नमस्कार मित्रो आज हम आपको Anganwadi Ki Sikayat Kaise Kare इसके बारे में बताने वाले है अगर आपको आंगनवाडी से जुडी किसी प्रकार की समस्या है या आंगनवाडी का कोई भी कार्यकर्ता आपके साथ अभद्र व्यवहार करता है और आप उसकी शिकायत करना चाहते है तो बेहद ही आसानी से आप इसकी शिकायत दर्ज कर सकते है.

Anganwadi Ki Sikayat Kaise Kare

हर राज्य में आंगनवाडी की शिकायत करने के अलग अलग तरीके होते है हम आपको ऑनलाइन और कॉल के द्वारा कोई भी शिकायत दर्ज कैसे करते है उसके बारे में बता रहे है ताकि आप अपने मोबाइल से घर बैठे भी शिकायत दर्ज करवा पायेगे इसके बारे में विस्तृत जानकारी के लिए आप Anganwadi Ki Sikayat Kaise Kare यह आर्टिकल ध्यान से पढ़े.

Anganwadi Ki Sikayat Kaise Kare

भारत के हर राज्य में गर्भवती महिलाओं और शिशुओ को पोष्टिक आहार, उपयोगी सामग्री, टीके आदि उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से आंगनवाडी योजना की शुरुआत की गयी है जैसा की आप सभी जानते है की गर्भवती महिलाओं और शिशुओ की उचित देखभाल न होने के कारण गंभीर समस्या उत्पन हो जाती है इस समस्या से बचने के लिए सरकार ने आंगनवाडी केंद्र की शुरुआत की है.

कई आंगनवाडी केंद्र में कर्मचारियों के सही कार्य न करने के कारण उस क्षेत्र के लोगो को काफी परेशानी उठानी पड़ती है ऐसी स्थिति में आप चाहे तो उस आंगनवाडी केंद्र या कार्यकर्ता के बारे में शिकायत दर्ज भी करवा सकते है उसके बाद आपकी समस्या का जल्द से जल्द निवारण कर दिया जायेगा इसमें शिकायत करने के लिए आपको निम्न तरीका अपनाना है.

उत्तरप्रदेश में आंगनवाडी की शिकायत करना

अगर आप उत्तरप्रदेश राज्य के निवासी है और आपके क्षेत्र में आंगनवाडी का सञ्चालन सही तरीके से नहीं हो रहा है एवं आप उसकी शिकायत दर्ज करवाना चाहते है तो आप ग्राहक सेवा प्रतिनिधि के टोल फ्री नंबर 18001805555 पर कॉल करके आंगनवाडी की शिकायत दर्ज कर सकते है यह नंबर उत्तरप्रदेश की सरकार द्वारा उत्तरप्रदेश राज्य के लिए जारी किया गया है.

इस नंबर का उपयोग आप किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने और अपनी समस्या बताने के लिए भी कर सकते है यहाँ पर ग्राहक सेवा प्रतिनिधि आपकी पूरी तरह से सहायता करने का प्रयास करेंगे.

मध्यप्रदेश आंगनवाडी की शिकायत कैसे करें

आप मध्यप्रदेश राज्य के किसी भी स्थान पर निवास करते है व उस क्षेत्र में आपको आंगनवाडी से जुडी किसी प्रकार की समस्या हो या आप कोई शिकायत दर्ज करवाना चाहते है तो इसके लिए मध्यप्रदेश सरकार ने टोल फ्री नंबर  8305272254 जारी किये है जिसपर कॉल करके आप ग्राहक सेवा प्रतिनिधि से बात कर सकते है और उनके पास अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है.

राजस्थान आंगनवाडी की शिकायत कैसे करें

अगर आप राजस्थान के निवासी है और आपको आंगनवाडी से जुडी कोई शिकायत दर्ज करनी है तो इसके लिए आप राजस्थान हेल्पलाइन नंबर 181 पर कॉल करके कस्टमर केयर से अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है इसके साथ ही अगर आप चाहे तो राजस्थान संपर्क की अधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके भी अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज करवा सकते है.

अगर आपको लिखित शिकायत देनी  हो तो आप महिला एवं बाल विकास कार्यालय में जाकर आंगनवाडी की लिखित शिकायत भी दर्ज करवा सकते है जब आप शिकायत दर्ज करते है तो उसके बाद आपकी शिकायत पर कार्यवाही शुरू हो जाती है एवं ध्यान रखे की आप 181 पर अन्य किसी भी प्रकार की सरकारी विभाग से जुडी शिकायत भी दर्ज करवा सकते है जैसे जल विभाग, बिजली विभाग, पंचायत, आंगनवाडी, सरकारी विधालय आदि.

आंगनवाडी की लिखित शिकायत कैसे दे

अगर किसी कारणवश आप ऑनलाइन या टोल फ्री पर शिकायत नहीं करना चाहते तो आप ऑफलाइन लिखित शिकायत भी दर्ज करवा सकते है इसके लिए आपको अपने क्षेत्र के महिला एवं बाल विकास कार्यालय  जाना होगा वहां आप लिखित में अपनी शिकायत एक एप्लीकेशन पर लिख के व अगर आपके पास कोई सबूत है तो उसकी प्रतिलिपि भी आप एप्लीकेशन के साथ जोड़ दे.

उसके बाद आप यह एप्लीकेशन महिला एवं बाल विकास कार्यालय में जमा करवा दे बादमे आपकी शिकायत की जाँच की जाती है की वो सही है या नहीं व अगर आपकी शिकायत सही पायी जाती है तो उसके ऊपर कार्यवाही शुरू की जाती है.

हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत दर्ज कैसे करें

सरकार द्वारा शिकायत प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किये गये है जिसके द्वारा आप कस्टमर केयर से आसानी से बात कर सकते है इसके लिए आपको 18001805599 टोल फ्री नंबर पर कॉल करना होता है उसके बाद कस्टमर केयर अधिकारी आपको जो भी पूछते है वो जानकारी आप सही सही बता दे उसके बाद आपको कस्टमर केयर अधिकारी को अपनी समस्या बतानी है बादमे कस्टमर केयर अधिकारी आपकी शिकायत दर्ज कर लेंगे.

शिकायत की स्थिति कैसे देखे

अगर आप कोई भी शिकायत करते है तो उसका स्टेट्स आप किसी भी वक्त निशुल्क चेक कर सकते है इसके लिए आप जब शिकायत करते है तब आपको मोबाइल में एक शिकायत क्रमांक भेजा जाता है उसकी मदद से आप इस्क्की अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर या कस्टमर केयर अधिकारी से बात करके उन्हें यह क्रमांक बताकर अपनी शिकायत की स्थिति पता कर सकते है की उसके पर कार्यवाही हो रही है या नहीं.

आंगनवाडी की शिकायत कब करें

कई प्रकार की अलग अलग स्थिति में आप आंगनवाडी की शिकायत दर्ज करवा सकते है हम आपको कुछ मुख्य परिस्थियों के बारे में बता रहे है अगर इस तरह की समस्या हो तो आप उसकी ऑनलाइन या लिखित शिकायत दर्ज करवाए.

  • आंगनवाडी सही वक्त पर न खुलने पर.
  • आंगनवाडी केंद्र समय से पहले बंद होने पर.
  • अगर आंगनवाडी कार्यकर्ता अभद्र व्यवहार करें.
  • अगर आंगनवाडी कार्यकर्ता पोषाहार वितरण न करें.
  • आंगनवाडी द्वारा पोषाहार कम देने पर.
  • अगर आंगनवाडी कार्यकर्ता टीकाकरण से मना करें.
  • कार्यकर्ता द्वारा टीकाकरण में लापरवाही बरतने पर.
  • अगर आंगनवाडी कार्यकर्ता बच्चो को शिक्षा देने से मना करें.

निम्न प्रकार की परस्थिति में आप आंगनवाडी की शिकायत दर्ज करवा सकते है इसके अलावा आपको अन्य किसी भी प्रकार की समस्या है तो उसकी भी आप शिकायत दर्ज करवा सकते है और अपनी समस्या का समाधान कर सकते है इसके अलावा अगर आपको अन्य किसी भी तरह की समस्या है तो आप उसकी शिकायत कर सकते है.

आंगनवाडी FAQ

हमारे द्वारा की गयी शिकायत कितने दिन में दर्ज होती है?

आप कोई भी शिकायत करते है तो आपके द्वारा शिकायत करने के तुरंत बाद ही आपकी शिकायत को दर्ज कर लिया जाता है व इसके लिए आपको वेरिफिकेशन ईमेल या SMS भी भेजा जाता है ताकि आपको पता चल सके की आपकी शिकायत दर्ज कर ली गयी है

शिकायत की प्रक्रिया क्या है?

आप किसी भी प्रकार की शिकायत दर्ज करते है तो सबसे पहले तो उस शिकायत के बारे में जाँच की जाती है की वो शिकायत सही है या नहीं उसके बाद शिकायत सही पाए जाने पर उस शिकायत पर कार्यवाही शुरू की जाती है एवं कुछ ही दिनों में आपकी समस्या का निवारण कर दिया जाता है

अगर शिकायत से समाधान न हो तो क्या करें?

आप ऑनलाइन या लिखित शिकायत देते है इसके बाद भी आपकी समस्या का समाधान नहीं होता तो इस स्थिति में आप जिला कलेक्टर को अपनी शिकायत लिखित रूप से दे सकते है उसके बाद आपकी दी गयी शिकायत के ऊपर निश्चित रूप से कार्यवाही शुरू हो जाती है.

अपनी शिकायत रद्द कैसे करें?

आप शिकायत करते है व किसी कारणवश आप उसको रद्द करना चाहते है तो रद्द भी कर सकते है इसके लिए आपको सम्बंधित कार्यालय में जाकर आपकी समस्या का हल हो चूका है इसके बारे में एप्लीकेशन देनी होगी और आपकी शिकायत रद्द करने के लिए कहे उसके बाद आपके द्वारा दर्ज की गयी शिकायत रद्द करने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको Anganwadi Ki Sikayat Kaise Kare इसके बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको हमारी बताई जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें और इससे जुडा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप हमे कमेंट करके भी बता सकते है.

पिछला लेखPati Ko Khush Kaise Rakhe : पति को खुश रखने के आसान तरीके
अगला लेखBMC Full Form in Hindi : BMC किसे कहते है व इसके कार्य क्या है

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें