नमस्कार मित्रो आज हम आपको ACU के बारे में बेहद ही महत्वपूर्ण और उपयोगी जानकारी देने वाले है व इसके साथ ही हम आपको ACU Full Form क्या होता है और ACU किसे कहते है इसके बारे में भी जानकारी देंगे तकै आपको इसके बारे में पूरी जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से प्राप्त हो सके.

ACU Full Form

आप सभी जानते है की हम सब लोग प्रतिदिन न जाने कितने शब्दों को सुनते है या उनका इस्तमाल करते है पर बहुत से शब्द ऐसे भी होते है जिसके बारे में हमे कोई विशेष जानकारी नहीं होती ACU भी कुछ इसी प्रकार का शब्द है जिसके बारे में हमे कई बार सुनने को मिलता है पर कई लोगो को ACU Full Form क्या होता है या इससे सम्बंधित जरुरी जानकारी नहीं होती तो यह आर्टिकल इसीलिए लिखा गया है ताकि हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी बता सके.

ACU Full Form

ACU क्या होता है और इसके लाभ क्या होते है इसके बारे में बताने से पहले हम आपको ACU का पूरा नाम क्या होता है इसके बारे में बता रहे है.

ACU Full Form – Asian Currency Union

हिंदी में इसको आप एशियाई मुद्रा संघ भी कह सकते है यह एक प्रकार की भुगतान व्यवस्था होती है जिसकी स्थापना ईरान के शहर तेहरान में की गयी थी.

ACU क्या होता है

ACU की स्थापना  9 दिसंबर 1974 को ईरान के एक बेहद ही सुन्दर शहर तेहरान में की गयी थी व यह एक प्रकार की भुगतान व्यवस्था होती है जो की अन्य प्रतिभागियों को एक तरफा बहुपक्षीय आधार पर भाग  लेने वाले सभी बैंक को लेनदेन के लिए भुगतान देने की अनुमति प्रदान करती है.

ACU की स्थापना करने का मुख्य उद्देश्य केसमय, क्षेत्रीय सहयोग की सुरक्षा करना था व सदस्य देशो के साथ में योग्य लेनदेन के लिए बेहतरीन भुगतान व्यवस्था की सुविधा प्रदान करना था ताकि सभी देशो के लिए विदेशी मुद्रा भंडार और हस्तांतरण लागतों को कम करने में मदद मिल सके इसके साथ ही सदस्य देशो के साथ में व्यापारिक क्षेत्रों में भी बढ़ावा मिल सके.

दिसंबर 1970 में ACU की स्थापना करने का निर्णय लिया गया था व इसकी स्थापना का निर्णय काबुल में आयोजित किये गए एशियाई आर्थिक सहयोग के मंत्रिमंडल में किया गया था व इसके लिए सन् 1970 में पांच देश की बैंको (भारत, पाकिस्तान, नेपाल, ईरान व श्रीलंका ) ने  इस समझौते पर हस्ताक्षर किये थे व बादमे म्यांमार, बांग्लादेश, भूटान और मालद्वीप ने भी इस समझौते पर हस्ताक्षर किये इसके बाद ACU के सदस्यों की संख्या बढ़कर 9 हो गयी थी.

ACU की स्थापना के मुख्य लाभ

इसकी स्थापना कई मुख्य उद्देश्य से की गयी थी व इसके कई सारे अलग अलग प्रकार के लाभ भी है जो की निम्न प्रकार से है.

  • अपने सभी सदस्यों के बिच में उदारीकरण को बढ़ावा देना.
  • अपेक्षाकृत तेजी से सदस्य देशो के बिच में आयात निर्यात में विस्तार करना.
  • व्यापारिक तौर पर पैमाने की अर्थव्यवस्था के शोषण की अनुमति प्रदान करता है.
  • क्षेत्रीय आर्थिक सहयोग व मौद्रिक एवं वित्तीय सहयोग के लिए आधार प्रदान करना.

इसके आलावा भी इसके कई सारे मुख्य कार्य होते है व इसके कई अलग अलग लाभ होते है जिसके लिए ACU की स्थापना की गयी थी.

ACU के सदस्य

अगर आप ACU के बारे में जानना चाहते है तो इसके लिए आपको इसके सदस्यों के बारे में भी पता होना जरुरी है ताकि आपको पता चल सके की इसमें कौंन कौनसे देश सदस्य है.

  • नेपाल राष्ट्र बैंक
  • सेन्ट्रल बैंक ऑफ़ म्यांमार
  • रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया
  • स्टेट बैंक ऑफ़ पाकिस्तान
  • बंगलादेश बैंक
  • मालदीव मॉनेटरी अथॉरिटी
  • रॉयल मोनेटरी अथॉरिटी ऑफ़ भूटान
  • सेन्ट्रल बैंक ऑफ़ श्री लंका
  • सेंट्रल बैंक ऑफ़ द इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ़ ईरान

यह सभी ACU के सदस्य देश है व इसके सदस्य देशो में भारत भी शामिल है यह सभी सदस्य देशो के लिए बहुत ही उपयोगी शाबित हुआ है.

Calculation – इस आर्टिकल में हमने आपको ACU Full Form क्या होता है व ACU क्या होता है व इसके लाभ क्या क्या है इसके बारे में जानकारी देने का प्रयत्न किया है हमे उम्मीद है की आपको हमारी बताई जानकारी जरूर पसंद आयी होगी अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें व इससे जुड़ा किसी भी प्रकार का सवाल पूछना चाहते है तो आप हमे कमेटं के माध्यम से भी बता सकते है.

पिछला लेखजोड़ों के दर्द के बेहतरीन आयुर्वेदिक व आसान घरेलू उपाय
अगला लेखकिसी को कैसे भुलाये जिसको आप जान से ज्यादा चाहते है

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें