नमस्कार मित्रो इस आर्टिकल में हम आपको BDO Full Form in Hindi के बारे में बताने वाले है और बीडीओ क्या होता है व कैसे बनते है एवं इसके कार्य क्या क्या होते है इसके बारे में भी बतायेगे ताकि आपको इस आर्टिकल में बीडीओ से जुडी पूरी जानकारी आसानी से प्राप्त हो सके.

BDO Full Form in Hindi

अक्सर आप सभी ने कई बार बीडीओ का नाम तो सुना ही होगा पर कई लोगो को इसके बारे में पता नहीं होता की यह क्या होता है और इसके काम क्या होते है व BDO Full Form क्या होता है जिसके कारण अक्सर इसके बारे में सवाल पूछे जाते है तो हम आपको इसी से जुडी पूरी जानकारी आज देने वाले है.

BDO Full Form in Hindi

बीडीओ क्या होता है इसके काम क्या क्या होते इन सब के बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पुरे नाम के बारे में आपको बता देते है.

BDO Full Form – Block Development Officer

हिंदी में बीडीओ को खंड विकास अधिकारी भी कहा जाता है व यह राज्य स्तर पर अधिकारी लेवल की पोस्ट होती है और यह जन विकास के लिए जान कल्याणकारी योजनाओ को लागू करने का कार्य करते है.

BDO क्या है

जैसा की हमने आपको बताया की यह खंड विकास अधिकारी होता है और यह ब्लॉक या योजनाओ से सम्बंधित कार्यो को कार्यान्वयन करने का कार्य करते है और इसके साथ ही अपने क्षेत्र में जन कल्याण के लिए कल्याणकारी योजनाओ आदि को भी लागू करते है.

किसी भी बीडीओ को जिस क्षेत्र में सेवा के लिए लगाया जाता है वहां पर बीडीओ को विकास की योजनाओ व कार्य की देखरेख करने का कार्य करना होता है व बीडीओ CEO, जिला परिषद्, जिला कलेक्टर, गांव के प्रधान व मंत्री व राज्य सरकार एवं विभिन्न विभागों के के निर्देशानुसार कार्य करते है व उनको आवास, कृषि योजना, पेंशन और जमीन आदि से जुड़े कई प्रकार के अलग अलग कार्य करने होते है.

अगर किसी भी क्षेत्र में किसी भी तरह की कोई परेशानी हो तो ऐसी स्थिति में वहां के लोग अपने क्षेत्र के बीडीओ के पास अपनी शिकायत लेकर जा सकते है व यहां पर सुनवाई नहीं होती तो कलेक्टर के पास शिकायत दर्ज कर सकते है.

बीडीओ बनने के लिए उम्र सीमा

अगर कोई भी अभ्यार्थी बीडीओ बनने का सपना देख रहा है तो वो 21 वर्ष से 30 वर्ष तक इस पोस्ट के लिए आवेदन कर सकते है सभी वर्ग जैसे एसटी, एससी और ओबीसी के लिए अलग अलग उम्र सिमा निर्धारित की हुई है व नियमानुसार उम्र में छूट देने का भी प्रावधान होता है.

BDO बनने के लिए योग्यता

अगर आप बीडीओ बनना चाहते है तो इसके लिए  आपका किसी भी मान्यताप्राप्त विश्वविधालय से ग्रेडुएशन अथवा पोस्ट ग्रेडुएशन उत्तीर्ण होना जरुरी होता है व जब आप ग्रेडुएशन कर लेते है तो इसके बाद आप इस पोस्ट के लिए आवेदन करने योग्य हो जाते है.

BDO कैसे बनते है

बीडीओ बनने के लिए आपको सबसे पहले इसकी पोस्ट आने पर उसमे आवेदन करना होता है इसकी जानकारी आप समाचार और ई मित्र आदि से प्राप्त कर सकते है जब भी इसकी विज्ञाप्ति जारी होती है तो उसके बाद आपको इसमें आवेदन करना होता है जब आप इसमें आवेदन कर लेते है तो उसके बाद आपको निम्न चरणों से गुजारना होता है.

  • प्रारंभिक परीक्षा – आवेदन करने के बाद सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा की जाती है इसमें सभी आवेदन भाग लेते है.
  • मुख्य परीक्षा – जो भी उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होते है वो मुख्य परीक्षा में भाग लेते है.
  • साक्षात्कार – जब आप प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाते है तो उसके बाद आपका साक्षात्कार लिया जाता है.

इन तीन चरणों में किसी भी उम्मीदवार का BDO पद के लिए चयन किया जाता है व इसमें मेरिट जारी की जाती है और उस मेरिट के अनुसार ही तय होता है की कौन कौन उम्मीदवार इस पोस्ट के लिए योग्य है.

बीडीओ का वेतन

कई लोग इसके बारे में जानना चाहते है की आखिर एक BDO को कितना वेतन दिया जा सकता है तो हम आपको बता दे की सभी राज्य में इस पोस्ट के लिए अगल अलग वेतन निर्धारित होता है व सामान्यत इस पोस्ट के लिए 9000 रूपए से लेकर 35,000 रूपए तक का वेतन दिया जाता है व इसके साथ ही सरकार की तरफ से अन्य कई प्रकार के लाभ भी दिए जाते है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको BDO Full Form in Hindi के बारे में जानकारी दी है व इसके साथ ही बीडीओ के कार्य क्या होते है व इसके लिए योग्यता आदि क्या रखी गयी है इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें और इससे जुड़ा किसी भी प्रकार का कोई सवाल पूछना चाहते है तो आप हमे कमेंट कर के भी बता सकते है.

पिछला लेखNet Banking क्या हैं और Internet Banking कैसे करते है
अगला लेखDuniya Ka Sabse Amir Aadmi : दुनिया के 10 सबसे अमीर व्यक्ति

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें