ADR Full Form in Hindi | अमेरिकी डिपॉजिटरी रसीद क्या है?

आज हम आपको ADR Full Form in Hindi के बारे में बताने जा रहे हैं। अक्सर आपने ADR के बारे में पढ़ा और सुना होगा, लेकिन ज्यादातर लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती कि आखिर यह ADR होता क्या है और यह किस प्रकार से कार्य करता है। तो ऐसे में यह लेख आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकता है।

ADR Full Form

अक्सर समाचारों में ADR से जुड़ी जानकारी दिखाई जाती है। इससे लोगों के मन में ADR के बारे में कई तरह के विचार आने लगते हैं। हालांकि, यह एक आम भाषा में इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द है। हर व्यक्ति अपनी जरूरत के हिसाब से इस शब्द का इस्तेमाल अलग-अलग तरीकों से कर सकता है। अगर आप ADR से जुड़ी विस्तृत जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो ADR Full Form in Hindi आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें।

ADR Full Form in Hindi

यह एक प्रकार का परक्राम्य प्रमाण पत्र होता है जो भारतीय कंपनी के लिए अमेरिकी स्टॉक मार्केट में पूंजी जुटाने के लिए एक बेहतरीन तरीका है इसलिए इसे काफी ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है। ADR के बारे में अन्य जानकारी बताने से पहले हम आपको इसका पूरा नाम बता रहे है जो की निम्न प्रकार से है।

ADR Full Form – American Depository Receipt

हिंदी में अर्थ – अमेरिकी डिपॉजिटरी रसीद

ADR क्या है

जैसे की हमने आपको बताया की यह परक्राम्य प्रमाण पत्र होता है और इसको US बैंक के द्वारा issue करवाया जाता है और इसके माध्यम से यूएस स्टॉक मार्केट में विदेशी कंपनियों के व्यापार की प्रतिभूतियों का प्रतिनिधित्व करने वाले US $ को दर्शाया जाता है इनके पास अंतर्निहित शेयर की संख्याओं के खिलाफ एक दावा करने की भी शक्ति होती है ADR के माध्यम से अमेरिकी निवेशक गैर-अमेरिकी कंपनियों में भी निवेश किया जा सकता है एवं ऐसी स्थितियों में लाभांश का भुगतान ADR धारकों को अमेरिकन डॉलर के रूप में किया जाता है।

ADR का महत्व

ADR को सही तरीके से समझने के लिए आपको इसका महत्व पता होना बेहद ही आवश्यक है की आखिर इसका महत्व क्या होता है और यह किस प्रकार से कार्य करता है तो हम आपको इससे जुडी बेहद ही खास और महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में बता रहे है जिसके बारे में आपको पता होना चाहिए।

  • यह अमेरिकी US बैंक के द्वारा जारी किया गया Negotiable प्रमाण पत्र होता है।
  • यह अमेरिका के स्टॉक एक्सचेंज में उपलबध सेक्युरिटी होती है ताकि कोई भी अमेरिका का नागरिक अथवा निवेशक किसी भी भारतीय कंपनी की सिक्युरिटीज को भारतीय स्टॉक में आये बिना अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज के माध्यम से उसको खरीद सकता है।
  • अगर भारत को कोई भी कंपनी अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज में सूचिबंध होने की इच्छुक हो तो उसके लिए उसे ADR जारी करना अनिवार्य है।
  • यह भारतीय कंपनी के लिए अमेरिकी स्टॉक मार्किट में पूंजी जुटाने के लिए एक बेहतरीन तरीका है।

उदाहरण

उदहारण के तौर पर मान लीजिये की कोई अमेरिका का निवेशक भारत की HDFC बैंक के शेयर खरीदना चाहता है तो उसको शेयर के लिए भारत में आकर निवेश करने की आवश्यकता नहीं होती क्युकी वह ADR के माध्यम से अमेरिका से ही इसमें निवेश कर सकता है।

इस प्रकार से ADR काम करता है एवं इससे कंपनी को पूंजी जुटाने में काफी मदद मिलती है। इसके साथ ही अन्य देश के निवेशकों को किसी दूसरे देश की कंपनी के शेयर खरीदने में भी आसानी होती है। जिसके कारण आज के समय में ADR को काफी अधिक महत्त्व दिया जाता है।

ADR के अन्य फुल फॉर्म

जैसे की हमने आपको पहले भी बताया है की इस शब्द का इस्तमाल हर एक व्यक्ति अलग अलग तरीके से करता है एवं इस शब्द के कई अलग अलग फुल फॉर्म होते है ऐसे में हम आपको कुछ महत्वपूर्ण फुल फॉर्म के नाम बता रहे है जो निम्न प्रकार से है।

  • Automatic Dialing and Recorded
  • American Depositary Receipt
  • Adresse
  • Astra Digital Radio
  • Asset Depreciation Range
  • Adria Airways
  • Automatic Dialogue Replacement
  • Automatic Diagnostic Repository

हर व्यक्ति ADR शब्द का इस्तमाल अपनी जरुरत के हिसाब से अलग अलग प्रकार से करता है एवं इसके कई अलग अलग अर्थ होते है।

इस लेख में हमने आपको ADR Full Form in Hindi के बारे में जानकारी प्रदान की है हमे उम्मीद है आपको यह जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरुर जरें और इससे जुडा किसी भी प्रकार का सवाल पूछने के लिए आप कमेंट कर सकते है।