नमस्कार मित्रो आज हम आपको BIOS से जुडी जानकारी बता रहे है व हम आपको BIOS Full Form क्या होता है इसके फायदे क्या क्या होते है व यह कैसे काम करता है इन सब के बारे में आपको विस्तार से जानकारी देने वाले है ताकि आपको BIOS से जुडी पूरी जानकारी इस आर्टिकल में प्राप्त हो सके.

BIOS Full Form in Hindi

BIOS के बारे में अक्सर हमे सुनने को मिलता है व कंप्यूटर के क्षेत्र में आपको इसके बारे में अधिक बार सुनने या पढ़ने को मिलता है उस वक्त सबसे पहला ख्याल यही आता है की आखिर BIOS Full Form क्या होता और BIOS कैसे काम  करता होगा तो इसके बारे में  जानने के लिए आप हमारा पूरा आर्टिकल पढ़े ताकि आपको इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो सके.

BIOS Full Form in Hindi

BIOS किसे कहते है व इससे जुडी अन्य जानकारी बताने से पहले हम आपको इसका पूरा नाम क्या है इसके बारे में बता देते है.

BIOS Full Form – Basic Input Output System

हिंदी में इसको बेसिक इनपुट आउटपुट सिस्टम कहा जाता है व ये एक फर्मवेयर या सॉफ्टवेयर होता है जो की किसी भी कंप्यूटर के सिस्टम को शुरू करने के लिए सक्षम बनाता है इसके साथ ही यह एक इन-बिल्ट सॉफ्टवेयर होता है जब आप किसी भी कंप्यूटर को शुरू करते है तो सबसे पहले उस कंप्यूटर में यही सॉफ्टवेयर शुरू होता है इसके बाद अन्य कोई भी प्रोग्राम शुरू होते है.

BIOS क्या है

जैसे की हमने आपको बताया की यह एक सॉफ्टवेयर की तरह है व इसके द्वारा ही कोई भी कंप्यूटर शुरू होता है व जब कोई भी कंप्यूटर हम शुरू करते है तो सबसे पहले उसमे BIOS ही run करता है यह सॉफ्टवेयर आमतौर पर मदरबोर्ड में स्थित होता है व ROM में संगृहीत होते है किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम अर्थात कंप्यूटर को बिना BIOS  के शुरू करना असंभव है व यह किसी भी  कंप्यूटर में कई प्रोग्राम जैसे MBR, FAT. GPT जैसे ड्राइवर आदि को भी लोड करता है.

हाल में जितने भी कंप्यूटर या सिस्टम बनते है उनमे BIOS को एक फ्लैश मेमोरी में संग्रहित किया जाता है व सभी कंप्यूटर सिस्टम में BIOS को ऑपरेट करने के अलग अलग command होते है जैसे की Del, F2, F10, और Ctrl + Alt + Esc आदि व यह command आप किस तरह का ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तमाल करते है व BIOS Creator क्या है उसके ऊपर निर्भर करता है.

BIOS के मुख्य कार्य

BIOS के कई तरह के कार्य होते है व इसका मुख्य कार्य आपके कंप्यूटर को स्टार्ट करने में सक्षम करना होता है एवं यह आपके कंप्यूटर सिस्टम के आधार पर एक या एक से ज्यादा chips के एम्बेड किये हुए प्रोग्राम का एक समूह होता है व इसके चार अलग अलग कार्य होते है जो की निम्न प्रकार से है.

  • POST – जब आप कंप्यूटर शुरू करते है तो एक सेल्फ टेस्ट होता है जिसमे डिस्क ड्राइव, मेमोरी, वीडियो, डिस्क नियंत्रण, कीबोर्ड माउस, एडाप्टर आदि अलग अलग घटको की जांच की जाती है की वह सही  तरीके से कार्य कर रहे है या नहीं.
  • SETUP – इसके अंतर्गत चिपसेट और मदरबोर्ड को कॉन्फ़िगर करने में सक्षम बनाया जाता है व ये सामान्यत मेनू पर आधारित होते है जो की एक special key को दबाकर सक्रीय किये जाते है.
  • LOADER – BIOS में यह मुख्य कार्य में एक bootstrap loader का कार्य है जो की किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम की स्थिति का पता लगाती है और इसके साथ ही यह bootable माध्यम को खोजता है व ये bootable माध्यम से read कर के ram में load करता है इसकी सभी प्रक्रिया आपके सिस्टम के background में चलती रहती है व ये आपके कंप्यूटर में सभी डाटा को प्रोसेस करके कंप्यूटर को शुरू करता है.
  • DRIVER – यह किसी भी कंप्यूटर में जो निम्न स्तर के ड्राइवर होते है उनमे कंप्यूटर के हार्डवेयर पर कंप्यूटर को बुनियादी परिचालन में नियंत्रण देने का कार्य करते है.

इन तरीको से BIOS किसी भी सिस्टम या कंप्यूटर में कार्य करते है व किसी भी कंप्यूटर को on करते है ताकि आप उसको इस्तमाल कर सके.

BIOS को एक्सेस कैसे करें

अगर आप BIOS को एक्सेस करना चाहते है तो इसके लिए सभी system की अलग अलग key होती है जो की निम्न प्रकार से है.

  • Acer – F2 or DEL
  • ASRock – F2 or DEL
  • ASUS – F2 for all PCs, F2 or DEL for motherboards
  • Aorus – F2 or DEL
  • Dell – F2 or F12
  • ECS – DEL
  • Gigabyte – F2 or DEL
  • HP – ESC or F10
  • Lenovo (Desktops) – F1
  • Lenovo (Desktops) – F1
  • Lenovo (ThinkPads) – Enter + F1
  • Lenovo – F2 or Fn + F2
  • MSI – DEL for motherboards and PCs
  • Origin PC – F2
  • Samsung – F2
  • Sony – F1, F2 or F3
  • Toshiba – F2
  • Zotac – DEL

आप जिस कंपनी के ऑपरेटिंग सिस्टम अथवा कंप्यूटर को इस्तमाल करते है आपको इस उस कंपनी की key का इस्तमाल करना होता है तभी आप अपने कंप्यूटर में BIOS को एक्सेस कर पाएंगे.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको BIOS Full Form in Hindi से जुडी जानकारी दी है व BIOS क्या होता है इसके बारे में बताने का प्रयत्न किया है हमे उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें और इससे जुड़ा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहते है तो आप कमेंट के माध्यम से बता सकते है.

पिछला लेखVajan Kaise Badaye : वजन बढ़ाने के बेहद ही आसान तरीके
अगला लेखSong Download Kaise Kare : गाना डाउनलोड कैसे करते है

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें