नमस्कार मित्रो आज हम आपको ADM Full Form In Hindi के बारे में बता रहे है आप सभी ने एडीएम के बारे में तो कई बार सुना ही होगा पर बहुत से लोगो को पता नहीं होता की इसका पूरा नाम क्या होता है व इसके कार्य क्या क्या होते है तो इस आर्टिकल में हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देने वाले है इसके लिए आप हमारा यह आर्टिकल ध्यान से पढ़े.

ADM Full Form In Hindi

अक्सर कई ऐसे शब्द होते है जिसके बारे में हमे विशेष जानकारी नहीं होती पर इस तरह की जानकारी हमारे भविष्य में बेहद ही उपयोगी साबित होती है एडीएम भी इसी प्रकार की जानकारी है जिसके बारे में आपको पता होना बहुत ही जरुरी है व ADM Full Form In Hindi के बारे में जानने के लिए आप इस आर्टिकल को पढ़े इसमें हम आपको एडीएम से जुडी पूरी जानकारी बतायेगे.

ADM Full Form In Hindi

एडीएम क्या होता है इसके काम क्या होते है इन सब के बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पुरे नाम के बारे में बता देते है.

ADM Full Form – Additional District Magistrate

हिंदी में इसे अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट भी कहा जाता है व यह यह जिला न्यायाधीश के अंतर्गत कार्य करते है इनकी नियुक्ति जिला न्यायाधीश के कार्यो में सहायता करने के उद्देश्य से की जाती है.

ADM क्या है

जैसे की हमने आपको बताया की इन्हे अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट कहा  जाता है व यह जिला न्यायाधीश के निचे का पद होता है यह अधिकारी जिला न्यायाधीश की कार्य में सहायता करते है व इन्हे जिला न्यायाधीश के नियमो का पालन करना होता है व उनके बताये गए तरीके को अपनाते हुए कार्य करना होता है.

अगर हम इस पद की बात करे तो यह अधिकारी लेवल का पद होता है व जिला मजिस्ट्रेट के बाद यह दूसरा सबसे बड़ा प्रशासनिक पद होता है यह अधिकारी जिला मजिस्ट्रेट की देखरेख में कार्य करते है व आप सब जानते है की हर जिले में एक न्यायाधीश होता है पर किसी जिले में एक या एक से अधिक एडीएम भी हो सकते है अगर किसी जिले में अधिक कामकाज है तो वहां पर ज्यादा एडीएम की नियुक्ति की जाती है व अगर कामकाज कम है तो एक जिले में एक एडीएम नियुक्त किया जाता है.

ADM के कार्य क्या क्या है

एक एडीएम को कई तरह के कार्य करने होते है व इसके सभी कार्य के बारे में बताना काफी मुश्किल कार्य है पर हम आपको इसके कुछ मुख्य कार्य के बारे में बता रहे है एडीएम अधिकारी को एसटी/एससी और ओबीसी आदि को राष्ट्रीयता के साथ साथ कई तरह के विभिन्न वैधानिक प्रमाण पत्र जारी करने होते है व इसके साथ ही अपने क्षेत्र की संपत्ति के पंजीकरण, खरीद या बिक्री के कार्य, वकीलों की शक्ति, शेयर प्रमाणपत्र और इससे जुडी कई तरह के कार्य जिनको कानून के अनुसार पंजीकृत करवाना होता है व इस तरह के कार्य सब रजिस्ट्रार के कार्यालय में किये जाते है.

इसके अलावा एडीएम को क्षेत्र के पुलिस लॉकअप अथवा जेल या हिरासत में किसी की मृत्यु हो जाती है तो इसकी जांच करने के निर्देश देने की शक्ति होती है व यह अधिकारी किसी प्रकार की दुर्घटना या प्राकृतिक आपदा या किसी प्रकार की कानूनी कार्यवाही में छानबीन कर सकते है व जिला न्यायाधीश की अनुपस्थिति में उनके कार्य एडीएम के द्वारा ही किये जाते है.

ADM बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

अगर कोई भी व्यक्ति एडीएम बनना चाहता है तो इसके लिए उस व्यक्ति का किसी भी मान्यताप्राप्त विश्विधालय से ग्रेडुएशन अथवा पोस्ट ग्रेडुएशन उर्तीर्ण होना अनिवार्य है इसके बाद आप इसकी भर्ती आने पर उसमे आवेदन कर सकते है और अपना एडीएम बनने का सपना पूरा कर सकते है.

ADM की चयन प्रक्रिया

अगर आपको एडीएम बनना है तो इसके लिए सबसे पहले तो आपको इसकी भर्ती आने पर इसमें आवेदन करना होता है इसके बाद आपको प्रारंभिक परीक्षा देनी होती है जब आप उसमे उत्तीर्ण हो जाते है तो आपको मुख्य परीक्षा में सम्मिलित किया जाता है उसके बाद आपको साक्षात्कार देना होगा व उसके बाद आपके दस्तावेज सत्यापन होते है व इन सब में उत्तीर्ण होने के बाद रैंक के आधार पर आपको इसमें पोस्ट दी जाती है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको ADM Full Form In Hindi के बारे में जानकारी दी है हमे उम्मीद है आपको एडीएम के बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी लगी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें और इससे जुड़ा किसी भी तरह का सवाल पूछना चाहे तो आप कमेंट आदि के द्वारा भी बता सकते है.

पिछला लेखPUBG KA BAAP | PUBG का बाप कौन है और क्यों कहा जाता है
अगला लेखIAS Full form in Hindi : आईएएस को हिंदी में क्या कहते है
मै रघुवीर चारण PMO Yojana का संस्थापक हूँ हमें लेख लिखना व किताब पढ़ना बेहद पसंद है है हम शिक्षा, कंप्यूटर, मोबाइल, सरकारी नौकरी, नई योजनाओं व इस प्रकार की अन्य कई जानकारी इस Website पर लिखते है

अपना सवाल यहाँ पूछे

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें