12वीं के बाद बीडीओ कैसे बने? पूरी जानकारी

नमस्कार मित्रो आज हम आपको BDO Kaise Bane इसके बारे में बताने वाले है अगर आप सिविल पोस्ट पर नौकरी प्राप्त करने का सपना देख रहे है तो ऐसे में आप बीडीओ के लिए आवेदन कर सकते है यह पोस्ट राज्य सरकार के अधीन कार्य करने वाली अधिकारी लेवल की पोस्ट होती है अगर आप बीडीओ बनना चाहते है तो ऐसे में यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकता है.

BDO Kaise Bane

सभी लोगो का सपना होता है की वो एक सरकारी नौकरी प्राप्त करे वही कुछ लोग अधिकारी लेवल की पोस्ट पर नौकरी प्राप्त करना चाहते है लेकिन इसकी सही जानकारी पता न होने के कारण ज्यादातर लोगो का यह सपना पूरा नहीं हो पाता अगर आप बीडीओ बनना चाहते है तो BDO Kaise Bane यह आर्टिकल ध्यान से पढ़े ताकि आपको इसकी पूरी जानकारी प्राप्त हो सके.

BDO Kaise Bane

बीडीओ का पूरा नाम ब्लाक डेवलपमेंट ऑफिसर होता है हिंदी में इन्हें खंड विकास अधिकारी भी कहा जाता है एवं इन अधिकारीयों का कार्य अपने क्षेत्र का विकास करना और अपने क्षेत्र की आम जनता की समस्याओ का समाधान करना होता है किसी भी क्षेत्र में कोई विकास कार्य करना हो तो इसके लिए बीडीओ की अनुमति लेना अनिवार्य है इससे आप समझ सकते है की राज्य सरकार में यह पोस्ट कितनी अहम् होती है.

बीडीओ बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

अगर आप बीडीओ के लिए आवेदन करना चाहते है तो इसके लिए आपका किसी भी मान्यताप्राप्त विश्वविधालय से न्यूनतम स्नातक उतीर्ण होना अनिवार्य है अगर किसी कैंडिडेट ने स्नातक की परीक्षा दी हुई है और उसका रिजल्ट अभी तक नही आया है तो वो भी इसमें आवेदन कर सकता है.

बीडीओ बनने के लिए उम्र सीमा

बीडीओ बनने के लिए आपकी न्यूनतम उम्र 21 वर्ष और अधिकतम उम्र 40 वर्ष तक होनी चाहिए आरक्षित वर्गों को उम्र में नियमानुसार छुट देने का प्रावधान होता है.

  • OBC वर्ग को उम्र में 3 वर्ष की छुट प्रदान की जाएगी.
  • ST/SC वर्ग को उम्र में 5 वर्ष की छुट प्रदान की जाएगी.

बीडीओ के लिए आवेदन कैसे करें

बीडीओ के लिए राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा विज्ञाप्ति जारी की जाती है जिसमे आवेदन करने के बाद आप इस पोस्ट पर नौकरी प्राप्त कर सकते है इसकी विज्ञप्ति जारी होने की जानकारी आप सोशल मीडिया, समाचार पत्र और इन्टरनेट आदि के माध्यम से प्राप्त कर सकते है इसके बाद जब भी इसके आवेदन पत्र जारी होते है तो उसमे आपको ऑनलाइन आवेदन करना होता है

बीडीओ की चयन प्रक्रिया

बीडीओ की पोस्ट पर नौकरी प्राप्त करने के लिए आपको 3 अलग अलग चयन प्रक्रिया से होकर गुजरना होता है इसके लिए निम्न प्रकार की चयन प्रकिया रखी जाती है.

  • प्रारंभिक परीक्षा
  • मुख्य परीक्षा
  • इंटरव्यू

बीडीओ की प्रारंभिक परीक्षा

जब आप इस पोस्ट पर आवेदन करते है तो इसके बाद आपको प्रारंभिक परीक्षा के लिए बुलाया जाता है इस परीक्षा में आपको 2 प्रश्न पत्र दिए जाते है इसमें से पहला प्रश्न पत्र 200 अंको का होता है जिसमे आपको 150 सवाल पूछे जायेगे और दूसरा प्रश्न पत्र 200 अंको का होगा इसमें आपको 100 सवाल पूछे जायेगे.

बीडीओ की मुख्य परीक्षा

जब आप प्रारंभिक परीक्षा में साफल हो जाते है तो इसके बाद आपको मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है इसमें आपको 4 प्रश्न पत्र दिया जाते है जिसमे से 2 प्रश्न पत्र 150 – 150 अंको के होते और 2 प्रश्न पत्र 200 – 200 अंको के होगे यह परीक्षा प्रारंभिक परीक्षा की तुलना में थोड़ी कठिन होती है इसलिए इस परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी.

बीडीओ का इंटरव्यू

जब आप लिखित परीक्षा में सफल हो जाते है तो इसके बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है इसमें आपको एक पेनल के सामने इंटरव्यू देना होता है एवं इंटरव्यू में आपको कुछ सवाल पूछे जाते है जिसके आपको सही जवाब देने होते है इसमें आप जो उत्तर देते है उसके आधार पर आपको इंटरव्यू में अंक प्रदान किये जाते है यह इंटरव्यू कुल 100 अंको का होता है.

जब आप सभी टेस्ट क्लियर कर लेते है तो इसके बाद अंत में एक मेरिट लिस्ट जारी की जाती है उस मेरिट लिस्ट में सभी कैंडिडेट को प्राप्त अंको के आधार पर अलग अलग रैंक दी जाती है एवं जिन कैंडिडेट का इस मेरिट लिस्ट में नाम होता है उन्हें ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है ट्रेनिंग पूरी होने के बाद उन्हें बीडीओ की पोस्ट पर नियुक्ति दी जाती है.

बीडीओ ऑफिसर का वेतन

बीडीओ एक अधिकारी लेवल की पोस्ट होती है इसलिए इनका वेतन काफी अच्छा होता है इन अधिकारीयों को शुरुआत में 9.300/- रूपए से लेकर 34,800/- रूपए तक का वेतन दिया जाता है एवं वेतन के साथ इन्हें अन्य कई प्रकार के भत्ते भी प्रदान किये जाते है.

बीडीओ के कार्य

एक बीडीओ अधिकारी को अपने पद पर रहते हुए कई प्रकार के अलग अलग कार्य करने होते है ऐसे में हम आपको इसके कुछ मुख्य कार्य बता रहे है जिसके बारे में आपको पता होना चाहिए यह कार्य निम्न प्रकार से है.

  • इन अधिकारीयों को अपने क्षेत्र में विकास से जुडा कार्य करना होता है.
  • यह अधिकारी अपने क्षेत्र की आम जनता की समस्याओ को सुनते है और उनका निवारण करते है.
  • यह अधिकारी जिला कलेक्टर, प्रधान, जिला प्रमुख और एमएलए के निर्देशानुसार कार्य करते है.
  • इन्हें अपने क्षेत्र में निर्धन आवास, कृषि योजना और पेंशन आदि से जुड़े कार्य करने होते है.
  • किसी भी प्रकार की सरकारी योजना क्षेत्र में सही तरह से संचालित हो रही है या नही इसकी जाँच इनके द्वारा की जाती है.
  • यह अधिकारी अपने क्षेत्र में किये गये कार्य की रिपोर्ट तैयार करके उसे उच्च अधिकारीयों के समक्ष पेश करते है.
  • अगर कोई व्यक्ति ग्राम पंचायत के पैसो का गलत उपयोग करता है तो उसके खिलाफ बीडीओ कार्यवाही कर सकता है.

इस प्रकार से इन्हें कई प्रकार के अलग अलग कार्य करने होते है इनके सभी कार्य ऑफिस और फिल्ड से जुड़े होते है एवं इनका मुख्य कार्य अपने क्षेत्र का विकास करना और अपने क्षेत्र के लोगो की समस्याओ का समाधान करना होता है.

इस आर्टिकल में हमने आपको BDO Kaise Bane इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इससे जुडा किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके भी बता सकते है.