर के रूप में जॉब दी जा सकती है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको BSTC Full Form क्या है एवं BSTC क्या है और कैसे करते है इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके भी बता सकते है.

पिछला लेखDRS Full Form in Hindi : DRS क्या होता हैं पूरी जानकारी
अगला लेखDCP Full Form in Hindi : DCP क्या है व DCP कैसे बनते हैं

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें