नमस्कार मित्रो आज हम आपको BMS Full Form in Hindi के बारे में बता रहे है यह एक शिक्षा से जुड़ा शब्द है जिसकी जानकारी होनी सभी के लिए बेहद ही आवश्यक है क्युकी यह जानकारी आपके भविष्य में बेहद ही उपयोगी हो सकती है व अगर आपको BMS से जुडी जानकारी नहीं है तो आप हमारा पूरा आर्टिकल ध्यान से पढ़े ताकि आपको हमारी बताई हुई जानकारी समझ में आ सके.

BMS Full Form in Hindi

अक्सर कई लोग BMS के बारे में पूछते है जिसका मुख्य कारण है की अधिकांश लोगो को BMS Full Form in Hindi या BMS क्या होता है व इसका अर्थ क्या होता है व इसके फायदे क्या होते है इससे जुडी जानकारी बता रहे है व विधार्थियो के लिए इसकी जानकारी होनी विशेष रूप से उपयोगी है क्युकी यह शिक्षा से जुड़ा शब्द है और इसकी जानकारी प्राप्त कर के आप अपना बेहतरीन भविष्य बना पाएंगे.

BMS Full Form in Hindi

BMS क्या होता है व इसके फायदे क्या होते है इन सब के बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पुरे नाम के बारे में बता देते है.

BMS Full Form – Bachelor of Management Studies

हिंदी में इसे प्रबंधन अध्ययन स्नातक कहा जाता है व यह मैनेजमेंट के क्षेत्र में एक अंडरग्रेजुएट कोर्स होता है इस कोर्स को आप किसी भी विश्वविधालय से कर सकते है हर कॉलेज में यह कोर्स आसानी से मिल जाता है.

BMS क्या है

BMS एक अंडरग्रेजुएट कोर्स होता है व यह तीन वर्ष का कोर्स होता है इस कोर्स में 6 सेमेस्टर होते है और सभी सेमेस्टर में अलग अलग सब्जेक्ट जैसे की फाइनेंस, मार्केटिंग, ह्यूमन जैसे विषय पर पढ़ाई करवाई जाती है इस कोर्स के अंतर्गर सभी विधार्थियो के जोर कौशल के ऊपर जोर दिया जाता है व इसमें कला, वाणिज्य एवं विज्ञान के छात्रों के साथ इंटरमीडिएट स्तर के छात्र भी इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते है इसमें आपको मैनेजमेंट से जुडी बेहतरीन तयारी करवाई जाती है जिससे की आप इसमें अपना बेहतरीन भविष्य बना सकते है.

इस कोर्स को करने के बाद आपको बेहतरीन प्रशिक्षण के लिए कार्यात्मक क्षेत्र में कर्मचारी के रूप में नियुक्त किया जाता है पर आप आगे पढाई करना चाहते है तो ऐसे में आप मार्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन या पोस्ट ग्रेडुएशन डिप्लोमा इन मैनेजमेंट आदि जैसे करके पोस्ट ग्रेजुएट बन सकते है.

BMS के लिए आवश्यक योग्यता

अगर आप इस कोर्स को करना चाहते है तो इसके लिए आपका किसी भी स्ट्रीम से न्यूनतम 50% अंको के साथ वाहरवी उत्तीर्ण होना जरुरी है तभी आप इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते है व इस कोर्स के अंतर्गत जो कॉमर्स के विधार्थी होते है उनको विशेष महत्त्व प्रदान किया जाता है.

BMS कोर्स की फीस

इस कोर्स के लिए सभी विश्वविधालय में अलग अलग फीस हो सकती है व सामान्यत इस 3 वर्ष के कोर्स के लिए आपको 2 लाख से 5 लाख रूपए की फीस देनी होता है व इसकी फीस की सटीक जानकारी आपको उस विश्वविधालय से संपर्क कर के प्राप्त कर सकते है जहां से आप इस कोर्स को करना चाहते है.

BMS में प्रवेश कैसे ले

जब आप बाहरवीं उत्तीर्ण कर लेते है तो इसके बाद आप इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते है व कई कॉलेज इस कोर्स में एडमिशन देने से पहले एंट्रेंस एग्जाम करवाया जाता है आपको उसे पास करना होता है तभी कॉलेज द्वारा आपको इस कोर्स के लिए एडमिशन दिया जाता है.

वही बहुत से कॉलेज ऐसे भी होते है जो बिना एंट्रेस एग्जाम के आपको इस कोर्स के लिए प्रवेश दे देते है पर इन कॉलेज  द्वारा आपसे फीस थोड़ी अधिक ली जा सकती है इसलिए अगर आप कम फीस में BMS कोर्स करना चाहते है तो एंट्रेस एग्जाम दे या आप अधिक फीस देने में सक्षम है तो आप बिना एंट्रेंस एग्जाम के भी इसमें प्रवेश ले पाएंगे.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको BMS Full Form in Hindi के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है की आपको BMS के बारे में दी गई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें और इससे जुडा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहते है तो आप हमे कमेंट कर के भी बता सकते है.

पिछला लेखMobile Full Form in Hindi : Mobile से जुडी सभी रोचक जानकारी
अगला लेखEMI Full Form in Hindi : EMI के फायदे और नुकसान है
मै रघुवीर चारण PMO Yojana का संस्थापक हूँ हमें लेख लिखना व किताब पढ़ना बेहद पसंद है है हम शिक्षा, कंप्यूटर, मोबाइल, सरकारी नौकरी, नई योजनाओं व इस प्रकार की अन्य कई जानकारी इस Website पर लिखते है

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें