ATS Full Form in Hindi | आतंकवाद विरोधी दस्ता क्या है?

आज हम आपको ATS Full Form in Hindi के बारे में बताने वाले है। अक्सर कई बार अपने ATS के बारे में पढ़ा और सुना होगा, लेकिन ज्यादातर लोगो को इसके बारे में जानकारी नही होती की आखिर ATS किसे कहते है और इसके कार्य कौन कौनसे होते है। तो ऐसे में यह लेख आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकता है।

ATS Full Form in Hindi

अक्सर कई लोगो के मन में ATS के बारे में अलग अलग प्रकार के सवाल होते है। ATS भारत का बहुत ही महत्वपूर्ण और उपयोगी पुलिस बल संगठन है जो देश में किसी भी प्रकार की आतंवादी गतिविधियों को रोकने में मदद करता है। अगर आप ATS के बारे में विस्तृत रूप से जानना चाहते है तो ATS Full Form in Hindi लेख को ध्यान से पढ़े।

ATS Full Form in Hindi

यह भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन एक पुलिस बल है, जिसका मुख्य कार्य आतंकवादी गतिविधियों को रोकना और उनका मुकाबला करना है। ATS के बारे में अन्य जानकारी बताने से पहले हम आपको इसका पूरा नाम बता रहे है, जो की निम्न प्रकार से है।

ATS Full Form – Anti-Terrorism Squad

हिंदी में अर्थ – आतंकवाद विरोधी दस्ता

ATS की स्थापना

ATS की स्थापना 1990 में महाराष्ट्र के मुंबई शहर में की गई थी। इसकी स्थापना का श्रेय मुंबई पुलिस के अतिरिक्त आयुक्त आफताब अहमद खान को जाता है। ATS की स्थापना के पीछे का उद्देश्य देश में बढ़ती हुई आतंकवादी गतिविधियों से निपटने के लिए एक विशेष बल का गठन करना था।

ATS के कार्य

ATS का मुख्य कार्य आतंकवादी गतिविधियों को रोकना होता है। इसके साथ ही इन्हें अन्य कई प्रकार के महत्वपूर्ण कार्य करने होते है, जो की निम्न प्रकार से है।

  • आतंकवादी गतिविधियों की रोकथाम और उनका मुकाबला करना
  • आतंकवादी संगठनों के नेटवर्क को तोड़ना
  • आतंकवादी हमलों की पूर्व सूचना प्राप्त करना और उनको विफल करना
  • आतंकवादी संदिग्धों की पहचान और गिरफ्तारी करना
  • आतंकवाद से जुड़े मामलों की जांच करना

ATS में नौकरी प्राप्त करने के लिए योग्यता

ATS में नौकरी प्राप्त करने के लिए कुछ आवश्यक योग्यता रखी गयी है, जिसे पूरा करने के बाद ही आप इसमें आवेदन कर सकते है। इसके लिए निम्न प्रकार की योग्यता रखी गयी है:

  • आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए
  • आवेदक की आयु कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए
  • आवेदक की लंबाई न्यूनतम 5’8″ होनी चाहिए
  • आवेदक के पास स्नातक की डिग्री होनी चाहिए
  • आवेदक शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए

ATS में शामिल होने की प्रक्रिया

ATS में शामिल होने के लिए सबसे पहले आपको इसमें आवेदन करना होता है। इसमें आवेदन करने के बाद आपको निम्न चयन प्रक्रिया से होकर गुजरना होता है:

  • लिखित परीक्षा – सबसे पहले आपको लिखित परीक्षा देनी होगी। यह परीक्षा 100 अंको की ऑफलाइन परीक्षा होती है। इस परीक्षा में नकारात्मक अंक भी रखे जाते है।
  • शारीरिक दक्षता परीक्षा – जब आप लिखित परीक्षा में सफल हो जाते है, तो इसके बाद आपको शारीरिक दक्षता परीक्षा में शामिल किया जाता है। इसमें आपको दौड़ना, चलना, कूदना, बॉल थो जैसे देते देने होते है।
  • साक्षात्कार – अगर आप शारीरिक दक्षता परीक्षा में सफल हो जाते है तो इसके बाद आपको साक्षात्कार में  शामिल किया जाता है। इसमें आपको कुछ सवाल पूछे जाते है जिसके आपको सही जवाब देने होते है।

सभी टेस्ट में सफल होने वाले उम्मीदवारों को ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है। कुछ महीने की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद उम्मीदवारों को सम्बंधित पद पर नियुक्ति प्रदान की जाती है।

ATS का वेतन

ATS में अधिकारियों का वेतन 7वें वेतन आयोग के अनुसार निर्धारित किया जाता है। ATS के अधिकारियों को अन्य कई प्रकार की सुविधाएं भी प्रदान की जाती हैं, जैसे:

  • आवास
  • चिकित्सा सुविधाएं
  • यात्रा भत्ता
  • पेंशन

ATS की उपलब्धियां

ATS ने अपने गठन के बाद से कई महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं। ATS ने कई आतंकवादी हमलों को विफल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। ATS ने कई आतंकवादी संगठनों के नेटवर्क को भी तोड़ा है। ATS ने कई आतंकवादी संदिग्धों को भी गिरफ्तार किया है। ATS ने आतंकवाद से जुड़े कई मामलों की भी सफलतापूर्वक जांच की है।